Asianet News Hindi

बिहार चुनाव: नीतीश से चिराग की तनातनी, BJP तक पहुंची आंच; PM मोदी का चेहरा इस्तेमाल करने पर आपत्ति

एनडीए में जेडीयू, बीजेपी साथ-साथ हैं। लेकिन नीतीश-चिराग झगड़े में बीजेपी की चुप्पी के बाद विपक्ष सवाल करने लगा। एनडीए में बिखराव का मैसेज भी बाहर जा रहा है। जेडीयू की तरह बीजेपी को भी इसके नुकसान का डर है। 

Chirag Nitish effect on BJP objected to use PM narendra Modi name and photos
Author
Patna, First Published Oct 6, 2020, 3:31 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

पटना। एनडीए में विधानसभा चुनाव से पहले चिराग पासवान एपिसोड बीजेपी के गले की फांस बनता जा रहा है। मुख्यमंत्री और जेडीयू चीफ नीतीश कुमार से मतभेदों के बाद चिराग ने खुद को एनडीए से अलग कर लिया। उन्होंने अकेले उन सीटों पर चुनाव लड़ने का ऐलान किया जहां जेडीयू और हिंदुस्तानी अवामी मोर्चा के उम्मीदवार होंगे। चुनाव बाद बीजेपी संग सरकार बनाने का भी ऐलान किया। इतना ही नहीं लगातार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तारीफ भी करते रहे और उनके विजन पर बिहार की सेवा करने की घोषणा की। चिराग के रवैये से बीजेपी को परेशानी हो रही है। 

एनडीए में जेडीयू, बीजेपी साथ-साथ हैं। लेकिन नीतीश-चिराग झगड़े में बीजेपी की चुप्पी के बाद विपक्ष सवाल करने लगा। एनडीए में बिखराव का मैसेज भी बाहर जा रहा है। जेडीयू की तरह बीजेपी को भी इसके नुकसान का डर है। इस मसले पर जेडीयू ने बार-बार एलजेपी की ओर से प्रधानमंत्री के नाम का इस्तेमाल करने पर आपत्ति जताई है। पार्टी ने बीजेपी से सार्वजनिक रूप से चीजों को स्पष्ट करने को कहा है। 

प्रेस कॉन्फ्रेंस में बीजेपी देगी सफाई 
अब एलजेपी की ओर से पीएम मोदी के नाम के इस्तेमाल को पार्टी ने गंभीरता से लिया है। चिराग ने ट्वीट में लगातार पीएम मोदी का नाम और उनके काम की तारीफ कर रहे हैं। पिछले दिनों एलजेपी के पक्ष में एक अज्ञात पोस्टर में भी नारा दिखा- पीएम मोदी से बैर नहीं, नीतीश तेरी खैर नहीं। जेडीयू ने ऐसे नारों को भी गंभीरता से लिया है। हो सकता है कि एनडीए की संयुक्त प्रेस कॉन्फ्रेंस में पार्टी यह साफ करे कि बिहार में बीजेपी की सहयोगी जेडीयू है और एलजेपी के साथ सिर्फ दिल्ली में गठबंधन है। 

(पीएम मोदी के साथ रामविलास पासवान)

एनडीए में ऐसा है सीटों का बंटवारा 
बिहार एनडीए में जेडीयू, बीजेपी, हिन्दुस्तानी अवामी मोर्चा शामिल है। मुकेश साहनी के आने की भी बातें सामने आ रही हैं। चुनाव में जेडीयू 122 सीटों पर जबकि बीजेपी 121 सीटों पर मैदान में होगी। जेडीयू कोटे से 7 सीटें हम को मिलेंगी। जबकि बीजेपी मुकेश साहनी की वीआईपी को अहने हिस्से से सीटें देगी। बिहार में विधानसभा की कुल 243 सीटें हैं। इस बार तीन चरण में चुनाव कराए जा रहे हैं। पहले चरण की नामांकन प्रक्रिया 1 अक्तूबर से ही शुरू है। 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios