Asianet News Hindi

Budget 2021: पेट्रोल पर 2.5 और डीजल पर 4 रु. लगा एग्री सेस; जानें आम आदमी पर क्यों नहीं पड़ेगा असर

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (Finance Minister Nirmala Sitharaman) ने 2021-22 का आम बजट पेश किया। उन्होंने पेट्रोल पर प्रति लीटर 2.5 रुपए और डीजल पर 4 रुपए प्रति लीटर सेस लगाने की घोषणा की। हालांकि, उन्होंने कहा है कि इसका आम आदमी पर ज्यादा असर नहीं पड़ेगा। 

Budget 2021 government imposed cess on diesel and petrol MJA
Author
New Delhi, First Published Feb 1, 2021, 2:23 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

बिजनेस डेस्क। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (Finance Minister Nirmala Sitharaman) ने आज 2021-22 का आम बजट पेश किया। उन्होंने पेट्रोल पर प्रति लीटर 2.5 रुपए और डीजल पर 4 रुपए प्रति लीटर सेस लगाने की घोषणा की। हालांकि, उन्होंने कहा है कि इसका आम आदमी पर ज्यादा असर नहीं पड़ेगा। बता दें कि पेट्रोल और डीजल के दाम पहले ही काफी ज्यादा बढ़े हुए हैं। सेस लगाए जाने से अब उपभोक्ताओं को ज्यादा कीमत चुकानी पड़ेगी। फिलहाल, मुंबई में पेट्रोल 92.80 रुपए प्रति लीटर मिल रहा है, जबकि डीजल का भाव 83.30 रुपए प्रति लीटर है।

इन्फ्रास्ट्रक्चर एंड डेवलपमेंट के नाम पर सेस
डीजल और पेट्रोल पर यह सेस एग्रीकल्चर इन्फ्रास्ट्रक्चर और डेवलपमेंट के नाम पर लगाने का प्रस्ताव किया गया है। इसे एग्रीकल्चर इन्फ्रास्ट्रक्चर एंड डेवलपमेंट सेस (AIDC) कहा गया है। इस सेस के लगाने से महंगाई बढ़ सकती है। डीजल की कीमत बढ़ने से ट्रकों का भाड़ा बढ़ जाएगा और इसका असर हर चीज के भाव पर पड़ेगा। वहीं, वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा है कि इस सेस को लगाते हुए यह ध्यान रखा गया है कि उपभोक्ता पर इसका कोई अतिरिक्त बोझ नहीं पड़े। वित्त मंत्री ने कहा कि इस सेस का बोझ आम उपभोक्ताओं पर इसलिए नहीं पड़ेगा, क्योंकि पेट्रोल और डीजल पर से बेसिक कस्टम ड्यूटी को कम करने का प्रस्ताव रखा गया है।. 

एक्साइज ड्यूटी कम होने से नहीं बढ़ेगी महंगाई
वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि बेसिक एक्साइज ड्यूटी (BED) और स्पेशल एडिशनल एक्साइज ड्यूटी (SAED) के रेट इतने कम किए गए हैं कि आम उपभोक्ताओं को पेट्रोल और डीजल पर सेस लगाने से किसी तरह की महंगाई का सामना नहीं करना पड़ेगा। अनब्रांडेड पेट्रोल और डीजल पर बेसिक एक्साइज ड्यूटी 1.4 रुपए और 1.8 रुपए प्रति लीटर की दर से लगाई गई है। वहीं, अनब्रांडेड पेट्रोल और डीजल के लिए एडिशनल एक्साइज ड्यूटी (SAED) क्रमश:11 रुपए प्रति लीटर और 8 रुपए प्रति लीटर होगी।

खाली खजाना भरने की कवायद
कहा जा रहा है कि कोरोना महामारी की वजह से जो आर्थिक मंदी आई है, उसमें सरकार का खजाना खाली हो चुका है और उसकी कमाई बुरी तरह प्रभावित हुई है। ऐसे में, सरकार के लिए कहीं से भी फंड जुटाना जरूरी हो गया है। यही वजह है कि डीजल और पेट्रोल पर सेस लगाया गया है। इससे सरकार की कमाई बढ़ेगी। बता दें कि जनवरी में पेट्रोल और डीजल की कीमतों में क्रमश: 2.59 रुपए और 2.61 रुपए प्रति लीटर की बढ़ोत्तरी हुई है।


 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios