आने वाले दिनों में तीनों सेनाओं में होगी बंपर भर्ती, खाली हैं 1.35 लाख पद

| Dec 09 2022, 07:05 PM IST

आने वाले दिनों में तीनों सेनाओं में होगी बंपर भर्ती, खाली हैं 1.35 लाख पद

सार

इंडियन आर्मी में 1.18 लाख, इंडियन एयर फोर्स में 5,819  और इंडियन नेवी में 11,587 पद खाली हैं। आने वाले दिनों में तीनों सेनाओं में बंपर भर्ती हो सकती है। जवानों के स्तर पर सभी भर्तियां अग्निपथ योजना के तहत की जा रही हैं।
 

नई दिल्ली। आने वाले दिनों में तीनों सेनाओं (थल सेना, वायु सेना, नौसेना) में बंपर भर्ती हो सकती है। तीनों सेनाओं में 1.35 लाख पद खाली हैं। केंद्र सरकार की ओर से संसद में यह जानकारी दी गई है। शुक्रवार को लोकसभा में सरकार ने बताया कि तीनों सेवाएं 1.35 लाख कर्मियों की कमी से जूझ रही हैं।

रक्षा राज्य मंत्री अजय भट्ट ने एक सवाल के जवाब में बताया कि 1 जुलाई 2022 तक के डाटा के अनुसार थल सेना में सबसे अधिक (1.18 लाख) पद खाली हैं। नौसेना में 30 नवंबर तक के डाटा के अनुसार 11,587 पद खाली हैं। वायु सेना में 1 नवंबर 2022 तक के डाटा के अनुसार 5,819 पद खाली हैं। इनमें एयरमैन और गैर लड़ाकू पद शामिल हैं।

Subscribe to get breaking news alerts

अग्निपथ योजना के तहत हो रही भर्ती
अजय भट्ट ने कहा कि 2022 में भारतीय सेना में जेसीओ/ओआर के लिए 40000 रिक्तियों का विज्ञापन दिया गया है। नौसेना में अग्निवीरों के लिए 3,000 रिक्तियों का विज्ञापन दिया गया है। वायु सेना में अग्निवीर के रूप में 3,000 रिक्तियों का विज्ञापन दिया गया। जवानों के स्तर पर सभी भर्तियां अग्निपथ योजना के तहत की जा रही हैं।

बता दें कि हर साल तीनों सेवाओं में औसतन 60,000 रिक्तियां होती हैं। इनमें से लगभग 50,000 रिक्तियां सेना के लिए होती हैं। अजय भट्ट ने कहा कि कोरोना महामारी के चलते पिछले दो साल में भर्ती रैलियां आयोजित नहीं की गईं। इसके चलते सेना में 1,08,685 जवानों की कमी हो गई। कोरोना महामारी का असर कम होने के बाद सेना में भर्ती शुरू की गई है। आने वाले वर्षों में खाली पदों की संख्या कम हो जाएगी। 

यह भी पढ़ें- केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने बताया- 2020 में कैंसर के 13.92 लाख मामले आए, इसमें 12.8 प्रतिशत बढ़ोतरी का अनुमान

37 एयरफिल्ड को बनाया जा रहा आधुनिक
एक दूसरे सवाल के जवाब में अजय भट्ट ने कहा कि रक्षा मंत्रालय की विभिन्न सेवाओं और संगठनों के प्रबंधन के तहत लगभग 45,906 एकड़ रक्षा भूमि वर्तमान में खाली पड़ी है। पहले चरण के तहत एयरफील्ड्स के आधुनिकीकरण के लिए 1,215.35 करोड़ रुपए और दूसरे चरण के तहत 1,187.17 करोड़ रुपए का बजट दिया गया है। पहले चरण में वायुसेना के 30 एयरफिल्ड को आधुनिक बनाया गया है। दूसरे चरण में 37 एयरफिल्ड को आधुनिक बनाया जा रहा है।

यह भी पढ़ें- भाजपा सांसद ने राज्यसभा में पेश किया समान नागरिक संहिता पर गैर सरकारी विधेयक, विरोध में विपक्ष ने उठाई आवाज