Asianet News Hindi

मोदी ने कहा- जयश्रीराम भारत माता की जय बोलने में दिक्कत थी, जंगलराज के साथी अब एकजुट होकर वोट मांग रहे

पीएम ने कहा कि बिहार की जनता मजबूत राष्ट्र और बिहार के निर्माण की दिशा में काम के लिए नीतीश के नेतृत्व में इस बार रिकॉर्डतोड़ बहुमत देगी। आपकी मेहनत कभी बेकार नहीं जाएगी। बिहार की जनता नीतीश जी को दोबारा मुख्यमंत्री बनाएगी।

PM Narendra Modi public meeting in Saharsa live news photos and Videos
Author
Saharsa, First Published Nov 3, 2020, 12:42 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

सहरसा/पटना। पीएम नरेंद्र मोदी ने आज बिहार के तीसरे चुनावी दौरे सहरसा में विपक्ष पर निजी फ़ायदों के लिए गठबंधन बनाने का आरोप लगाया। पीएम ने कहा कि बिहार की जनता मजबूत राष्ट्र और बिहार के निर्माण की दिशा में काम के लिए नीतीश के नेतृत्व में इस बार रिकॉर्डतोड़ बहुमत देगी। आपकी मेहनत कभी बेकार नहीं जाएगी। बिहार की जनता नीतीश जी को दोबारा मुख्यमंत्री बनाएगी। इस बार जीत के सभी पुराने रिकॉर्ड तोड़ने हैं। एनडीए के पक्ष में पड़ा हर एक वोट इस दशक को बिहार के आधुनिक विकास नाम करेगा।  

#1. महागठबंधन से बिहार को किया सतर्क  
पीएम मोदी ने कहा- "इस बार कोसी महासेतु मुझे आपको सौंपने का सौभाग्य मिला। इन विकास के प्रयासों के बीच आपको और भी ज्यादा सतर्क रहना है। उन लोगों से जिनका इतिहास बिहार में जंगलराज, सिर्फ अपने परिवार के लिए है। जिन्हें बिहार के मान-सम्मान से कोई लेना देना नहीं हैं। बिहार की अनेकों वीर माताएं राष्ट्ररक्षा के लिए बेटों को समर्पित करती हैं। बिहार के शूरवीर देश की रक्षा करते हैं।" 

#2. विपक्ष को भारत माता की जय बोलने में दिक्कत
पीएम मोदी ने कहा- "लेकिन जंगलराज बनाने वालों के साथी और उनके करीबी चाहते हैं कि आप भारत माता की जय के नारे ना लगाए। ऐसे लोग भी हमारे सामने हैं जिनको भारत माता की जय बोलने से बुखार आ जाता है। वो चाहते हैं आप जय श्रीराम भी ना बोले। बिहार के चुनाव प्रचार में मां भारती का जयकारा करना उनको रास नहीं आ रहा है। कभी एक टोली कहती है भारत माता की जय के नारे मत लगाओ। कभी दूसरी टोली को सिरदर्द होने लगता है। ये अब एकजुट होकर बिहार के लोगों से वोट मांगने आए हैं। उन्हें भारत माता से दिक्कत है तो बिहार को इन लोगों से दिक्कत है।"

#3. बिहार देश की आत्मनिर्भरता का केंद्र 
पीएम ने ने कहा- "रेलवे व्यवस्था में बिहार देश की आत्मनिर्भरता का केंद्र है। बिहार की बदौलत शक्तिशाली रेल इंजन बनाने वालों में भारत नाम दर्ज करा चुका है। मधेपुरा की फैक्ट्री ने तेज चलने वाली मालगाड़ी के लिए भी इस कोरोना काल में बहुत काम किया है। पूरी दुनिया की कंपनियां मेक इन इंडिया के लिए भारत आ रही हैं इसका लाभ भी बिहार को मिलने वाला है। कनेक्टिविटी से बिहार के विकास को और गति मिलने वाली है।"   

#4. व्होकल फॉर लोकल का नारा 
मोदी ने कहा- "आने वाले दिनों में धनतेरस, दिवाली और छठी मैया की पूजा है। मेरा बिहार समेत 130 करोड़ देशवासियों से आग्रह है जितना संभव हो लोकल चीजें खरीदें। जब आप ऐसा करेंगे तो दिवाली आपके घर में ही नहीं किसी गरीब के घर में भी होगी। ऐसा होगा तो आपका संतोष चार गुना बढ़ जाएगा। जब किसी समाज की मूल जरूरतें पूरी होती हैं तब वो सपनों को पूरा करने में जुट जाती है। ये दशक इन्हीं सपनों को पूरा करने का रास्ता है।" मोदी ने कहा- "आपने देखा है सुना है। मैं जब भी आता हूं मखाने की बात जरूर करता हूं। ये बात पहले से भी पता थी, लेकिन हम गर्व से अपनी चीजों का बखान नहीं करेंगे तो कौन करेगा?"

#5. कई गुना बढ़ गई खादी की बिक्री 
मोदी ने कहा- "जब स्थानीय चीजों को आगे बढ़ाते हैं तो दुनिया को भी पता चलता है। तब वो चीज देखते ही देखते ग्लोबल बन जाता है। खादी का उदाहरण दे रहा हूं जो वही पुरानी है। लेकिन बीते कुछ सालों से खादी का गौरव बुनकरों का गौरव अब और ज्यादा हो गया है। पहले के मुक़ाबले कई गुना ज्यादा खादी अब बिक रही है। 2014 से पहले 25 साल में जीतने रुपये की खादी हमारे देश में बिकी थी उससे ज्यादा की खादी पिछले पांच साल में बिक गई है। बताइए कितने गरीब लोगों का फायदा हुआ। दिल्ली में एक खादी का स्टोर है पिछले कुछ दिन में वहां एक करोड़ के कपड़े बिके हैं।"  

#6. व्होकल फॉर लोकल को रोज़मर्रा का हिस्सा बनाएं 
मोदी ने कहा- "आज देश व्होकल फॉर लोकल के मंत्र को अपने रोज़मर्रा के जीवन का हिस्सा बना रहा है। अब लोग जब बाहर जाते हैं ऑनलाइन सामान खरीदते हैं तो सबसे पहले देखते हैं ये सामान भारत का बना है कि नहीं है। भारत में कहा बना है कहां पैदा हुआ है। स्थानीय लोगों का सामान जब बिकता है दूर-दूर तक जाता है तब आपको पता है कि इसका फायादा किसको मिलता है। इससे किसी न किसी गरीब का फायदा होता है।"   

#7. जूट उद्योग को बढ़ावा, किसानों का फायदा 
मोदी ने कहा- "आज देश सिंगल यूज प्लास्टिक से मुक्ति की ओर कदम बढ़ा रहा है। इसका लाभ जूट किसानों और उद्योगों को हो रहा है। सरकार ने फैसला लिया है कि अनाज शत प्रतिशत जूट के बोरे में भरे जाएंगे। चीनी की पैकेजिंग भी जूट के बोरे में होगी। इससे जूट किसानों और श्रमिकों को बहुत लाभ होगा।" 

#8. पशुधन को बचाने का अभियान 
मोदी ने कहा- "पशुपालकों की बड़ी दिक्कत जानवरों की बीमारियां रही हैं। इसे कम करने के लिए देश में बहुत बड़ा अभियान चलाया जा रहा है। ये अभियान भी बिहार के किसानों का पशुधन बचाने में बहुत मदद करेगा। बिहार के हर जिले में एक न एक ऐसा उत्पाद है जो देश दुनिया में धूम मचा सकता है। इसे बढ़ाने के लिए उद्योग लगाने की प्रक्रिया शुरू हो चुकी है। 30 जिलों में उत्पादों की पहचान हो चुकी है। मखाना, आम, केल अनन्नास आदि उत्पादों की प्रेसेसिंग मार्केटिंग को बढ़ाने के लिए खांका खींचा जा रहा है। उद्यम लगेंगे तो यहीं पर रोजगार के अवसर बढ़ेंगे।" 

#9. अब छोटे किसान पशुपालक, मछली पालकों को भी कर्ज 
मोदी ने कहा- "छोटे किसान, पशुपालक, मछली पालन करने वालों को भी बहुत मुश्किल से कर्ज मिलता था। बाहर से लेते थे। उनके संकट को दूर करने के लिए छोटे किसान, पशुपालक, मछली पालकों को किसान क्रेडिट कार्ड की सुविधा से जोड़ा जा रहा है। एक-एक के घर सुविधाएं पहुंचाने के लिए दिन रात काम किया जा रहा है। मछली पालन से जुड़े ढांचा को आधुनिक बनाने के लिए सरकार 20 हजार करोड़ खर्च करने जा रही है। आजादी के बाद इतना रुपया कभी नहीं दिया गया।" 

#10. मुद्रा योजना में एक लाख करोड़ दिए 
मोदी ने कहा- "मुद्रा योजना में बिहार को एक लाख करोड़ रुपये दिए गए। वंचित समाज के लिए बैंकों का जो दरवाजा खुला है उससे आर्थिक मदद ही नहीं हुई है बल्कि एक नया आत्मविश्वास भी मिला है। कमजोर वर्ग की जरूरत को देखते हुए एनडीए सरकार में काम हुआ है। रेहड़ी वालों की बहुत बड़ी दिक्कत ये रही इनके काम को पहचान नहीं मिली। लेकिन पहली बार वो रजिस्टर हो रहे हैं और आसान तरीके से कर्ज मिल रहा है। मुद्रा योजना से भी महिला उद्यमियों सहित छोटे कारोबारी को रोजगार स्वरोजगार की नई ताकत मिली है। मुद्रा योजना में बिहार में करीब 2.5 करोड़ कर्ज बिना गारंटी आवंटित किए गए हैं। 50 लाख साथी जिन्होंने पहली बार इस योजना में कर्ज लिया है और कारोबार बढ़ा रहे हैं।" 

#11. जनधन से बदली गरीबों कीजिन्दगी 
मोदी ने कहा- "बीते सालों में एनडीए की डबल इंजन सरकार ने जो काम किया वो अभूतपूर्व है। आपका बैंकों तक पहुंचना कितना मुश्किल था। पैसों के अभाव में गरीब युवा महिलाएं छोटा मोटा काम नहीं कर पाते थे। इसके लिए अनेक कदम उठाए गए। जनधन योजना में करीब 5 करोड़ खाते खुलवाए गए। इसमें से आधे से ज्यादा बैंक खाते महिलाओं माताओं बेटियों के हैं। इसी योजना के कारण कोरोना के संकट काल में लाखों बहनों के खाते में सीधे सैकड़ों करोड़ जमा हो पाए हैं। इसकी वजह से कोरोना में लाखों किसान परिवारों के बैंक खातों में सीधी मदद पहुंच पाई है।" 

#12. 8 महीने से गरीबों को मुफ्त राशन  
मोदी ने कहा- "पूरी दुनिया ये देखकर हैरान है कि भारत कैसे अमेरिका और यूरोप की कुल आबादी के बराबर को मुफ्त में राशन का इंतजाम कर रहा है। कोई गरीब भूखा न सोए कोरोना काल में सरकार की बहुत बड़ी प्राथमिकता रही है। बीते 8 महीने में ये काम पूरी निष्ठा से चल रहा है। इसके लिए बिहार के किसानों को मैं इस धरती से नमन कर रहा हूं। नीतीश जी के नेतृत्व में एनडीए सरकार ने आत्मनिर्भर बिहार की मजबूत नींव रखी है। मूलभूत सुविधाएं आज गांव गांव तक पहुंच रही हैं। सड़कें अब देर रात आबाद रहती हैं और बाज़ारों में चहल पहल रहती है। बिहार अब असुरक्षा और अराजकता के अंधेर को पीछे छोड़ चुका है।" 

#13. आत्मनिर्भर बिहार का मतलब उद्योगों का विकास 
मोदी ने कहा- "आत्मनिर्भर बिहार का मतलब नए मौकों और उद्योगों का विकास है। सैकड़ों नए किसान उत्पादक संघों का निर्माण, स्थानीय व्यापारियों का विकास, कुटीर उद्योगों का विकास, स्थानीय भाषा में मेडिकल इंजीनियरिंग जैसी तकनीकी शिक्षा की पढ़ाई। आत्मनिर्भर बिहार यानी आईटी पार्ट का निर्माण, हर गांव में इन्टरनेट। आत्मनिर्भर बिहार यानी छठी कक्षा के ऊपर सभी को कंप्यूटर की शिक्षा। एनडीए की सरकार में बिहार इन संकल्पों को पूरा कर तेज गति से आगे बढ़ सकता है। चुनौती कितनी बड़ी ही क्यों न हो ये बिहार है हमेशा सफल होकर दिखाया है।" 

#14. नए बिहार के लिए युवाओं का वोट जरूरी 
मोदी ने कहा- "युवा साथियों आपका एक वोट आपके वोट की ताकत कभी कम मत आंकना। जिस प्रकार से श्रीकृष्ण उंगली पर गोवर्धन को उठाए थे, जिस प्रकार से ग्वालों ने समर्थन किया था वैसे ही आप मतदान करने वाले हैं। आपके एक-एक वोट की ताकत है जो बिहार के उज्ज्वल भविष्य की गारंटी है। चार दशक पहले जब आपके पुरखे युवा थे तब जेपी आंदोलन से जुड़कर उन्होंने  देश की राजनीति को बदल दिया था। भ्रष्ट सरकार को उखाड़ने में उन्होंने काम किया। उसके बाद 2005 में आपके माता आपके पिता के हाथ ज़िम्मेदारी आई। उसी प्रकार आपके माता-पिता ने भी 2005 में 15 साल के कुशासन को बदलने में ताकत लगा दी। मुश्किल लड़ाई में बिहार को बाहर निकाला। इस दशक में आत्मनिर्भर आधुनिक बिहार बनाने के लिए वो काम आपको करना है, एनडीए के पक्ष में वोट देना है।" 

#15. जंगलराज में गरीबों के पास नहीं था मतदान का अधिकार 
मोदी ने कहा- "गरीब गरीब की बातें करते रहना, इन लोगों (विपक्ष) ने बिहार के गरीब को ही चुनाव से दूर कर दिया। ये हाल था बिहार का कि बिहार के गरीब को अपनी मर्जी की सरकार बनाने का आधिकार ही नहीं था। जंगलराज के उस दौर में मतदान के दिन गरीबों को घर से नहीं निकलने दिया जाता था। बूथ लूट लिए जाते थे। ऐसे लोग बिहार को पुराने दौर में ले जाना चाहते हैं। लेकिन वो भूल रहे हैं अब बिहार के लोग उनके बहकावे में आने वाले नाही हैं और ना ही उनके सामने थर थर कांपने वाले हैं।" 

#16. बिहार की मिट्टी सामर्थ्यवान 
मोदी ने कहा- "इतिहास गवाह है कि बिहार में सामर्थ्य की कोई कमी नहीं है। बिहार का सामर्थ्य हर प्रतिभावान नौजवान, ऊर्जावान बहन बेटियों, बिहार की क्रांतिकारी मिट्टी से, गरीबों वंचितों दलितों पिछड़ों की संकल्प शक्ति से बनता है। जंगलराज ने बिहार के सामर्थ्य के साथ जो अन्याय किया विश्वासघात किया वो एक-एक नागरिक अच्छी तरह से जानता है। गौरवशाली बिहार की नींव रखी जा चुकी है। मजबूत नींव पर भव्य और आधुनिक बिहार के निर्माण का वक्त है। ये संकल्प तभी पूरा होगा जब केंद्र और राज्य में एनडीए सरकार होगी और उसे डबल इंजन की ताकत मिलेगी। बिहार के लोग आत्मनिर्भर भारत और बिहार के लिए प्रतिबद्ध हैं।" 

#17. बिहार में लोगों का मूड स्पष्ट 
मोदी ने कहा- "बीते दिनों में बिहार के करीब करीब हर क्षेत्र में गया। जनभावनाओं को देखा और समझा है। अभी दूसरे फेज के मतदान के जो ट्रेंड मिल रहे हैं उसमें भी तस्वीर एकदम साफ है। बिहार का जनादेश स्पष्ट है। बिहार में एक बार फिर नीतीश बाबू के नेतृत्व में एनडीए की सरकार बनने जा रही है।" 
अररिया में पीएम मोदी ने 19 बड़ी बातें क्या कही जानने के लिए क्लिक करें 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios