Asianet News Hindi

जन धन योजना में अकाउंट खोल कर उठा सकते हैं कई फायदे, 41 करोड़ के पार पहुंची इन खातों की संख्या

First Published Jan 21, 2021, 9:09 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

बिजनेस डेस्क। मोदी सरकार  (Modi Government) ने गरीबों और आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के लोगों के फायदे के लिए जिन योजनाओं की शुरुआत की, उनमें प्रधानमंत्री जन धन योजना (PMJDY) सबसे महत्वपूर्ण है। वित्त मंत्रालय ने कहा है कि इस योजना का फायदा अब तक करीब 41 करोड़ से भी ज्यादा लोग उठा चुके हैं। वित्त मंत्रालय के मुताबिक, 6 जनवरी, 2021 तक जन धन अकाउंट खोलने वाले लोगों की संख्या 41.6 करोड़ हो गई है। इस योजना की शुरुआत साल 2014 में ही की गई थी। इसका मकसद देश के गरीब लोगों को बैंकिंग सिस्टम से जोड़ना था, ताकि सरकारी योजनाओं का फायदा उन्हें मिल सके। जानें इसके बारे में विस्तार से। (फाइल फोटो)

इस योजना की सफलता के बारे में वित्त मंत्रालय ने ट्वीट कर के जानकारी दी है। वित्त मंत्रालय ने अपने ट्वीट में कहा है - 'सरकार सभी नागरिकों के वित्तीय समावेशन के लिये प्रतिबद्ध है। 6 जनवरी 2021 तक जन धन खातों की संख्या 41 करोड़ के पार चली गयी और शून्य बैलेंस वाले खातों की संख्या मार्च 2015 के 58 प्रतिशत से कम होकर 7.5 प्रतिशत पर आ गई।' (फाइल फोटो)

इस योजना की सफलता के बारे में वित्त मंत्रालय ने ट्वीट कर के जानकारी दी है। वित्त मंत्रालय ने अपने ट्वीट में कहा है - 'सरकार सभी नागरिकों के वित्तीय समावेशन के लिये प्रतिबद्ध है। 6 जनवरी 2021 तक जन धन खातों की संख्या 41 करोड़ के पार चली गयी और शून्य बैलेंस वाले खातों की संख्या मार्च 2015 के 58 प्रतिशत से कम होकर 7.5 प्रतिशत पर आ गई।' (फाइल फोटो)

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 2014 में स्वतंत्रता दिवस पर अपने संबोधन में जन धन योजना शुरू किए जाने की घोषणा की थी। उसी साल 28 अगस्त को इस योजना की शुरुआत की गई थी। सरकार ने 2018 में ज्यादा सुविधाओं और फायदों के साथ इस योजना के दूसरे चरण की शुरुआत की। (फाइल फोटो)

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 2014 में स्वतंत्रता दिवस पर अपने संबोधन में जन धन योजना शुरू किए जाने की घोषणा की थी। उसी साल 28 अगस्त को इस योजना की शुरुआत की गई थी। सरकार ने 2018 में ज्यादा सुविधाओं और फायदों के साथ इस योजना के दूसरे चरण की शुरुआत की। (फाइल फोटो)

प्रधानमंत्री जन धन योजना (PMJDY) के अगले चरण में सरकार ने यह लक्ष्य रखा कि देश में हर परिवार की जगह हर उस व्यक्ति को इस योजना से जोड़ा जाए, जिन्हें अभी तक किसी तरह की कोई बैंकिंग सुविधा नहीं मिली है। इस मकसद को पूरा करने के लिए लोगों को इस योजना के फायदों के बारे में बताया गया और जीरो बैलेंस पर उनके खाते बैंकों में खोले गए। (फाइल फोटो)

प्रधानमंत्री जन धन योजना (PMJDY) के अगले चरण में सरकार ने यह लक्ष्य रखा कि देश में हर परिवार की जगह हर उस व्यक्ति को इस योजना से जोड़ा जाए, जिन्हें अभी तक किसी तरह की कोई बैंकिंग सुविधा नहीं मिली है। इस मकसद को पूरा करने के लिए लोगों को इस योजना के फायदों के बारे में बताया गया और जीरो बैलेंस पर उनके खाते बैंकों में खोले गए। (फाइल फोटो)

केंद्र सरकार ने 28 अगस्त, 2018 के बाद खुले जन धन खातों पर रुपे (RuPay) कार्डधारकों तके लिए बिना किसी शुल्क के दुर्घटना बीमा कवर बढ़ा कर दोगुना कर दिया। इसके बाद दन धन खाता खोलने वालों को 2 लाख रुपए का दुर्घटना बीमा कवर मिलने लगा। (फाइल फोटो)

केंद्र सरकार ने 28 अगस्त, 2018 के बाद खुले जन धन खातों पर रुपे (RuPay) कार्डधारकों तके लिए बिना किसी शुल्क के दुर्घटना बीमा कवर बढ़ा कर दोगुना कर दिया। इसके बाद दन धन खाता खोलने वालों को 2 लाख रुपए का दुर्घटना बीमा कवर मिलने लगा। (फाइल फोटो)

जन धन अकाउंट खोलने पर कई तरह की सुविधाएं मिलती हैं। यह खाता जीरो बैलेंस पर खुलता है। इसमें मिनिमम बैलेंस रखना जरूरी नहीं है। इसमें जमा राशि पर ब्याज मिलता है। इसके अलावा, यह अकाउंट खोलने पर मुफ्त मोबाइल बैंकिंग की सुविधा भी मिलती है। (फाइल फोटो)

जन धन अकाउंट खोलने पर कई तरह की सुविधाएं मिलती हैं। यह खाता जीरो बैलेंस पर खुलता है। इसमें मिनिमम बैलेंस रखना जरूरी नहीं है। इसमें जमा राशि पर ब्याज मिलता है। इसके अलावा, यह अकाउंट खोलने पर मुफ्त मोबाइल बैंकिंग की सुविधा भी मिलती है। (फाइल फोटो)

अगर किसी का जन धन खाता है, तो जरूरत पड़ने पर वह ओवरड्रॉफ्ट के जरिए अपने खाते से 10,000 रुपए तक निकाल सकता है। इसका मतलब है कि अकाउंट में पैसा नहीं होने पर भी खाताधारक बैंक से पैसा ले सकता है। यह सुविधा तभी मिलती है, जब जन धन खाते को कुछ महीने तक ठीक से चलाया जाए। (फाइल फोटो)

अगर किसी का जन धन खाता है, तो जरूरत पड़ने पर वह ओवरड्रॉफ्ट के जरिए अपने खाते से 10,000 रुपए तक निकाल सकता है। इसका मतलब है कि अकाउंट में पैसा नहीं होने पर भी खाताधारक बैंक से पैसा ले सकता है। यह सुविधा तभी मिलती है, जब जन धन खाते को कुछ महीने तक ठीक से चलाया जाए। (फाइल फोटो)

जन धन खाता खोलने वाले को रुपे (RuPay) डेबिट कार्ड दिया जाता है। इसके जरिए  खाते से पैसे निकालने के साथ खरीददारी भी की जा सकती है। जन धन खाते के जरिए बीमा और दूसरी पेंशन स्कीम में पैसा लगाया जा सकता है। जन धन अकाउंट में ही पीएम किसान और श्रमयोगी मानधन जैसी योजनाओं के तहत पेंशन का पैसा आता है या दूसरा खाता खोला जाता है। इस अकाउंट के होने पर देश भर में पैसे के ट्रांसफर की सुविधा मिलती है। (फाइल फोटो)

जन धन खाता खोलने वाले को रुपे (RuPay) डेबिट कार्ड दिया जाता है। इसके जरिए खाते से पैसे निकालने के साथ खरीददारी भी की जा सकती है। जन धन खाते के जरिए बीमा और दूसरी पेंशन स्कीम में पैसा लगाया जा सकता है। जन धन अकाउंट में ही पीएम किसान और श्रमयोगी मानधन जैसी योजनाओं के तहत पेंशन का पैसा आता है या दूसरा खाता खोला जाता है। इस अकाउंट के होने पर देश भर में पैसे के ट्रांसफर की सुविधा मिलती है। (फाइल फोटो)

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios