Asianet News HindiAsianet News Hindi

कोहरे की वजह से लेट हुई तेजस तो नहीं मिलेगा मुआवजा, 1.62 लाख रुपए यात्रियों को दे चुका है IRCTC

देश की पहली प्राइवेट ट्रेन तेजस एक्सप्रेस अगर कोहरे की वजह से लेट होती है तो यात्रियों को मुआवजा नहीं मिलेगा। आईआरसीटीसी के मुताबिक, कोहरे यानी फॉग को दैवीय आपदा माना जाएगा।

tejas refund for delay scheme may not apply in cases of act of god
Author
Lucknow, First Published Oct 31, 2019, 2:18 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

लखनऊ (Uttar Pradesh). देश की पहली प्राइवेट ट्रेन तेजस एक्सप्रेस अगर कोहरे की वजह से लेट होती है तो यात्रियों को मुआवजा नहीं मिलेगा। आईआरसीटीसी के मुताबिक, कोहरे यानी फॉग को दैवीय आपदा माना जाएगा। एक्ट ऑफ गाॅड के तहत इस स्थिति में तेजस के लेट होने पर मुआवजा नहीं दिया जाएगा। बता दें, तेजस एक्सप्रेस के एक घंटे से ज्यादा लेट होने पर 100 रुपए और 2 घंटे से ज्यादा देर होने पर 250 रुपए तक का यात्रियों को रिफंड दिया जाता है। साथ ही मुफ्त में यात्रियों को 25 लाख रुपए तक का यात्रा बीमा भी दिए जाने की व्यवस्था है। 

यात्रियों को 1.62 लाख का मुआवजा दे चुका है IRCTC
आईआरसीटीसी ने बीते 19 अक्टूबर को लखनऊ से दिल्ली जाने वाली तेजस के तीन घंटे लेट होने पर यात्रियों को 1.62 लाख रुपए का मुआवजा दिया। यही नहीं, दिल्ली से वापसी में भी ट्रेन लेट हुई थी। ऐसा पहली बार हुआ जब भारत में यात्रियों को ट्रेन के लेट होने पर मुआवजा मिला। 

लखनऊ-नई दिल्ली के बीच चलती है यह ट्रेन
तेजस एक्सप्रेस के संचालन की पूरी जिम्मेदारी इंडियन रेलवे कैटरिंग एंड टूरिज्म कॉर्पोरेशन (आईआरसीटीसी) के पास है। यह ट्रेन लखनऊ-नई दिल्ली के बीच चलती है। आईआरसीटीसी के बताया था, तेजस लखनऊ से दिल्ली का सफर सिर्फ 6:15 घंटे में पूरा कर लेगी। यह लखनऊ से सुबह 6 बजकर 10 मिनट पर चलकर और दोपहर 12 बजकर 25 मिनट पर दिल्ली पहुंचेगी। इसका स्टॉपेज कानपुर और गाजियाबाद में है। 

ट्रेन में ये हैं सुविधाएं
तेजस एक्सप्रेस में एक्जीक्यूटिव और चेयर क्लास श्रेणी की बोगियां हैं। एक्जीक्यूटिव क्लास की एक बोगी में 52 और चेयर कार की बोगी में 78 सीटें लगाई गई है। विमान जैसी सुविधा देने के लिए सीटों के ऊपर रीडिंग लाइट और अटेंडेंट कॉल बटन दिया गया है। हर बोगी में तैनात ट्रेन होस्टेस बटन दबाने पर आपके पास आएंगी। सीटें रेक लाइनिंग हैं, यानी आप अपनी सुविधा के मुताबिक सीट गिरा सकते हैं। बोगी में दोनों तरफ सीसीटीवी कैमरा सुरक्षा के लिहाज़ से लगाये गए हैं। खिड़कियों के पर्दे आटोमैटिक हैं।बटन दबाकर आप खिड़कियों को उठा या गिरा सकते हैं।

कितना है किराया
एसी चेयर कार के लिए 1,125 रुपए और एक्जीक्यूटिव चेयर कार के लिए 2,310 रुपए की टिकट होगी। अधिकारियों के मुताबिक, दिल्ली से लखनऊ की यात्रा के लिए एसी चेयर कार का टिकट 1280 रुपए का होगा, जबकि एक्जीक्यूटिव चेयर कार का 2450 रुपए।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios