Asianet News Hindi

हेलिकॉप्टर का अविष्कार किसने किया था? देखिए UPSC इंटरव्यू के ऐसे-ऐसे दिमागी सवाल

First Published Apr 4, 2021, 2:30 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

करियर डेस्क.  IAS Interview Questions: दोस्तों, इस साल यूपीएससी सिविल सेवा प्रीलिम्स परीक्षा 27 जून को आयोजित होगी। सितंबर में इसकी मुख्य परीक्षा होनी है इसलिए कैंडिडेट्स (UPSC Candidates) अपनी तैयारी को और तेज कर लें। इसके बाद आपको चयनित होकर इंटरव्यू का सामना करना होगा। यूं तो इस एग्जाम (UPSC Exam) को लेकर आपने बहुत सी बातें सुनी होंगी। यूपीएससी का इंटरव्यू भी काफी मुश्किल और खतरनाक होता है। इसलिए खाली समय में आपको इंटरव्यू के सवाल और जवाब को मॉक टेस्ट भी देने चाहिए। इससे आपकी तर्कशक्ति और रीजनिंग पावर मजबूत होगी। आईएएस इंटरव्यू (IAS Interview) में  करंट अफेयर्स (Current Affairs) के साथ रीजनिंग के सवाल (Reasoning Questions)  भी पूछे जाते हैं। इसलिए हम आपको पहेली जैसे कुछ सवाल पूछ रहे हैं उनके जवाब भी दिए गए हैं। इन आसान से दिखने वाले सवालों के जवाब आपको सोच में डाल देंगे-  

सवाल: सबसे पहले कोरोना वायरस किस डॉक्टर ने चेक किया? 

 

जवाब: वुहान सेंट्रल अस्पताल में आंखों के डॉक्टर ली वेनलियांग ने सबसे पहले इस वायरस के बारे में बताया था। चीन से फ़ैले कोरोना वायरस की सबसे पहले चेतावनी देने वाले डॉक्टर ली वेनलियांग की मौत हो गई थी। 34 वर्षीय डॉक्टर ली वेनलियांग को चीनी सोशल मीडिया में 'हीरो' बताया गया। 

सवाल: सबसे पहले कोरोना वायरस किस डॉक्टर ने चेक किया? 

 

जवाब: वुहान सेंट्रल अस्पताल में आंखों के डॉक्टर ली वेनलियांग ने सबसे पहले इस वायरस के बारे में बताया था। चीन से फ़ैले कोरोना वायरस की सबसे पहले चेतावनी देने वाले डॉक्टर ली वेनलियांग की मौत हो गई थी। 34 वर्षीय डॉक्टर ली वेनलियांग को चीनी सोशल मीडिया में 'हीरो' बताया गया। 

IAS इंटरव्यू सवाल. ऐसा कौन सा रूम है जिसमें न खिड़की है न दरवाजा? 

 

जवाब. सवाल सुनकर लोग झट से बाथरूम कह देते हैं लेकिन इसका सही जवाब है-  मशरूम। 

IAS इंटरव्यू सवाल. ऐसा कौन सा रूम है जिसमें न खिड़की है न दरवाजा? 

 

जवाब. सवाल सुनकर लोग झट से बाथरूम कह देते हैं लेकिन इसका सही जवाब है-  मशरूम। 

जवाब. पृथ्वी चांद की तुलना में तेजी से घूम रही है। इसलिए कभी कभी ज्यादातर महासागर और महाद्वीप नीले दिखाई देते हैं। इसके अलावा पृथ्वी पर संभावित रोशनी दिखाई देगी,। चांद का अपना कोई वातावरण नहीं है इसलिए दिन में तारे भी देख पाएंगे।

जवाब. पृथ्वी चांद की तुलना में तेजी से घूम रही है। इसलिए कभी कभी ज्यादातर महासागर और महाद्वीप नीले दिखाई देते हैं। इसके अलावा पृथ्वी पर संभावित रोशनी दिखाई देगी,। चांद का अपना कोई वातावरण नहीं है इसलिए दिन में तारे भी देख पाएंगे।

सवाल. पेट्रोल को हिंदी में क्या कहते हैं? 

 

जवाब: शिलातौल या ध्रुव स्वर्ण

सवाल. पेट्रोल को हिंदी में क्या कहते हैं? 

 

जवाब: शिलातौल या ध्रुव स्वर्ण

जवाब:  ये सवाल सिविल सेवा परीक्षा 2017 में 117वीं रैंक हासिल करने वाले सूरज कुमार राय से पूछा गया था। उन्होंने जवाब दिया,  Leader does the righ thing, and Manager does the thing rightly. (यानी लीडर सही चीज़ करता है जबकि मैनेजर चीज़ को सही तरीके से करता है।) बोर्ड ने आगे कहा अपने उत्तर को स्पष्ट करें। तो सूरज ने कहा कि दोनों का काम एक दूसरे से काफी मिलता जुलता होता है लेकिन लीडर दिशा दिखाता है, एक मार्गदर्शक के तौर पर काम करता है, वह अपने फोलोवर्स को प्रेरित करता है और लक्ष्य तक पहुंचने के लिए उन्हें प्रोत्साहित करता है। उन पर अपना प्रभाव छोड़ता है।

 

और जो मैनेजर होता है कि उसका काम थोड़ा था डिटेल्ड होता है। वह कभी-कभी छोटे-छोटे काम भी करता है। योजना भी बनाता है और आयोजन भी करता है। लक्ष्य को दिशा देता है। व्यवस्था में प्रबंधन व समन्वय स्थापित करता है। 

 

जवाब सुनकर सूरज से पूछा गया तुम क्या बनना चाहोगे, लीडर या मैनेजर? उन्होंने उत्तर दिया कि मैं एडमिनिस्ट्रेटर बनना चाहूंगा। इस सवाल का जवाब देने से उनका आईएएस में सलेक्शन हो गया था। '

जवाब:  ये सवाल सिविल सेवा परीक्षा 2017 में 117वीं रैंक हासिल करने वाले सूरज कुमार राय से पूछा गया था। उन्होंने जवाब दिया,  Leader does the righ thing, and Manager does the thing rightly. (यानी लीडर सही चीज़ करता है जबकि मैनेजर चीज़ को सही तरीके से करता है।) बोर्ड ने आगे कहा अपने उत्तर को स्पष्ट करें। तो सूरज ने कहा कि दोनों का काम एक दूसरे से काफी मिलता जुलता होता है लेकिन लीडर दिशा दिखाता है, एक मार्गदर्शक के तौर पर काम करता है, वह अपने फोलोवर्स को प्रेरित करता है और लक्ष्य तक पहुंचने के लिए उन्हें प्रोत्साहित करता है। उन पर अपना प्रभाव छोड़ता है।

 

और जो मैनेजर होता है कि उसका काम थोड़ा था डिटेल्ड होता है। वह कभी-कभी छोटे-छोटे काम भी करता है। योजना भी बनाता है और आयोजन भी करता है। लक्ष्य को दिशा देता है। व्यवस्था में प्रबंधन व समन्वय स्थापित करता है। 

 

जवाब सुनकर सूरज से पूछा गया तुम क्या बनना चाहोगे, लीडर या मैनेजर? उन्होंने उत्तर दिया कि मैं एडमिनिस्ट्रेटर बनना चाहूंगा। इस सवाल का जवाब देने से उनका आईएएस में सलेक्शन हो गया था। '

जवाब: ये सवाल एक IAS कैंडिडेट से पूछा गया था उसने जवाब दिया, सर, हमारे देश की सबसे बड़ी समस्या बेरोजगारी है इसलिए सबसे पहले बेरोजगारों के लिए नौकरी के मौके उपलब्ध कराउंगा। हमारे देश में बहुत सारे ऐसे युवा हैं जो उच्च शिक्षा लेने के बावजूद बेरोजगार घूम रहे हैं। दूसरा शिक्षा के अधिकार को विभिन्न स्कॉलरशिप कार्यक्रमों के जरिए बढ़ावा दूंगा, खासकर लड़कियों के लिए जिससे मां-बाप उन्हें स्कूल भेज सकें। 

जवाब: ये सवाल एक IAS कैंडिडेट से पूछा गया था उसने जवाब दिया, सर, हमारे देश की सबसे बड़ी समस्या बेरोजगारी है इसलिए सबसे पहले बेरोजगारों के लिए नौकरी के मौके उपलब्ध कराउंगा। हमारे देश में बहुत सारे ऐसे युवा हैं जो उच्च शिक्षा लेने के बावजूद बेरोजगार घूम रहे हैं। दूसरा शिक्षा के अधिकार को विभिन्न स्कॉलरशिप कार्यक्रमों के जरिए बढ़ावा दूंगा, खासकर लड़कियों के लिए जिससे मां-बाप उन्हें स्कूल भेज सकें। 

जवाब. 1940 तक लियोनॉर्डो दा विंची सहित कई लोगों ने हेलिकॉप्टरों की योजना तैयार की थी। पर इसका अविष्कार Igor Sikorsky और Paul Cornu ने किया था।

जवाब. 1940 तक लियोनॉर्डो दा विंची सहित कई लोगों ने हेलिकॉप्टरों की योजना तैयार की थी। पर इसका अविष्कार Igor Sikorsky और Paul Cornu ने किया था।

जवाब: सर सिविल सर्विसेज एक बेहतरीन करियर के लिए यहां हमें डायरेक्ट सोशल सर्विस का मौका मिलता है, पैसे से ज्यादा मेरे लिए लोगों की सेवा करना जरूरी है। 

जवाब: सर सिविल सर्विसेज एक बेहतरीन करियर के लिए यहां हमें डायरेक्ट सोशल सर्विस का मौका मिलता है, पैसे से ज्यादा मेरे लिए लोगों की सेवा करना जरूरी है। 

जवाब: पृथ्वी एक निर्धारित गति से अपनी धुरी पर घूम रही है और हम भी उसके साथ उसी गति से घूम रहें हैं,इसीलिए हमें हमारा घूमना महसूस नहीं होता है । अगर पृथ्वी घूमना बंद कर दे तो निश्चित ही हम उसकी गति महसूस कर पायेंगे। पृथ्वी अपनी धुरी पर फाइटर प्लेन की लगभग दुगुनी होती है (1600kph) यह बहुत तेज गति से दौड़ रही होती है। अत: पृथ्वी के एक गति से अपने अक्ष पर घूर्णन के कारण ही हम उस घूमने को महसूस नहीं कर पाते क्योंकि हम भी उसी गति से पृथ्वी के साथ घूम रहें है।

जवाब: पृथ्वी एक निर्धारित गति से अपनी धुरी पर घूम रही है और हम भी उसके साथ उसी गति से घूम रहें हैं,इसीलिए हमें हमारा घूमना महसूस नहीं होता है । अगर पृथ्वी घूमना बंद कर दे तो निश्चित ही हम उसकी गति महसूस कर पायेंगे। पृथ्वी अपनी धुरी पर फाइटर प्लेन की लगभग दुगुनी होती है (1600kph) यह बहुत तेज गति से दौड़ रही होती है। अत: पृथ्वी के एक गति से अपने अक्ष पर घूर्णन के कारण ही हम उस घूमने को महसूस नहीं कर पाते क्योंकि हम भी उसी गति से पृथ्वी के साथ घूम रहें है।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios