Asianet News Hindi

1000 रॉकेट के बदले इजराइल ने 600 एयरस्ट्राइक कीं, 83 की मौत; इनमें हमास के 9 कमांडर भी शामिल

First Published May 13, 2021, 5:11 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

यरुशलम. इजराइल और फिलिस्तीन के बीच विवाद जंग में बदलता जा रहा है। इजराइल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू ने इस्लामिक संगठन हमास की सीजफायर की अपील को ठुकरा दिया। इससे पहले इजराइल की ओर से गाजा पट्टी पर भारी बमबारी की गई। सोमवार से अब तक इजराइल की ओर से 600 एयरस्ट्राइक की गई हैं। इसमें हमास का बेस तबाह हो गया। साथ ही हमास के 9 कमांडर भी ढेर हो गए। 

मारे गए कमांडर्स में हमास के इंटेलिजेंस चीफ और मिसाइल डिजाइनर भी शामिल है। इससे पहले हमास ने इजराइल की राजधानी तेल अवीव, एश्केलोन और होलोन शहर को निशाना बनाते हुए 1000 राकेट दागे थे। इसमें कई इजराइलियों की मौत हो गई थी। इन हमलों के बाद रूस के विदेश मंत्रालय के हवाले से हमास ने सीजफायर की अपील की थी। 

मारे गए कमांडर्स में हमास के इंटेलिजेंस चीफ और मिसाइल डिजाइनर भी शामिल है। इससे पहले हमास ने इजराइल की राजधानी तेल अवीव, एश्केलोन और होलोन शहर को निशाना बनाते हुए 1000 राकेट दागे थे। इसमें कई इजराइलियों की मौत हो गई थी। इन हमलों के बाद रूस के विदेश मंत्रालय के हवाले से हमास ने सीजफायर की अपील की थी। 

नेतन्याहू ने ठुकराई अपील
लेकिन नेतन्याहू ने इसे ठुकरा दिया। उन्होंने कसम खाई है कि उनकी सेना एक लंबे ऑपरेशन के लिए प्रतिबद्ध हैं और बड़ी ताकत के साथ जवाब देगा। वहीं, नेतन्याहू के कैबिनेट मंत्री ने कहा, अभियान अभी भी जारी है। जो हमने अभी तक नहीं किया था, वह अब हम करेंगे। यह 6 महीने या 1 साल तक भी जारी रहेंगे। 

नेतन्याहू ने ठुकराई अपील
लेकिन नेतन्याहू ने इसे ठुकरा दिया। उन्होंने कसम खाई है कि उनकी सेना एक लंबे ऑपरेशन के लिए प्रतिबद्ध हैं और बड़ी ताकत के साथ जवाब देगा। वहीं, नेतन्याहू के कैबिनेट मंत्री ने कहा, अभियान अभी भी जारी है। जो हमने अभी तक नहीं किया था, वह अब हम करेंगे। यह 6 महीने या 1 साल तक भी जारी रहेंगे। 

उन्होंने इजराइली चैनल से कहा, जब हम सभी लक्ष्यों को निशाना बना चुके हैं और दूसरे पक्ष ने अभी भी आत्मसमर्पण नहीं किया है, तो हम एक जमीनी अभियान शुरू करेंगे। 

उन्होंने इजराइली चैनल से कहा, जब हम सभी लक्ष्यों को निशाना बना चुके हैं और दूसरे पक्ष ने अभी भी आत्मसमर्पण नहीं किया है, तो हम एक जमीनी अभियान शुरू करेंगे। 

किस देश ने क्या कहा?
उधर, अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडेन और ब्रिटिश पीएम बोरिस जॉनसन ने शांति की अपील की। उधर, तुर्की के राष्ट्रपति तैयब इरदुगान ने फिलिस्तीन का पक्ष लेते हुए कहा कि इजराइल को सबक सिखाने की जरूरत है। 

किस देश ने क्या कहा?
उधर, अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडेन और ब्रिटिश पीएम बोरिस जॉनसन ने शांति की अपील की। उधर, तुर्की के राष्ट्रपति तैयब इरदुगान ने फिलिस्तीन का पक्ष लेते हुए कहा कि इजराइल को सबक सिखाने की जरूरत है। 

इरदुगान ने रूस के राष्ट्र्रपति व्लादिमीर पुतिन से फोन कर कहा कि अंतरराष्ट्रीय समुदाय को इजराइल को एक सख्त और जरूरी सबक सिखाने की जरूरत है। इतना ही नहीं उन्होंने इस मामले में रूस से भी दखल देने की अपील की। 
 

इरदुगान ने रूस के राष्ट्र्रपति व्लादिमीर पुतिन से फोन कर कहा कि अंतरराष्ट्रीय समुदाय को इजराइल को एक सख्त और जरूरी सबक सिखाने की जरूरत है। इतना ही नहीं उन्होंने इस मामले में रूस से भी दखल देने की अपील की। 
 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios