साधारण रोटी की छोड़ इस बार सर्दियों में खाए इस आटे की रोटी, वजन कम करने से लेकर डायबिटीज रहेगी कंट्रोल

| Dec 01 2022, 03:45 PM IST

साधारण रोटी की छोड़ इस बार सर्दियों में खाए इस आटे की रोटी, वजन कम करने से लेकर डायबिटीज रहेगी कंट्रोल
साधारण रोटी की छोड़ इस बार सर्दियों में खाए इस आटे की रोटी, वजन कम करने से लेकर डायबिटीज रहेगी कंट्रोल
Share this Article
  • FB
  • TW
  • Linkdin
  • Email

सार

रिसर्च में ये खुलासा हो चुका है कि रागी को अपनी डाइट में शामिल करने से डायबिटीज से लेकर वेट लॉस तक किया जा सकता है, क्योंकि यह फाइबर मिनरल्स और अमीनो एसिड का बेहतर स्रोत होता है।

फूड डेस्क : सर्दियों के दिनों में बड़े-बुजुर्ग बाजरा, मक्का, रागी की रोटी खाने की सलाह देते हैं। यह सिर्फ स्वाद में ही नहीं बल्कि सेहत के हिसाब से भी बेहद फायदेमंद होती है। साधारण गेहूं के आटे की रोटी में शुगर की मात्रा पाई जाती है। ऐसे में डायबिटीज के मरीजों को गेहूं के आटे की रोटी नहीं खानी चाहिए। इसके अलावा वह रागी की रोटी अपनी डाइट में शामिल कर सकते हैं। यह प्रोटीन, आयरन, कैल्शियम और फाइबर का बेहतरीन स्रोत होता है। साथ ही इसमें अमीनो एसिड भी पाया जाता है, जो हमें कई बीमारियों से बचाता है। ऐसे में आइए हम आपको बताते हैं रागी में मौजूद पोषक तत्व और इसे खाने से क्या फायदे होते हैं...

रागी में मौजूद पोषक तत्व
कैल्शियम 350 मिलीग्राम
पोटेशियम 410 मिलीग्राम
कार्बोहाइड्रेट की मात्रा 70%
प्रोटीन 8%
कच्चे फाइबर 3.4% 
खनिज 2.7% 
इसके अलावा इसमें आयरन, आयोडीन, कैरोटीन, ईथर के अर्क, मेथोनाइन अमीनो अम्ल, सोडियम, जिंक, मैग्नीशियम, विटामिन B1, विटामिन B2, विटामिन B3 भी पाया जाता है।

Subscribe to get breaking news alerts

डायबिटीज के लिए रामबाण
शोध से पता चलता है कि रागी मधुमेह से पीड़ित लोगों के लिए एक अच्छा विकल्प है, क्योंकि इसमें साधारण आटे की तुलना में फाइबर, खनिज और अमीनो एसिड अधिक होता है। यह रक्त शर्करा और कोलेस्ट्रॉल के स्तर में सुधार कर सकता है। 

वजन घटाने के लिए फायदेमंद
रागी ग्लूटेन फ्री होता है। साथ ही फाइबर से भरपूर होने के कारण यह पेट में पचने में अधिक समय लेता है, यानी कि यह आपको अधिक समय तक भरा हुआ रखता है। जिससे बार-बार भूख नहीं लगती और वजन नियंत्रित रहता है।

हार्ट हेल्थ को रखें हेल्दी
रागी जैसे साबुत अनाज हृदय रोग के कम जोखिम से जुड़े हैं। रागी फाइबर से भरा होता है, जो खराब कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित करने में मदद करता है जो प्लाक बिल्ड-अप या एथेरोस्क्लेरोसिस को तेज कर सकता है। ऐसे में कोलेस्ट्रॉल नियंत्रित रहते से हृदय संबंधी जोखिम कम हो जाते हैं।

आंत के स्वास्थ्य में सुधार
रागी में अघुलनशील डायट्री फाइबर "प्रीबायोटिक" पाए जाते हैं, जिसका अर्थ है कि यह आपके आंत में अच्छे बैक्टीरिया का समर्थन करने में मदद करता है। रागी जैसे प्रीबायोटिक खाने से आपके पाचन से लेकर आंत के स्वास्थ्य में मदद मिल सकती है। यह भी वेट कम करने में भी सहायता करता है।

रागी से बनाएं ये डिशेज
- रागी पौष्टिक लड्डू
- मल्टी ग्रेन आटे के रूप में यूज करें
- रागी इडली और डोसा
- रागी केक
- रागी बिस्कुट
- पापड़ 
- रागी ढोकला

और पढ़ें: मुफ्त में खाना लड़के को पड़ गया भारी, अगले ही दिन लड़की से करनी पड़ी शादी

World AIDS Day 2022: पहले हुआ HIV फिर कैंसर, 66 साल के शख्स ने दोनों बीमारियों से जीती जंग