Asianet News Hindi

RBI ने जताया GDP में 10.5% ग्रोथ का अनुमान, रेपो रेट में बदलाव नहीं, सस्ते नहीं होंगे होम और ऑटो लोन

 रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने इस बार रेपो रेट और रिवर्स रेपो रेट में बदलाव ना करने का फैसला किया है। रेपो रेट 4% और रिवर्स रेपो रेट 3.35% बरकरार रहेगा। यानी होम लोन, ऑटो लोन या किसी भी तरह का लोन सस्ता नहीं होगा। 

RBI Governor Shaktikanta Das said the MPC decided to keep policy rates unchanged KPP
Author
New Delhi, First Published Feb 5, 2021, 1:41 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली. रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने इस बार रेपो रेट और रिवर्स रेपो रेट में बदलाव ना करने का फैसला किया है। रेपो रेट 4% और रिवर्स रेपो रेट 3.35% बरकरार रहेगा। यानी होम लोन, ऑटो लोन या किसी भी तरह का लोन सस्ता नहीं होगा। 

रिजर्व बैंक हर दो महीने में रेपो रेट और रिवर्स रेपो रेट को लेकर बैठक करती है। आरबीआई की टीम में 6 लोग होते हैं। इसके अलावा आरबीआई गवर्नर शक्तिकांत दास ने 2021-22 के लिए सकल घरेलू उत्पाद में 10.5% की ग्रोथ का अनुमान जताया है। 
 
आने वाले दिनों में महंगाई से मिल सकती है राहत
वहीं, ICICI सिक्योरिटीज की सीनियर इकोनॉमिस्ट अनघा देवधर ने  MPC के इस निर्णय का अच्छा बताया है। उन्होंने कहा, आने वाले दिनों में महंगाई से राहत मिल सकती है। ऐसे में RBI दरों में भी कमी आएगी।
 
एक साल में रेपो रेट में 115 बेसिस पॉइंट की कटौती
रेपो रेट RBI द्वारा बैंकों को दिए जाने वाले लोन पर ब्याज दर को कहते हैं। आरबीआई ने पिछले साल फरवरी से अब तक रेपो रेट में कुल 115 बेसिस पॉइंट की कटौती की है। लेकिन इस बार पहले से ही उम्मीद जताई गई थी कि  RBI रेपो रेट में कटौती नहीं करेगा। 
 
ब्याज दरों में हो सकता है इजाफा
रिजर्व बैंक ने दरों में कमी करने का फैसला रोक रखा है। दरअसल, बैंक अब महंगाई और ग्रोथ पर फोकस कर रहा है। सरकार भी ग्रोथ बढ़ाने पर ही फोकस कर रही है। ऐसे में बैंकों का मानना है कि ग्रोथ बढ़ने पर ब्याज दरों में कमी रुक जाएगी और आगे चलकर इसमें बढ़त हो सकती है। 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios