Madhya Pradesh

मर्जी से संबंध बनाकर किया बलात्कार का केस, MP हाईकोर्ट ने किया खारिज

Image credits: social media

बलात्कार का केस खारिज

एमपी हाईकोर्ट ने एक बलात्कार का केस खारिज कर दिया है। इस मामले में कोर्ट ने कहा कि दोनों ने स्वेच्छा से संबंध बनाए थे।

Image credits: social media

10 साल से रिलेशन

दरअसल एक युवक और युवती पिछले दस साल से लिव इन में रह रहे थे। इसके बाद युवती ने अपने पार्टनर के खिलाफ रेप केस दर्ज कराया था।

Image credits: social media

शादी से किया इंकार

युवती ने अपने पार्टनर के खिलाफ तब केस दर्ज कराया, जब युवक ने शादी करने से इंकार कर दिया।

Image credits: social media

कोर्ट ने कहा

इस मामले में कोर्ट ने कहा कि युवक युवती स्वेच्छा से 10 साल से रिलेशन में थे। इसलिये ये मामला कानून की प्रक्रिया का दुरूपयोग प्रतीत होता है।

Image credits: social media

कटनी की युवती

जिस युवती ने कोर्ट में केस दर्ज कराया, वह मध्यप्रदेश के कटनी जिले की रहनेवाली है। उसने नवंबर 2021 में केस दर्ज कराया था। जिसका फैसला अब आया है।

Image credits: social media

अपनी मर्जी से बनाए संबंध

दोनों ने 10 साल तक अपनी मर्जी से संबंध बनाए। फिर युवक ने शादी से इंकार कर दिया। इसका मतलब यह नहीं ​की उसके खिलाफ बलात्कार का केस किया जाए।

Image credits: social media

कानून का दुरूपयोग

जस्टिस ने कहा दोनों ने स्वेच्छा से संबंध बनाएं। इसे बलात्कार नहीं माना जा सकता है। बल्कि ये कानून की प्रक्रिया का दुरूपयोग है।

Image credits: social media