31 अगस्त से खुलने वाले हैं सरकारी-प्राइवेट सभी स्कूल, इस वायरल न्यूज पर भरोसा करने से पहले जानें सच

First Published 22, Jul 2020, 12:26 PM

फैक्ट चेक डेस्क.  All Schools will Open from 31 August Fact Check: कोरोना आपदा के बीच भारत में लगातार संक्रमित लोगों की संख्या बढ़ रही हैं। रोजाना 20-25 हजार केस सामने आ रहे हैं। इस बीच 31 अगस्त से स्कूल खोले जाने का एक मैसेज धड़ल्ले से सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। इस मैसेज को देख पैरेंट्स और बच्चे काफी परेशान हो गए हैं। लोग भरोसा करने लगे क्योंकि मैसेज में एक न्यूज चैनल की ब्रेकिंग का स्क्रीनशॉट शामिल है।

फैक्ट चेक (Fact Check News) में आइए जानते हैं कि आखिर सच है क्या?

<p><strong>वायरल क्या है?</strong></p>

<p>वॉट्सएप्प पर न्यूज चैनल की ब्रेकिंग के स्क्रीनशॉट के साथ एक मैसेज वायरल हो रहा है। इसके आधार पर दावा किया जा रहा है कि गृह मंत्रालय ने सभी राज्यों को 31 अगस्त से स्कूल खोलने की अनुमति दे दी है। दावा है कि गृह मंत्रालय ने सभी राज्यों के प्रमुख सचिवों को इस संबंध में पत्र भी लिखा है।</p>

वायरल क्या है?

वॉट्सएप्प पर न्यूज चैनल की ब्रेकिंग के स्क्रीनशॉट के साथ एक मैसेज वायरल हो रहा है। इसके आधार पर दावा किया जा रहा है कि गृह मंत्रालय ने सभी राज्यों को 31 अगस्त से स्कूल खोलने की अनुमति दे दी है। दावा है कि गृह मंत्रालय ने सभी राज्यों के प्रमुख सचिवों को इस संबंध में पत्र भी लिखा है।

<p><strong>क्या दावा किया जा रहा है?</strong></p>

<p>दावा है कि 31 अगस्त से सरकारी प्राइवेट सभी तरह के स्कूल खुल जाएंगे ऐसा आदेश गृह मंत्रालय ने खुद दिया है।</p>

क्या दावा किया जा रहा है?

दावा है कि 31 अगस्त से सरकारी प्राइवेट सभी तरह के स्कूल खुल जाएंगे ऐसा आदेश गृह मंत्रालय ने खुद दिया है।

<p><strong>फैक्ट चेक</strong></p>

<p>वायरल मैसेज में दावा है कि गृह मंत्रालय ने सभी राज्यों के प्रमुख सचिवों को स्कूल खोलने के लिए पत्र भी लिखा है। दावे से जुड़े अलग-अलग कीवर्ड्स को सर्च करने पर हमें दिप्रिंट वेबसाइट की एक खबर मिली। इसके अनुसार सभी राज्य के प्रमुख सचिवों को पत्र लिखे जाने वाली बात सही है। लेकिन, यह पत्र गृह मंत्रालय ने नहीं एमएचआरडी ने लिखा है। और यह पत्र स्कूल खोलने के लिए नहीं है। बल्कि स्कूल खोलने को लेकर पैरेंट्स की राय जानने के लिए है। पैरेंट्स से पूछा जाएगा कि उनके अनुसार स्कूलों का कब खुलना सही रहेगा? अगस्त, सितंबर या फिर अक्टूबर। पैरेंट्स की राय लेने के बाद सरकार स्कूल खोलने को लेकर अंतिम निर्णय लेगी। दिप्रिंट की इस खबर से ही काफी हद तक वायरल दावा फर्जी साबित हो गया।</p>

<p>हमने गृह मंत्रालय की ऑफिशियल वेबसाइट पर यह चेक किया कि स्कूल खोलने से जुड़ा कोई आदेश है या नहीं। 20 मई, 2020 का एक आदेश हमें मिला। जिसमें कुछ शर्तों के साथ 10वीं औऱ 12वीं के बोर्ड एग्जाम आयोजित कराने की अनुमति दी गई थी। न की स्कूल खोलने की। हालांकि बाद में जून के महीने तक कोरोना संक्रमण के मामले ज्यादा बढ़ने के चलते CBSE ने खुद ही बचे हुए पेपर न लेने का फैसला कर लिया था।  </p>

फैक्ट चेक

वायरल मैसेज में दावा है कि गृह मंत्रालय ने सभी राज्यों के प्रमुख सचिवों को स्कूल खोलने के लिए पत्र भी लिखा है। दावे से जुड़े अलग-अलग कीवर्ड्स को सर्च करने पर हमें दिप्रिंट वेबसाइट की एक खबर मिली। इसके अनुसार सभी राज्य के प्रमुख सचिवों को पत्र लिखे जाने वाली बात सही है। लेकिन, यह पत्र गृह मंत्रालय ने नहीं एमएचआरडी ने लिखा है। और यह पत्र स्कूल खोलने के लिए नहीं है। बल्कि स्कूल खोलने को लेकर पैरेंट्स की राय जानने के लिए है। पैरेंट्स से पूछा जाएगा कि उनके अनुसार स्कूलों का कब खुलना सही रहेगा? अगस्त, सितंबर या फिर अक्टूबर। पैरेंट्स की राय लेने के बाद सरकार स्कूल खोलने को लेकर अंतिम निर्णय लेगी। दिप्रिंट की इस खबर से ही काफी हद तक वायरल दावा फर्जी साबित हो गया।

हमने गृह मंत्रालय की ऑफिशियल वेबसाइट पर यह चेक किया कि स्कूल खोलने से जुड़ा कोई आदेश है या नहीं। 20 मई, 2020 का एक आदेश हमें मिला। जिसमें कुछ शर्तों के साथ 10वीं औऱ 12वीं के बोर्ड एग्जाम आयोजित कराने की अनुमति दी गई थी। न की स्कूल खोलने की। हालांकि बाद में जून के महीने तक कोरोना संक्रमण के मामले ज्यादा बढ़ने के चलते CBSE ने खुद ही बचे हुए पेपर न लेने का फैसला कर लिया था।  

<p><strong>ये निकला नतीजा</strong></p>

<p>गृह मंत्रालय के इसी आदेश का गलत अर्थ निकालकर दो महीने पहले भी यह अफवाह फैलाई गई थी कि स्कूल खोलने की अनुमति दे दी गई है। 26 मई, 2020 को गृह मंत्रालय के ट्विटर हैंडल से इस खबर को फेक बताया जा चुका है। साथ में उस स्क्रीनशॉट को भी शेयर किया गया था, जो अब दोबारा वॉट्सएप पर वायरल हो रहा है। गृह मंत्रालय ने देश भर के स्कूल खोलने की अनुमति नहीं दी है। अभी एमएचआरडी स्कूल खोलने को लेकर सिर्फ पैरेंट्स की राय ले रही है। सोशल मीडिया पर किया जा रहा दावा फर्जी है। </p>

ये निकला नतीजा

गृह मंत्रालय के इसी आदेश का गलत अर्थ निकालकर दो महीने पहले भी यह अफवाह फैलाई गई थी कि स्कूल खोलने की अनुमति दे दी गई है। 26 मई, 2020 को गृह मंत्रालय के ट्विटर हैंडल से इस खबर को फेक बताया जा चुका है। साथ में उस स्क्रीनशॉट को भी शेयर किया गया था, जो अब दोबारा वॉट्सएप पर वायरल हो रहा है। गृह मंत्रालय ने देश भर के स्कूल खोलने की अनुमति नहीं दी है। अभी एमएचआरडी स्कूल खोलने को लेकर सिर्फ पैरेंट्स की राय ले रही है। सोशल मीडिया पर किया जा रहा दावा फर्जी है। 

loader