Asianet News Hindi

जियो टावर तोड़फोड़ पर रिलायंस ने कहा - कॉन्ट्रैक्ट फार्मिंग से कंपनी का लेना-देना नहीं, हाईकोर्ट में दी अर्जी

देश में कृषि कानूनों के खिलाफ चल रहे किसान आंदोलन के दौरान रिलायंस जियो (Reliance Jio) के टावरों के तोड़फोड़ के मामले सामने आए हैं। इसे लेकर कंपनी का कहना है कि उसका कॉन्ट्रैक्ट फार्मिंग से कोई लेना-देना नहीं है। रिलायंस ने इसे लेकर पंजाब और हरियाणा हाईकोर्ट में पिटीशन भी दाखिल किया है।

Reliance Jio Tower damage case in Punjab by farmers, Jio files petition in High Court MJA
Author
New Delhi, First Published Jan 4, 2021, 11:51 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

बिजनेस डेस्क। देश में कृषि कानूनों के खिलाफ चल रहे किसान आंदोलन के दौरान रिलायंस जियो (Reliance Jio) के टावरों के तोड़फोड़ के मामले सामने आए हैं। इसे लेकर कंपनी का कहना है कि उसका कॉन्ट्रैक्ट फार्मिंग से कोई लेना-देना नहीं है। रिलायंस ने इसे लेकर पंजाब और हरियाणा हाईकोर्ट में पिटीशन भी दाखिल किया है। बता दें कि पंजाब में रिलायंस जियो के 1500 से ज्यादा टावर तोड़े जा चुके हैं। इसके साथ ही रिलायंस और अडानी के प्रोडक्ट्स का बहिष्कार भी किया जा रहा है। 

क्या कहा कंपनी ने
रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड (RIL), रिलायंस रिटेल लिमिटेड (RRL), रिलायंस जियो इंफोकॉम लिमिटेड (RJIL) और रिलायंस से जुड़ी दूसरी कंपनियों ने कहा है कि उनका कॉरपोरेट फार्मिग से कोई लेना-देना नहीं है और भविष्य में भी इस क्षेत्र में उनके उतरने की कोई योजना नहीं है। रिलायंस से जुड़ी कंपनियों का कहना है कि कॉरपोरेट या कॉन्ट्रैक्ट फार्मिंग के लिए कंपनी ने पंजाब, हरियाणा या देश के किसी भी हिस्से में जमीन नहीं खरीदी है।

रिटेल और दूसरे कारोबार से जुड़ी है रिलायंस
कंपनी ने कहा है कि रिलायंस ग्रुप की कई कंपनियां हैं, जो टेलिकॉम, रिटेल और दूसरे व्यवसाय से जुड़ी हैं। रिलायंस रिटेल कई ब्रांडों के खाद्य, अनाज, फल, सब्जियां और दैनिक जरूरतों की चीजें बेचती है। यह कंपनी कपड़े, दवाई और इलेक्ट्रॉनिक प्रोडक्ट्स का भी कारोबार करती है। रिलायंस ने कहा कि कंपनी कभी भी किसानों से सीधी खरीद नहीं करती है और इसने कभी भी किसानों से किसी तरह का कोई अनुचित लाभ नहीं लिया है। रिलायंस ने कहा कि वह किसान अन्नदाता हैं और वह उनका सम्मान करती है। रिलायंस किसानों की खुशहाली और समृद्धि के लिए प्रतिबद्ध है।

प्रतिद्वंद्वी कंपनियों पर लगाए आरोप
रिलायंस की ओर से जारी बयान में कहा गया कि पंजाब और हरियाणा में कंपनी के टावरों में तोड़फोड़ के पीछे प्रतिद्वंद्वी कंपनियों का हाथ है। कंपनी ने दूरसंचार विभाग में इसकी शिकायत की है। हालांकि, रिलायंस ने किसी प्रतिद्वंद्वी कंपनी का नाम नहीं लिया। इस शिकायत के बाद एयरटेल (Airtel) और वोडाफोन आइडिया (Vi) ने इसे पूरी तरह निराधार बताया है। इन कंपनियों ने भी इस संबंध में दूरसंचार विभाग को चिट्टी लिखी है।

दोनों राज्यों में रिलायंस जियो की स्थिति
रिलायंस जियो ने बताया कि देशभर में उसके कुल 40 करोड़ कस्टमर हैं। इसमें 31 अक्टूबर, 2020 तक पंजाब में जियो के कुल 1 करोड़ 40 लाख कस्टमर और हरियाणा में 94 लाख ग्राहक हैं। पंजाब में करीब 9000 मोबाइल नेटवर्क रिलायंस जियो के हैं।  

 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios