Asianet News Hindi

गाय या भैंस, आखिर बच्चे के लिए किसका दूध है ज्यादा फायदेमंद? आज तक गलतफहमी के शिकार थे आप और हम

First Published Sep 9, 2020, 2:39 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

फूड डेस्क : बच्चों के लिए दूध कितना जरुरी होता है ये हम सब जानते हैं पर उनके शरीर को कितने दूध की जरुरत है इसे लेकर कंफ्यूजन बना रहता है। बच्चो को गाय को दूध दें, भैंस का दूध या फार्मूला मिल्क?  इसे लेकर भी कई तरह के सवाल मन में उठते हैं। अगर आपके मन को भी यही सवाल परेशान करता है तो अब परेशान होना छोड़ दीजिए। आज हम आपको बताते हैं कि बच्चे की ग्रोथ और हेल्थ के लिए कौन सा दूध सबसे बेहतर है और किस उम्र में कितनी मात्रा में दूध पीना चाहिए।  

0 से 1 साल
इस उम्र के बच्चों को गाय, भैंस या पैकेट का दूध नहीं देना चाहिए। इनके लिए मां का दूध सबसे अच्छा होता है। किसी वजह से मां फीड नहीं करा सकती तो बच्चों को फॉर्मूला मिल्क दे सकते हैं। 0-6 महीने तक के बच्चे को 600 मिली दूध रोजाना देना चाहिए। वहीं 6 महीने से 1 साल के बच्चे को एक से सवा लीटर रोजाना दूध पिलाना चाहिए। 

0 से 1 साल
इस उम्र के बच्चों को गाय, भैंस या पैकेट का दूध नहीं देना चाहिए। इनके लिए मां का दूध सबसे अच्छा होता है। किसी वजह से मां फीड नहीं करा सकती तो बच्चों को फॉर्मूला मिल्क दे सकते हैं। 0-6 महीने तक के बच्चे को 600 मिली दूध रोजाना देना चाहिए। वहीं 6 महीने से 1 साल के बच्चे को एक से सवा लीटर रोजाना दूध पिलाना चाहिए। 

1 से 2 साल
इस उम्र में बच्चों के ब्रेन का विकास होता हैं। इस दौरान बच्चों को ज्यादा फैट वाली डाइट की जरूरत होती है, इसलिए फुल क्रीम मिल्क देना चाहिए। इनके लिए दिन में 3-4 कप दूध जरूरी है।

1 से 2 साल
इस उम्र में बच्चों के ब्रेन का विकास होता हैं। इस दौरान बच्चों को ज्यादा फैट वाली डाइट की जरूरत होती है, इसलिए फुल क्रीम मिल्क देना चाहिए। इनके लिए दिन में 3-4 कप दूध जरूरी है।

2 से 3 साल
2 से 3 साल के बच्चों को रोजाना दो से तीन कप दूध देना चाहिए। इस दौरान बच्चों को खाने के लिए दूध से बनी चीजें देनी चाहिए।
 

2 से 3 साल
2 से 3 साल के बच्चों को रोजाना दो से तीन कप दूध देना चाहिए। इस दौरान बच्चों को खाने के लिए दूध से बनी चीजें देनी चाहिए।
 

4-8 साल
इस उम्र के बच्चों को ढाई से तीन कप दूध देना चाहिए। साथ ही दूध से बनी चीज जैसे- पनीर, दही रोजाना देना जरूरी है।

4-8 साल
इस उम्र के बच्चों को ढाई से तीन कप दूध देना चाहिए। साथ ही दूध से बनी चीज जैसे- पनीर, दही रोजाना देना जरूरी है।

9 साल से ज्यादा
9 साल से बड़े बच्चों को रोजाना करीब तीन से चार कप दूध या दूध से बने हुए उत्पाद जैसे- दही, पनीर आदि देना चाहिए। इस उम्र के बच्चों को करीब 3000 कैलरी की जरूरत होती है। 

9 साल से ज्यादा
9 साल से बड़े बच्चों को रोजाना करीब तीन से चार कप दूध या दूध से बने हुए उत्पाद जैसे- दही, पनीर आदि देना चाहिए। इस उम्र के बच्चों को करीब 3000 कैलरी की जरूरत होती है। 

कैल्शियम और हड्डियों की मजबूती के लिए दूध जरूरी है। एक ग्लास फुल क्रीम दूध में 146 कैलरी, 8 ग्राम फैट होता है । वहीं टोंड दूध में 102 कैलरी और 2 ग्राम सैचुरेटेड फैट होता है। स्किम्ड मिल्क में 83 कैलरी होती है, इसमें फैट नहीं होता।
 

कैल्शियम और हड्डियों की मजबूती के लिए दूध जरूरी है। एक ग्लास फुल क्रीम दूध में 146 कैलरी, 8 ग्राम फैट होता है । वहीं टोंड दूध में 102 कैलरी और 2 ग्राम सैचुरेटेड फैट होता है। स्किम्ड मिल्क में 83 कैलरी होती है, इसमें फैट नहीं होता।
 

डॉक्टर्स का मानना हैं कि छोटे बच्चों के लिए गाय और भैंस के दूध से भी ज्यादा फायदेमंद पाउडर मिल्क होता है। ऐसा इसलिए क्योंकि गाय या भैंस के दूध में मिलावट की जा सकती है। लेकिन यदि आप अपने सामने गाय या भैंस का दूध निकलवाकर लाते हैं तो आप बच्चे को यह दूध पीला सकते हैं। 

डॉक्टर्स का मानना हैं कि छोटे बच्चों के लिए गाय और भैंस के दूध से भी ज्यादा फायदेमंद पाउडर मिल्क होता है। ऐसा इसलिए क्योंकि गाय या भैंस के दूध में मिलावट की जा सकती है। लेकिन यदि आप अपने सामने गाय या भैंस का दूध निकलवाकर लाते हैं तो आप बच्चे को यह दूध पीला सकते हैं। 

बच्चों के लिए कहा जाता है कि गाय का दूध ज्यादा बेहतर होता है। ऐसा इसलिए क्योंकि भैंस के दूध में गाय के दूध के मुकाबले ज्‍यादा फैट होता है।

बच्चों के लिए कहा जाता है कि गाय का दूध ज्यादा बेहतर होता है। ऐसा इसलिए क्योंकि भैंस के दूध में गाय के दूध के मुकाबले ज्‍यादा फैट होता है।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios