Asianet News Hindi

STARTUP: कॉमर्स के फील्ड ये हैं सुनहरे मौके, लाखों की सैलरी या फिर शुरू कर सकते हैं स्टार्टअप

First Published Apr 20, 2021, 4:07 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

करियर डेस्क.  कोरोना वायरस (Coronavirus) के कारण कई राज्यों में 12वीं की परीक्षाएं स्थगित (Postponed) कर दी गई हैं। परीक्षा की तैयारी कर रहे छात्रों 12वीं के बाद क्या करेंगे इसे लेकर छात्र कई तरह के कोर्स सर्च करते हैं या उसके बारे में जानकारी लेते हैं। कॉमर्स (Commerce) से 12वीं करने वालों छात्रों के लिए भविष्य में सुनहरा मौका है। कॉमर्स के फील्ड में छात्रों का आकर्षण सबसे ज्यादा होता जा रहा है। इसका कारण है इस फील्ड का बढ़ता स्कोप। इस क्षेत्र में करियर की ढेरों संभावनाएं मौजूद हैं जो भविष्य को सही दिशा दे सकती हैं। आइए जानते हैं कि कॉमर्स के फील्ड में किन कोर्सों को करके आप बेहतर सैलरी पा सकते हैं। 
 

स्टॉक ब्रोकर (Stock broker)
देश में स्टॉक कंपनियों का बड़ा बाजार है। इस फील्ड में नौकरी पाने की बहुत संभावनाएं हैं। अगर आपके पास मार्केट का अच्छा नॉलेज है तो आप स्टॉक ब्रोकर के रूप में अपना करियर बना सकते हैं। स्टॉक ब्रोकर शेयर मार्केट में अपने क्लाइंट के हर तरह के लेन-देन के मामलों को देखता है। स्टॉक ब्रोकर स्टॉक एक्सचेंज और निवेशक के बीच कड़ी का काम करता है। स्टॉक ब्रोकर के रूप में आप फाइनेंशियल एडवाइजर, बैंक ब्रोकर, इंडिपेंडेंट ब्रोकर, इक्विटी एनालिस्ट, स्टॉक ब्रोकिंग फर्म, इन्वेस्टमेंट बैंकर के तौर पर भी काम कर सकते हैं। आप इसमें स्टार्टअप भी शुरू कर सकते हैं। 

स्टॉक ब्रोकर (Stock broker)
देश में स्टॉक कंपनियों का बड़ा बाजार है। इस फील्ड में नौकरी पाने की बहुत संभावनाएं हैं। अगर आपके पास मार्केट का अच्छा नॉलेज है तो आप स्टॉक ब्रोकर के रूप में अपना करियर बना सकते हैं। स्टॉक ब्रोकर शेयर मार्केट में अपने क्लाइंट के हर तरह के लेन-देन के मामलों को देखता है। स्टॉक ब्रोकर स्टॉक एक्सचेंज और निवेशक के बीच कड़ी का काम करता है। स्टॉक ब्रोकर के रूप में आप फाइनेंशियल एडवाइजर, बैंक ब्रोकर, इंडिपेंडेंट ब्रोकर, इक्विटी एनालिस्ट, स्टॉक ब्रोकिंग फर्म, इन्वेस्टमेंट बैंकर के तौर पर भी काम कर सकते हैं। आप इसमें स्टार्टअप भी शुरू कर सकते हैं। 

कंपनी सेक्रेटरी (Company secretary)
इसके लिए आपके पास इकॉनॉमिक्स, फाइनेंस, अकाउंटेंसी की अच्छी समझ जरूरी है। सीएस की सैलरी शुरुआत में 3-6 लाख रुपये सालाना हो सकती है और इसके बाद अपने टैलेंट के बेस पर आपको अच्छी ग्रोथ मिलेगी। कंपनी सेक्रटरीज इन हाउस लॉयर्स की तरह होते हैं जो किसी संगठन में कॉर्पोरेट सेक्रटेरियल डिपार्टमेंट की हर दिन की गतिविधियों और कार्य की देख रेख करते हैं। किसी कंपनी में जबव करने की जगह आप अलग-अलग कंपनियां का एकाउंट देख सकते हैं। 

कंपनी सेक्रेटरी (Company secretary)
इसके लिए आपके पास इकॉनॉमिक्स, फाइनेंस, अकाउंटेंसी की अच्छी समझ जरूरी है। सीएस की सैलरी शुरुआत में 3-6 लाख रुपये सालाना हो सकती है और इसके बाद अपने टैलेंट के बेस पर आपको अच्छी ग्रोथ मिलेगी। कंपनी सेक्रटरीज इन हाउस लॉयर्स की तरह होते हैं जो किसी संगठन में कॉर्पोरेट सेक्रटेरियल डिपार्टमेंट की हर दिन की गतिविधियों और कार्य की देख रेख करते हैं। किसी कंपनी में जबव करने की जगह आप अलग-अलग कंपनियां का एकाउंट देख सकते हैं। 

फाइनेंशियल एनालिस्ट (Financial analyst)
आप किसी कंसल्टेंसी, इंडस्ट्रियल हाउस या पब्लिक एकाउंटिंग फर्म में ऑडिटर, जूनियर फाइनेंशल एनालिस्ट, टैक्स अकाउंटेंट, एनालिस्ट के तौर पर भी जॉब नौकरी कर सकते हैं।

फाइनेंशियल एनालिस्ट (Financial analyst)
आप किसी कंसल्टेंसी, इंडस्ट्रियल हाउस या पब्लिक एकाउंटिंग फर्म में ऑडिटर, जूनियर फाइनेंशल एनालिस्ट, टैक्स अकाउंटेंट, एनालिस्ट के तौर पर भी जॉब नौकरी कर सकते हैं।


इंवेस्टमेंट बैंकर्स (Investment bankers)
कंपनी को कॉरपोरेट और फाइनेंशियल डील दिलाने के लिए इंवेस्टमेंट बैंकर्स की जरूरत होती है। इंवेस्टमेंट बैंकर्स आगे चलकर एनालिस्ट, एसोसिएट और कंपनी के डायरेक्टर तक बन सकते हैं। इनकी सैलरी कंपनी के हिसाब से निर्धारित होती है।


इंवेस्टमेंट बैंकर्स (Investment bankers)
कंपनी को कॉरपोरेट और फाइनेंशियल डील दिलाने के लिए इंवेस्टमेंट बैंकर्स की जरूरत होती है। इंवेस्टमेंट बैंकर्स आगे चलकर एनालिस्ट, एसोसिएट और कंपनी के डायरेक्टर तक बन सकते हैं। इनकी सैलरी कंपनी के हिसाब से निर्धारित होती है।

कंप्यूटर एकाउंटेंसी (Computer accountancy)
अगर आप अकाउंटिंग सॉफ्टवेयर पर काम कर सकते हैं तो ऐसे लोगों की बहुत जरूरत है। जीएसटी आने के बाद आज लगभग हर कंपनी/संस्थान या सीए टीम को इन प्रोफेशनल्स की जरूरत है। अकाउंटिंग फील्ड में करियर बनाने के इच्छुक युवाओं के लिए कंप्यूटर अकाउंटेंसी एक अच्छा विकल्प है। 

कंप्यूटर एकाउंटेंसी (Computer accountancy)
अगर आप अकाउंटिंग सॉफ्टवेयर पर काम कर सकते हैं तो ऐसे लोगों की बहुत जरूरत है। जीएसटी आने के बाद आज लगभग हर कंपनी/संस्थान या सीए टीम को इन प्रोफेशनल्स की जरूरत है। अकाउंटिंग फील्ड में करियर बनाने के इच्छुक युवाओं के लिए कंप्यूटर अकाउंटेंसी एक अच्छा विकल्प है। 

बैंकिग सेक्टर (Banking sector)
अगर आप कॉमर्स के छात्र हैं तो आपके लिए बैंकिग सेक्टर एक बहुत बड़ा विकल्प है। इस फील्ड में आप अपना करियर बना सकते हैं। 

बैंकिग सेक्टर (Banking sector)
अगर आप कॉमर्स के छात्र हैं तो आपके लिए बैंकिग सेक्टर एक बहुत बड़ा विकल्प है। इस फील्ड में आप अपना करियर बना सकते हैं। 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios