Asianet News HindiAsianet News Hindi

पेट्रोल-डीजल के बाद सब्जियों ने बिगाड़ा घर का बजट, कुकिंग ऑयल के दामों ने दी कुछ राहत

त्योहारी सीजन में महंगाई की मार ने आम आदमी की चिताएं बढ़ा दी हैं। पेट्रोल-डीजल के रेट बढ़ने से सब्जियों के भाव भी बढ़ गए हैं।  सरकार ने इम्पोर्ट ड्यूटी घटाई है, इससे खाद्य तेल की कीमतों में जरूर गिरावट देखने को मिली है। 

After petrol and diesel vegetables spoiled the budget of the house, Cooking oil prices gave some relief
Author
Bhopal, First Published Oct 30, 2021, 8:52 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

बिजनेस  डेस्क। देश में लगातार महंगाई बढ़ती जा रही है। डीजल-पेट्रोल के दाम बढ़ने से दैनिक उपभोग समत सब्जियों के दाम आसमान छू रहे हैं। टमाटर (Tomato), प्याज (onion) के दामों में बेतहाशा वृद्धि दर्ज की गई है। हालांकि सरकार ने दाम कम करने के लिए कुछ प्रयास किए हैं, जिसके बाद टमाटर की कीमतें नीचे आईं हैं। बीते दिनों टमाटर की कीमतें  100 रुपये पार कर गईं थी।   टमाटर अब  40 से 45 रुपये प्रति किलो बिक रहा है। 

सब्जियां हुई महंगी 
वहीं राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली की मंडियों में प्याज  60 रुपए किलो बिक रही है। वहीं, रोजमर्रा की उपयोग आने वाली सब्जियों के दाम
50 रुपए से कम नहीं हैं। गोभी, भींडी, शिमला मिर्च,  लौकी, 50 रुपए किलो से अधिक के भाव पर बिक रहीं हैं। दिल्ली में टमाटर भी 50 रुपये प्रति किलोग्राम बिक रहा है। आलू की कीमतों में भी उछाल देखने को मिला है। जो आलू 20 से 25 रुपए किलो था, उसके दाम अब 40 रुपए तक पहुंच गए हैं। वहीं कई स्थानों पर हुई बेमौसम बारिश ने सब्जी फसलों को खासा नुकसान  पहुंचाया है। आम तौर पर सस्ती मिलने वाली भाजी के रेट भी लगातार बढ़  रहे हैं। 

पेट्रोल- डीजल के दाम बढ़ने से हुई आफत
सब्जियों के दाम बढ़ने का सबसे बड़ी वजह पेट्रोल- डीजल के दाम बढ़ना बताए जा रहे हैं। साल 2021 के अक्टूबर महीने के कुल 30 दिनों में पेट्रोल-डीजल के दाम 23 बार बढ़ाए गए हैं। इस महीने में ही राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में पेट्रोल 7.35 और डीजल 7.85 रुपए महंगा हो गया है। साल 2021 की बात करें तो  1 जनवरी को पेट्रोल 83.97 और डीजल 74.12 रुपए प्रति लीटर था। अब ये 108.99 और 97.74 रुपए प्रति लीटर पर पहुंच गया है। बीते 10 महीने में पेट्रोल 25.02 और डीजल 23.62 रुपए तक महंगा हो गया है। पेट्रोल-डीजल के दाम बढ़ने से भाड़ा बढ़ गया है। जिससे सब्जियां और फल  भी मंहगे हो गए हैं।  

खाद्य तेल की कीमतों में गिरावट 
दिवाली से पहले खाद्य तेलों की कीमतों में गिरावट आई है। केंद्र सरकार के आयात शुल्क घटाने के बाद सोयाबीन सहित कई अन्य कुकिंग ऑयल की होलसेल कीमतों में 9 से 12 रुपये तक की कमी आई है। सरसों के तेल की कीमतों में कोई बदलाव नहीं आया है। दिवाली के त्योहार पर तेल सस्ता जरुर हुआ है पर बीते साल के मुकाबले इस साल कुकिंग ऑयल महंगा है।

ये भी पढ़ें-
DIWALI 2021: चीन का निकलेगा दीवाला, ग्राहक नहीं खरीद रहे चायना प्रोडक्ट ! 50,000 करोड़ रुपये का लगेगा झटका
शेयर मार्केट में हाहाकार के बाद सरकार ने IRCTC को दी राहत, रेलवे को नहीं देनी होगी कन्वीनिएंस फीस
Stock Market : गिरकर संभला सेंसेक्स, निवेशकों को दो दिन में करीब 6.5 लाख करोड़ रुपए का नुकसान

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios