Asianet News Hindi

26 हजार से ज्यादा हुए कोरोना के मामले; महामारी देख 2 जून तक बढ़ा लॉकडाउन? जानें पूरी सच्चाई

First Published Apr 26, 2020, 2:08 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली.  देश में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। देश में अब तक 26 हजार 283 केस सामने आए हैं। लॉकडाउन के दूसरे फेज के पहले 10 दिन में ही कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या दोगुनी हो गई। 15 अप्रैल को संक्रमितों की संख्या 12 हजार 370 थी, जो 25 अप्रैल यानी शनिवार देर रात बढ़कर 26 हजार 283 हो गई। इस बीच सोशल मीडिया पर लॉकडाउन बढ़ाए जाने की खबरें सामने आ रही हैं। फेसबुक, ट्विटर पर एक वीडियो वायरल हो रहा है जिसमें लॉकडाउन को 2 मई को न खोलकर 2 जून तक बढ़ाने की बात कही जा रही है।
 

क्या सरकार लॉकडाउन को 2 जून तक बढ़ाने जा रही है? फैक्ट चेकिंग में आइए जानते हैं कि इस बात में कितनी सच्चाई है?

दरअसल, सोशल मीडिया पर "आजतक" चैनल का एक 24 सेकंड का वीडियो वायरल हो रहा है। फेसबुक, ट्विटर, टिक टॉक सभी सोशल प्लैटफॉर्म पर ये वीडियो शेयर किया जा रहा है। लॉकडाउन खुलने का इंतजार कर रहे लोगों के बीच कोहराम सा मच मच गया है। 

दरअसल, सोशल मीडिया पर "आजतक" चैनल का एक 24 सेकंड का वीडियो वायरल हो रहा है। फेसबुक, ट्विटर, टिक टॉक सभी सोशल प्लैटफॉर्म पर ये वीडियो शेयर किया जा रहा है। लॉकडाउन खुलने का इंतजार कर रहे लोगों के बीच कोहराम सा मच मच गया है। 

लॉकडाउन खुलने का इंतजार कर रहे लोगों के बीच कोहराम सा मच मच गया है। 

लॉकडाउन खुलने का इंतजार कर रहे लोगों के बीच कोहराम सा मच मच गया है। 

वायरल पोस्ट क्या है? 

 

इस वीडियो के ऊपर अलग से एक कैप्शन डाला गया है, "बड़ी खबर, 2 जून तक लॉकडाउन बढ़ा दिया जा सकता है"इस वीडियो को राहुल नंदा 562 नामक आईडी से टिक-टॉक एप पर डाला गया है।

वायरल पोस्ट क्या है? 

 

इस वीडियो के ऊपर अलग से एक कैप्शन डाला गया है, "बड़ी खबर, 2 जून तक लॉकडाउन बढ़ा दिया जा सकता है"इस वीडियो को राहुल नंदा 562 नामक आईडी से टिक-टॉक एप पर डाला गया है।

क्या दावा किया जा रहा है? 

 

इस वायरल वीडियो में न्यूज एंकर को लॉकडाउन बढ़ाने को लेकर जानकारी देते हुए सुना जा सकता है। इसमें एंकर कह रही हैं, "लॉकडाउन को लेकर राज्य सरकारों के तरफ से गुजारिश क्या है, सूत्रों के हवाले से खबर ये आ रही है कि कई राज्यों की लॉकडाउन बढ़ाने की अपील केंद्र सरकार तक पहुंची है, विशेषज्ञों ने भी लॉकडाउन बढ़ाने की अपील की है। 

 

क्या दावा किया जा रहा है? 

 

इस वायरल वीडियो में न्यूज एंकर को लॉकडाउन बढ़ाने को लेकर जानकारी देते हुए सुना जा सकता है। इसमें एंकर कह रही हैं, "लॉकडाउन को लेकर राज्य सरकारों के तरफ से गुजारिश क्या है, सूत्रों के हवाले से खबर ये आ रही है कि कई राज्यों की लॉकडाउन बढ़ाने की अपील केंद्र सरकार तक पहुंची है, विशेषज्ञों ने भी लॉकडाउन बढ़ाने की अपील की है। 

 

टिॉक टॉक पर वायरल ये वीडियो कहता है कि, देश में अब तक 26 हजार से ज्यादा कोरोना संक्रमण के मामले सामने आ चुके हैं ऐसे में लॉकडाउन बढ़ाने की संभावना है..।" 

टिॉक टॉक पर वायरल ये वीडियो कहता है कि, देश में अब तक 26 हजार से ज्यादा कोरोना संक्रमण के मामले सामने आ चुके हैं ऐसे में लॉकडाउन बढ़ाने की संभावना है..।" 

सच क्या है? 

 

वायरल वीडियो के साथ किया जा रहा दावा फर्जी है। ना तो सरकार ने अभी लॉकडाउन जून तक बढ़ाने की घोषणा की है और ना ही चैनल ने ऐसी कोई खबर प्रसारित की है। दरअसल न्यूज चतैनल के किसी शो के कुछ अंश को एडिट करके यह गलत दावा किया जा रहा है कि लॉकडाउन 2 जून तक बढ़ाया जा सकता है।

 

इस वीडियो को देखते ही पहली नजर में पता चलता है कि इसे मूल वीडियो के साथ छेड़छाड़ करके बनाया गया है।

सच क्या है? 

 

वायरल वीडियो के साथ किया जा रहा दावा फर्जी है। ना तो सरकार ने अभी लॉकडाउन जून तक बढ़ाने की घोषणा की है और ना ही चैनल ने ऐसी कोई खबर प्रसारित की है। दरअसल न्यूज चतैनल के किसी शो के कुछ अंश को एडिट करके यह गलत दावा किया जा रहा है कि लॉकडाउन 2 जून तक बढ़ाया जा सकता है।

 

इस वीडियो को देखते ही पहली नजर में पता चलता है कि इसे मूल वीडियो के साथ छेड़छाड़ करके बनाया गया है।

ये निकला नतीजा- 

 

कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पहले 21 दिन के संपूर्ण लॉकडाउन का ऐलान किया था। यह अवधि 14 अप्रैल को खत्म हो गई। इसके बाद कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए लॉकडाउन को 3 मई तक बढ़ा दिया था।

 

पिछले लॉकडाउन के बारे में प्रसारित खबर को गलत दावे के साथ वायरल किया जा रहा है। लॉकडाउन बढ़ाने की हाल-फिलहाल में कोई घोषणा नहीं की गई है। 
 

 

 

ये निकला नतीजा- 

 

कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पहले 21 दिन के संपूर्ण लॉकडाउन का ऐलान किया था। यह अवधि 14 अप्रैल को खत्म हो गई। इसके बाद कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए लॉकडाउन को 3 मई तक बढ़ा दिया था।

 

पिछले लॉकडाउन के बारे में प्रसारित खबर को गलत दावे के साथ वायरल किया जा रहा है। लॉकडाउन बढ़ाने की हाल-फिलहाल में कोई घोषणा नहीं की गई है। 
 

 

 

तो देखा न आपने कि कैसे हमारे समाज से तेजी से फेक न्यूज वायरल हो रही हैं। ऐसे में हमारी जिम्मेदारी बनती है कि लोगों तक इसके सच को पहुंचाए। पढ़ें-लिख वर्ग को इस बात का विशेष ध्यान रखना होगा कि बिना जांचे परखे कोई खबर, वीडियो फॉरवर्ड न करें। आपका एक गैर-जिम्मेदारना हरकत समाज की शांति को भंग कर सकती है। वहीं किसी भी खबर पर संदेह हो तो उसे किसी विश्ववसनीय जगह, संस्थान या लोगों से एक बार जरूर कंफर्म करें। आप खुद भी एक बार गूगल पर चेक कर सकते हैं।

तो देखा न आपने कि कैसे हमारे समाज से तेजी से फेक न्यूज वायरल हो रही हैं। ऐसे में हमारी जिम्मेदारी बनती है कि लोगों तक इसके सच को पहुंचाए। पढ़ें-लिख वर्ग को इस बात का विशेष ध्यान रखना होगा कि बिना जांचे परखे कोई खबर, वीडियो फॉरवर्ड न करें। आपका एक गैर-जिम्मेदारना हरकत समाज की शांति को भंग कर सकती है। वहीं किसी भी खबर पर संदेह हो तो उसे किसी विश्ववसनीय जगह, संस्थान या लोगों से एक बार जरूर कंफर्म करें। आप खुद भी एक बार गूगल पर चेक कर सकते हैं।

पुलिस ने फेक न्यूज को लेकर सख्ती बरती है। कई लोग गिरफ्तार भी हुए हैं। कुछ लोग समाज की फेक खबर को फैलाकर यहां के माहौल को खराब करना चाहते हैं। इनसे बचें। आए दिन सोशल मीडिया पर ऐसी कई फेक खबर वायरल हो जाती है, जो समाज में तनाव की स्थिति पैदा कर देती है। कोरोना और लॉकडाउन के समय में फेक न्यूज के कारण हुई हिंसा की खबरों से हालात और ज्यादा बदत्तर हो गए हैं। 

पुलिस ने फेक न्यूज को लेकर सख्ती बरती है। कई लोग गिरफ्तार भी हुए हैं। कुछ लोग समाज की फेक खबर को फैलाकर यहां के माहौल को खराब करना चाहते हैं। इनसे बचें। आए दिन सोशल मीडिया पर ऐसी कई फेक खबर वायरल हो जाती है, जो समाज में तनाव की स्थिति पैदा कर देती है। कोरोना और लॉकडाउन के समय में फेक न्यूज के कारण हुई हिंसा की खबरों से हालात और ज्यादा बदत्तर हो गए हैं। 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios