Asianet News Hindi

STARTUP: बीकॉम के अलावा कॉमर्स स्ट्रीम के स्टूडेंट्स कर करते हैं ये कोर्स, मार्केट में बढ़ रही है डिमांड

First Published May 25, 2021, 5:50 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

करियर डेस्क. कॉमर्स स्ट्रीम (commerce stream) के स्टूडेंट्स 12वीं के बाद बीकॉम (B.com), सीए या फिर सीएम के बारे में जानते हैं। ज्यादातर छात्रों को यह भी नहीं पता होती कि कॉमर्स स्ट्रीम के लिए कौन-कौन से कोर्स हैं। जिन्हें करने के बाद करियर को ऊंचाई दी जा सकती है। हम आपको ऐसे ही कोर्स के बारे में बता रहे हैं जिन्हें आप कर सकते हैं। आइए जानते हैं इन कोर्सों के बारें में। 

कॉमर्स लॉ
12वीं के बाद लॉ की पढ़ाई र सकते हैं। कॉमर्स स्ट्रीम के स्टूडेंट्स फाइनेंस लॉ की पढ़ाई कर सकते हैं। फाइनेंस लॉ के प्रोफेशनल की मार्केट में डिमांड बढ़ती जाती है। इस कोर्स को करने के बाद बैंकिंग लॉ, कंज्यूमर लॉ प्रोटेक्शन लॉ, इंडिस्ट्रियल लॉ, कंपनी लॉ आदि की पढ़ाई करके अपनी इनकम बढ़ा सकते हैं।  
 

कॉमर्स लॉ
12वीं के बाद लॉ की पढ़ाई र सकते हैं। कॉमर्स स्ट्रीम के स्टूडेंट्स फाइनेंस लॉ की पढ़ाई कर सकते हैं। फाइनेंस लॉ के प्रोफेशनल की मार्केट में डिमांड बढ़ती जाती है। इस कोर्स को करने के बाद बैंकिंग लॉ, कंज्यूमर लॉ प्रोटेक्शन लॉ, इंडिस्ट्रियल लॉ, कंपनी लॉ आदि की पढ़ाई करके अपनी इनकम बढ़ा सकते हैं।  
 

सर्टिफाइड फाइनेशियल प्लानर
यह कोर्स भी कॉमर्स के स्टूडेंट्स के लिए बेहतर है। इस कोर्स में पर्सनल फाइनेंस, वेल्थ मैनेंजमेंट, म्यूचुअल फंड आदि की जानकारी दी जाती है। यह कोर्स करके सभी क्षेत्रों में करियर बना सकते हैं। 

सर्टिफाइड फाइनेशियल प्लानर
यह कोर्स भी कॉमर्स के स्टूडेंट्स के लिए बेहतर है। इस कोर्स में पर्सनल फाइनेंस, वेल्थ मैनेंजमेंट, म्यूचुअल फंड आदि की जानकारी दी जाती है। यह कोर्स करके सभी क्षेत्रों में करियर बना सकते हैं। 

कई विकल्प
बीकॉम के बाद आप वित्त व नियंत्रण में पीजी डिप्लोमा, पीजी डिप्लोमा इन मैनेजमेंट अकाउंटिंग, बैंकिंग वा वित्त में पीजी डिप्लोमा इन पब्लिक अकाउंटिंग, डिप्लोमा इन बैंकिंग एंड फाइनेंस का कोर्स भी कर सकते हैं।

 

कई विकल्प
बीकॉम के बाद आप वित्त व नियंत्रण में पीजी डिप्लोमा, पीजी डिप्लोमा इन मैनेजमेंट अकाउंटिंग, बैंकिंग वा वित्त में पीजी डिप्लोमा इन पब्लिक अकाउंटिंग, डिप्लोमा इन बैंकिंग एंड फाइनेंस का कोर्स भी कर सकते हैं।

 

किसी एक सब्जेक्ट को चुनें
12वीं के बाद ज्यादातर स्टूडेंट्स बीकॉम करते हैं। अग आप बीकॉम कर रहे हैं तो किसी एक विषय से करें। नार्मल बीकॉम करने की जगह में आप अकाउंटिंग एंड फाइनेंस से बीकॉम कर सकते हैं। इसके साथ ही बीकॉम बैंकिग और इंश्योरेंस भी कर सकते हैं। यह कोर्स सरकारी और प्रायवेट फील्ड में जॉब के मौके मिलते हैं।

किसी एक सब्जेक्ट को चुनें
12वीं के बाद ज्यादातर स्टूडेंट्स बीकॉम करते हैं। अग आप बीकॉम कर रहे हैं तो किसी एक विषय से करें। नार्मल बीकॉम करने की जगह में आप अकाउंटिंग एंड फाइनेंस से बीकॉम कर सकते हैं। इसके साथ ही बीकॉम बैंकिग और इंश्योरेंस भी कर सकते हैं। यह कोर्स सरकारी और प्रायवेट फील्ड में जॉब के मौके मिलते हैं।

CWA भी कर सकते हैं
CWA यानी कास्ट एंड वर्क अकाउंटेट का कोर्स सीए की तरह होता है। इस कोर्स को इंस्टट्यूट ऑफ कॉस्ट एंड वर्क अकाउंटेंट ऑफ इंडिया कराता है। इसमें पहले फाउंडेशन कोर्स, फिर इंटरमीडिएट और फिर फाइनल परीक्षा होती है। यह कोर्स करने के बाद जॉब के कई अवसर खुल जाते हैं।   

 

CWA भी कर सकते हैं
CWA यानी कास्ट एंड वर्क अकाउंटेट का कोर्स सीए की तरह होता है। इस कोर्स को इंस्टट्यूट ऑफ कॉस्ट एंड वर्क अकाउंटेंट ऑफ इंडिया कराता है। इसमें पहले फाउंडेशन कोर्स, फिर इंटरमीडिएट और फिर फाइनल परीक्षा होती है। यह कोर्स करने के बाद जॉब के कई अवसर खुल जाते हैं।   

 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios