Business News

अडानी, अंबानी, टाटा नहीं कमाई में नंबर-1 बिहारी बिजनेसमैन की कंपनी

Image credits: Twitter

कमाई में नंबर-1 कंपनी

अनिल अग्रवाल (Anil Agarwal) के वेदांता ग्रुप (Vedanta Group) ने इस साल कमाई में रिलायंस इंडस्ट्रीज, महिंद्रा ग्रुप और टाटा ग्रुप तक को पीछे छोड़ दिया है।

Image credits: Facebook

वेदांता ग्रुप का मार्केट कैप कितना बढ़ा

शेयर बाजार के आंकड़ों के मुताबिक, चालू वित्त-वर्ष में ग्रुप की कंपनियों में वेदांता लिमिटेड और हिंदुस्तान जिंक लिमिटेड के कंबाइंड मार्केट कैप में 2.2 लाख करोड़ का इजाफा हुआ है।

Image credits: Getty

अडानी ग्रुप का मार्केट कैप

शेयर मार्केट आंकड़ों के अनुसार, वेदांता लिमिटेड और हिंदुस्तान जिंक के स्टॉक्स 52 वीक लो से दोगुने हुए हैं। इस दौरान अडानी ग्रुप और महिंद्रा ग्रुप के MCap 1.4 लाख करोड़ बढ़े हैं।

Image credits: Our own

टाटा-अंबानी ग्रुप का मार्केट कैप

Tata Group का मार्केट कैप 60,600 करोड़ रुपए से ज्यादा बढ़ा है, जबकि एशिया के सबसे अमीर मुकेश अंबानी के रिलायंस इंडस्ट्रीज का मार्केट कैप 20,656.14 करोड़ से ज्यादा गिर गया है।

Image credits: Our own

वेदांता ग्रुप का प्रदर्शन

वित्त वर्ष 2023-24 में 30% के एबिटा मार्जिन साथ 1,41,793 करोड़ का अपना दूसरा सबसे ज्यादा रेवेन्यू, 36,455 करोड़ का एबिटा हासिल किया है। कंपनी भविष्य में 10 अरब डॉलर आय पर फोकस है

Image credits: Freepik

अनिल अग्रवाल कौन हैं

मेटल किंग के नाम से फेसम कारोबारी अनिल अग्रवाल का जन्म बिहार की राजधानी पटना में एक मारवाड़ी फैमिली में हुआ था। 20 साल की उम्र में मुंबई आ गए और इतना बड़ा साम्राज्य खड़ा कर दिया

Image credits: Getty

कबाड़ के धंधें से शुरुआत

अनिल अग्रवाल ने 1970 में कबाड़ के धंधे से कारोबार की शुरुआत की। 1976 में शमशेर स्टर्लिंग केबल कंपनी खरीदा। बाद में 9 अलग-अलग बिजनेस शुरू कर 20-30 साल संर्घर्ष किया।

Image credits: Facebook

डिप्रेशन में रहे लेकिन हार नहीं मानी

कैंब्रिज में अनिल अग्रवाल ने बताया कि कई साल तक डिप्रेशन में रहने के बावजूद मेहनत करते रहे 1986 में भारत सरकार ने टेलीफोन केबल बनाने की मंजूरी दी और फिर यहां से कारोबार चल पड़ा।

Image credits: Getty

वेदांता ग्रुप क्या करती है

वेदांता रिसोर्सेज नेचुरल रिसोर्सेज कंपनी है। मिनरल्स, ऑयल एंड गैस निकालती, प्रॉसेस करती है। करीब 64,000 कर्मचारी-कॉन्ट्रैक्टर्स हैं। भारत, अफ्रीका, आयरलैंड,ऑस्ट्रेलिया में है।

Image credits: Getty