Asianet News HindiAsianet News Hindi

7 साल पहले इस शख्स ने की थी ऋषि सुनक के PM बनने की भविष्यवाणी, पीएम मोदी भी थे मौजूद

भारतवंशी ऋषि सुनक ब्रिटेन के 57वें प्रधानमंत्री बन गए हैं। हालांकि, सितंबर में वो लिज ट्रस से हार गए थे। करीब 45 दिन तक पीएम रहने वाली लिज ट्रस ने हाल ही में अपने पद से इस्तीफा दे दिया था, जिसके बाद सोमवार को सांसदों ने ऋषि सुनक का समर्थन किया और मंगलवार को वो ब्रिटेन के नए प्रधानमंत्री बन गए।

David Cameron had predicted Rishi Sunak to become PM, Narendra Modi was also present kpg
Author
First Published Oct 26, 2022, 11:27 AM IST

Rishi Sunak: भारतवंशी ऋषि सुनक ब्रिटेन के 57वें प्रधानमंत्री बन गए हैं। हालांकि, सितंबर में वो लिज ट्रस से हार गए थे। करीब 45 दिन तक पीएम रहने वाली लिज ट्रस ने हाल ही में अपने पद से इस्तीफा दे दिया था, जिसके बाद सोमवार को सांसदों ने ऋषि सुनक का समर्थन किया और मंगलवार को वो ब्रिटेन के नए प्रधानमंत्री बन गए। इससे पहले उनकी प्रतिद्वंदी पेनी मॉर्डान्‍ट ने अपना नाम वापस ले लिया था। बता दें कि सुनक के प्रधानमंत्री बनने की भविष्यवाणी 7 साल पहले ही हो गई थी। 

आखिर किसने की थी सुनक के PM बनने की भविष्यवाणी : 
ब्रिटेन के पूर्व पीएम डेविड कैमरून ने भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से ऋषि सुनक के प्रधानमंत्री बनने की बात कही थी। 2015 में पीएम मोदी ब्रिटेन के दौरे पर गए थे। यहां पर वेम्‍ब्‍ले एरिना में अप्रवासी भारतीयों के एक इवेंट में डेविड कैमरून ने पीएम मोदी से कहा था- आने वाले कुछ सालों में 10, डाउनिंग स्‍ट्रीट पर एक ब्रिटिश-भारतीय प्रधानमंत्री राज करेगा। हालांकि, तब कैमरून ने सुनक का नाम नहीं लिया था, लेकिन 2015 में ही ऋषि सुनक रिचमंड (यॉर्क्‍स) के नए सांसद चुने गए थे। 

कौन हैं ऋषि सुनक?
ऋषि सुनक का जन्म 12 मई 1980 को इंग्लैंड के साउथम्पैटन में हुआ था। हालांकि, उनके माता-पिता भारतीय मूल के हैं। ऋषि सुनक के पिता डॉक्टर हैं, जबकि मां मेडिकल चलाती थीं। ऋषि अपने तीन भाई बहनों में सबसे बड़े हैं। ऋषि सुनक के दादा-दादी का जन्म पंजाब प्रांत (ब्रिटिश इंडिया) में हुआ था। हालांकि, 60 के दशक में वो अपने बच्चों के साथ ब्रिटेन में आकर बस गए थे। ऋषि सुनक ने ब्रिटेन के विंचेस्टर कॉलेज से पॉलिटिकली साइंस में डिग्री ली। इसके बाद उन्होंने ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी के लिंकन कॉलेज से फिलोसॉफी और इकॉनोमिक्स की पढ़ाई की। वो स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी एमबीए कर चुके हैं। ग्रैजुएशन के बाद उन्होंने कुछ साल तक इन्वेस्टमेंट फर्म गोल्डमैन सैक्स के साथ भी काम किया है।

ऐसा रहा सुनक का पॉलिटिकल करियर : 
- 42 साल के ऋषि सुनक अक्टूबर, 2014 में पहली बार नॉर्थ यॉर्कशायर में रिचमंड (यार्क) से सांसद बने। 
- ब्रिटेन की प्रधानमंत्री रहीं थेरेसा मे की कैबिनेट में ऋषि ने जूनियर मिनिस्टर के तौर पर काम किया। कंजर्वेटिव पार्टी में उनके काम की तारीफ भी होने लगी। - 2017 के चुनाव में वो एक बार फिर बहुमत के साथ चुने गए। 2019 से 2020 तक वो ट्रेजरी के मुख्य सचिव भी रहे। 
- बता दें कि 2020 में ब्रिटेन की एक फर्म ने सर्वे करवाया था, जिसमें वहां की 60% जनता ने सुनक को पीएम पद के लिए अपना फेवरेट कैंडिडेट बताया था। 

सुनक के सामने होंगी ये चुनौतियां : 
प्रधानमंत्री बनते ही सुनक पर अब नई जिम्‍मेदारियां आ गई हैं। सुनक को 180 से भी ज्‍यादा सांसदों का समर्थन जरूर मिला है लेकिन अभी उनकी पार्टी में ही दरार है। 
- इसके अलावा सुनक को ब्रिटेन को आर्थिक संकट से भी निकालना है और देश में महंगाई को भी कंट्रोल करना है। ब्रिटेन इस समय आसमान छूती महंगाई से जूझ रहा है। 
- पिछले हफ्ते ही ब्रिटने के गृहमंत्री बने ग्रैंट शैप्‍स का सुनक के पीएम बनने को लेकर कहना है कि ये यादगार पल जरूरी है लेकिन साथ ही ये कोई ऐसा मौका भी नहीं है जिसे असाधारण समझा जाए। 

ये भी देखें : 

कभी दामाद के तौर नारायण मूर्ति को कबूल नहीं थे ऋषि सुनक, ऐसी रही है अक्षता के साथ उनकी लव स्टोरी

ऋषि सुनक ही नहीं, दुनियाभर में है इन 15 भारतवंशियों की धाक; कोई राष्ट्रपति तो कोई मल्टीनेशनल कंपनी का CEO

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios