Asianet News Hindi

Republic Day 2021: दुश्मनों के छक्के छुड़ा सकते हैं भारत के लड़ाकू विमान, वायुसेना की ताकत देख डरती है दुनिया

First Published Jan 26, 2021, 8:07 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

हटके डेस्क : 26 जनवरी को भारत अपना 72वां गणतंत्र दिवस (republic day 2021) मना रहा है। साल 1950 में देश के प्रथम प्रधानमंत्री डॉ. राजेन्द्र प्रसाद ने संविधान पारित किया था। इस दिन राजपथ पर आयोजित परेड में देश के विभिन्न राज्यों की झांकियां निकलती हैं। परेड (Parade) में जब आसमान में भारतीय वायुसेना के जांबाज सैनिक करतब दिखाते हैं, तो वह दृश्य देखने लायक होता है। बता दें कि भारतीय वायुसेना दुनिया की चौथी सबसे बड़ी वायुसेना है। इसके पास 900 से ज्यादा लड़ाकू और 1720 हवाई जहाज है। तो चलिए आज हम आपको बताते हैं कि वो कौन से फाइटर जेट्स भारत के पास है, जिससे हमारी सेना की ताकत दोगुनी हो जाती हैं।

राफेल
सबसे पहले बात करते है भारतीय वायुसेना में पहली बार शामिल हुए राफेल (Rafale) की। बता दें कि 5 राफेल लड़ाकू विमानों को 10 सिंतबर को अंबाला (हरियाणा) में भारतीय वायु सेना में शामिल किया गया था। मीटिअर मिसाइल के साथ राफेल जेट एशिया का सबसे ताकतवर लड़ाकू विमान है। राफेल में मीका मिसाइल है जिसे हवा से लॉन्च की जा सकती है। राफेल के सेना के बेड़े में शामिल होने से चीन और पाकिस्तान बौखलाए हुए हैं।

राफेल
सबसे पहले बात करते है भारतीय वायुसेना में पहली बार शामिल हुए राफेल (Rafale) की। बता दें कि 5 राफेल लड़ाकू विमानों को 10 सिंतबर को अंबाला (हरियाणा) में भारतीय वायु सेना में शामिल किया गया था। मीटिअर मिसाइल के साथ राफेल जेट एशिया का सबसे ताकतवर लड़ाकू विमान है। राफेल में मीका मिसाइल है जिसे हवा से लॉन्च की जा सकती है। राफेल के सेना के बेड़े में शामिल होने से चीन और पाकिस्तान बौखलाए हुए हैं।

सुखोई एसयु-30 एमकेआई
भारतीय वायुसेना के पास 272 सुखोई एसयु-30 एमकेआई (Sukhoi Su-30MKI) हैं। इनमें से कुछ एयरक्राफ्ट को सुपरसोनिक मिसाइल ब्रह्मोस को लॉन्च करने के लिए भी अपग्रेड किया गया है। यह लड़ाकू विमान अपनी तेज गति के लिए जाना जाता है। ये  2,100 किलोमीटर प्रति घंटा की तेज रफ्तार हवा में दौड़ता है।

सुखोई एसयु-30 एमकेआई
भारतीय वायुसेना के पास 272 सुखोई एसयु-30 एमकेआई (Sukhoi Su-30MKI) हैं। इनमें से कुछ एयरक्राफ्ट को सुपरसोनिक मिसाइल ब्रह्मोस को लॉन्च करने के लिए भी अपग्रेड किया गया है। यह लड़ाकू विमान अपनी तेज गति के लिए जाना जाता है। ये  2,100 किलोमीटर प्रति घंटा की तेज रफ्तार हवा में दौड़ता है।

तेजस
इंडियन एयरफोर्स में 5 साल पहले 2016 में एलसीए तेजस (LCA Tejas) को शामिल किया गया था। मौजूदा समय में  भारतीय वायुसेना में अभी 20 तेजस हैं, जबकि 40 तेजस एयरक्राफ्ट का ऑर्डर दिया जा चुका है। इसकी सबसे बड़ी ताकत एयर टू एयर मिसाइल, लेजर गाइडेड मिसाइल और मेक इन इंडिया अस्त्र मिसाइल है।

तेजस
इंडियन एयरफोर्स में 5 साल पहले 2016 में एलसीए तेजस (LCA Tejas) को शामिल किया गया था। मौजूदा समय में  भारतीय वायुसेना में अभी 20 तेजस हैं, जबकि 40 तेजस एयरक्राफ्ट का ऑर्डर दिया जा चुका है। इसकी सबसे बड़ी ताकत एयर टू एयर मिसाइल, लेजर गाइडेड मिसाइल और मेक इन इंडिया अस्त्र मिसाइल है।

जगुआर
एसईपीईसीएटी जगुआर (SEPECAT Jaguar)एक सुपरसोनिक लड़ाकू विमान है। इसमें हाई-विंग होने के कारण ये कम ऊंचाई पर उड़ता है। इस विमान में कई हथियार लोड़ हो सकते हैं, इसलिए जंग के दौरान हथियारों को ले जाने में इसका उपयोग होता है। यह विमान 1,700 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से उड़ सकता है और जमीन पर अटैक करने की क्षमता रखता है। 

जगुआर
एसईपीईसीएटी जगुआर (SEPECAT Jaguar)एक सुपरसोनिक लड़ाकू विमान है। इसमें हाई-विंग होने के कारण ये कम ऊंचाई पर उड़ता है। इस विमान में कई हथियार लोड़ हो सकते हैं, इसलिए जंग के दौरान हथियारों को ले जाने में इसका उपयोग होता है। यह विमान 1,700 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से उड़ सकता है और जमीन पर अटैक करने की क्षमता रखता है। 

मिराज 2000 
मिराज 2000 (Dassault Mirage 2000) मल्टीरोल, सिंगल इंजन और सिंगल सीटर वाला जेट है, इसकी रफ्तार 2,495 किलोमीटर प्रति घंटा है। 26 फरवरी 2019 को भारत ने पाकिस्तान के जैश-ए-मोहम्मद कैंप को इस लड़ाकू विमान की मदद से ही बम से उड़ाया था। भारतीय वायुसेना में अभी 57 मिराज 2000 जेट शामिल हैं। 

मिराज 2000 
मिराज 2000 (Dassault Mirage 2000) मल्टीरोल, सिंगल इंजन और सिंगल सीटर वाला जेट है, इसकी रफ्तार 2,495 किलोमीटर प्रति घंटा है। 26 फरवरी 2019 को भारत ने पाकिस्तान के जैश-ए-मोहम्मद कैंप को इस लड़ाकू विमान की मदद से ही बम से उड़ाया था। भारतीय वायुसेना में अभी 57 मिराज 2000 जेट शामिल हैं। 

मिग 29
कारगिल युद्ध के दौरान पाकिस्तानी सेना को धूल चटाने में मिग -29 (MIG-29) फाइटर प्लेन ने काफी मदद की थी। इस फाइटर जेट की रफ्तार 2,445 किलोमीटर प्रति घंटा है। भारतीय वायुसेना में अभी 69 मिग-29 जेट प्लेन हैं। मिग-29 विमान को अपग्रेड कर दिया गया है। इंडियन एयरफोर्स के पास मिग - 21, मिग -27 भी हैं।

मिग 29
कारगिल युद्ध के दौरान पाकिस्तानी सेना को धूल चटाने में मिग -29 (MIG-29) फाइटर प्लेन ने काफी मदद की थी। इस फाइटर जेट की रफ्तार 2,445 किलोमीटर प्रति घंटा है। भारतीय वायुसेना में अभी 69 मिग-29 जेट प्लेन हैं। मिग-29 विमान को अपग्रेड कर दिया गया है। इंडियन एयरफोर्स के पास मिग - 21, मिग -27 भी हैं।

मिग - 21
मिग-21 (MIG-21) एक हल्का सिंगल पायलट लड़ाकू विमान है। ये 18 हजार मीटर तक की ऊंचाई पर उड़ सकता है। इसकी स्पीड अधिकतम 2,230 किलोमीटर प्रति घंटा है। ये आसमान से आसमान में मार करने वाली मिसाइलों के साथ-साथ और बम ले जा सकने में सक्षम है।

मिग - 21
मिग-21 (MIG-21) एक हल्का सिंगल पायलट लड़ाकू विमान है। ये 18 हजार मीटर तक की ऊंचाई पर उड़ सकता है। इसकी स्पीड अधिकतम 2,230 किलोमीटर प्रति घंटा है। ये आसमान से आसमान में मार करने वाली मिसाइलों के साथ-साथ और बम ले जा सकने में सक्षम है।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios