Asianet News HindiAsianet News Hindi

MP में Corona के नए वेरिएंट Omicron को लेकर अलर्ट, CM शिवराज ने बच्चों से लेकर स्कूल तक के लिए ये निर्देश दिए

कोरोनावायरस (coronavirus) के नए वेरिएंट ऑमिक्रॉन (new variant omicron) को देखते हुए मध्य प्रदेश सरकार (MP government) अलर्ट हो गई है। रविवार को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (CM Shivraj Singh Chouhan) ने बैठक में कुछ अहम फैसले लिए हैं। शिवराज ने एक महीने के अंदर अंतरराष्ट्रीय उड़ानों के जरिए प्रदेश आए लोगों की जांच के निर्देश दिए हैं। साथ ही, संक्रमितों को आइसोलेशन में रखने की बात कही है।

MP government alerts new variant Corona Omicron CM Shivraj Singh Chouhan instructions in meeting UDT
Author
Bhopal, First Published Nov 28, 2021, 3:48 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

भोपाल। कोरोनावायरस (coronavirus) के नए वेरिएंट ऑमिक्रॉन (new variant omicron) को देखते हुए मध्य प्रदेश सरकार (MP government) अलर्ट हो गई है। रविवार को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (CM Shivraj Singh Chouhan) ने बैठक में कुछ अहम फैसले लिए हैं। शिवराज ने एक महीने के अंदर अंतरराष्ट्रीय उड़ानों के जरिए प्रदेश आए लोगों की जांच के निर्देश दिए हैं। साथ ही, संक्रमितों को आइसोलेशन में रखने की बात कही है। इसके अलावा स्कूलों को 50 फीसदी क्षमता के साथ खुलने के निर्देश दिए और कहा कि बच्चे स्कूल में पढ़ने सिर्फ 3 दिन ही जाएंगे। स्कूलों को ऑनलाइन क्लासेस चलाने के निर्देश जारी किए गए हैं।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा- कोविड के नए वेरिएंट के संबंध में आज बैठक कर कुछ फैसले किए हैं। हमने निर्देश दिए हैं कि एक महीने के अंदर अंतरराष्ट्रीय उड़ानों के जरिए जितने भी लोग प्रदेश में आए हैं, उनकी जांच करेंगे। अगर संक्रमित मिलते हैं तो उन्हें आइसोलेशन में रखेंगे। सीएम ने कहा- 18 साल के कम उम्र के बच्चों का कोविड टीकाकरण नहीं हुआ है, इसलिए कल से 50 फीसदी क्षमता के साथ स्कूल खुलेंगे। 6 दिन में से 3 दिन बच्चे स्कूल में पढ़ने जाएंगे। अभिभावकों की अनुमति से ही बच्चे स्कूल जाएंगे। ऑनलाइन कक्षाएं भी शुरू कर रहे हैं।

100% क्षमता से स्कूल खोलने का फैसला वापस
मुख्यमंत्री ने सीएम हाउस में स्वास्थ्य चिकित्सा विभाग के अफसरों के साथ बैठक की है। इसमें सरकार ने शत-प्रतिशत संख्या के साथ स्कूल खोलने के फैसले को वापस ले लिया है। सीएम ने कहा है कि शत-प्रतिशत संख्या के साथ स्कूल खोलना ठीक नहीं है। उन्होंने अफसरों को केंद्र सरकार और डब्ल्यूएचओ के निर्देशों का पालन करने के निर्देश दिए हैं। ऐसे सभी यात्रियों को ट्रेस किया जाएगा जो संदिग्ध हैं, उन्हें आइसोलेट किया जाए। मुख्यमंत्री ने जिलों में सैंपल की संख्या बढ़ाने का भी निर्देश दिया है। सभी अस्पतालों में जरूरी दवाइयों का स्टॉक रखने और ऑक्सीजन प्लांट के संचालन पर निगरानी रखने को कहा गया है।

फिर चलेगा महाअभियान
मुख्यमंत्री ने 1 दिसंबर को वैक्सीनेशन महाअभियान चलाने के निर्देश दिए हैं। प्रदेश में अब तक 62 फीसदी लोगों को कोरोना वैक्सीन का सेकंड डोज लग चुका है। लेकिन, अब सरकार इसकी संख्या बढ़ाने पर जोर देगी। कोरोना के नए वेरिएंट को लेकर मुख्यमंत्री 29 नवंबर को कमिश्नर कलेक्टर-कॉन्फ्रेंस में अफसरों से चर्चा करेंगे और जरूरी दिशा-निर्देश जारी करेंगे। मुख्यमंत्री ने 1 दिसंबर को जिला क्राइसिस कमेटियों की बैठक भी बुलाई है। इसमें मुख्यमंत्री जरूरी दिशा-निर्देश जारी कर सकते हैं। सरकार की तरफ से कोविड-19 को लेकर हटाई गई पाबंदियों को लेकर भी मुख्यमंत्री जिला क्राइसिस कमेटियों में चर्चा कर सकते हैं।

ओमीक्रॉन ने बढ़ाई टेंशन...
दक्षिण अफ्रीका में मिले कोरोना के नए वेरिएंट ओमिक्रॉन ने भारत समेत कई देशों की चिंता बढ़ा दी है। ओमिक्रॉन अब तक 8 देशों तक पहुंच गया है। इनमें दक्षिण अफ्रीका, इजराइल, हॉन्गकॉन्ग, बोत्सवाना, बेल्जियम, जर्मनी, चेक रिपब्लिक और ब्रिटेन शामिल हैं। ब्रिटेन में रविवार को ही ओमिक्रॉन के 2 केस आए हैं। जर्मनी में भी इस वेरिएंट ने अपने पैर पसारना शुरू कर दिया है। दक्षिण अफ्रीका ने 24 नवंबर को इस वेरिएंट की जानकारी दी थी। भारत ने 12 देशों के यात्रियों के लिए एयरपोर्ट पर जांच अनिवार्य कर दी है। वहीं, अमेरिका 8 दक्षिणी अफ्रीकी देशों से आने वाले यात्रियों पर प्रतिबंध लगाने की तैयारी में है।

शिवराज ने ये भी कहा...

  • मध्य प्रदेशवासियों से आग्रह है कि बिलकुल भी असावधान न रहें। संक्रमण फैलने से रोकने के लिए जो नियम हैं, उनका पालन अवश्य करें। सरकार कोई कसर नहीं छोड़ेगी। हमारी कोशिश रहेगी कि तीसरी लहर न आए।  - टेस्ट, कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग और अस्पताल ले जाने तथा चिकित्सा जैसी सभी व्यवस्था हम करेंगे। अफ्रीका और दूसरे देशों में जो यह नया वैरिएंट है, ज्यादा तेजी से फैलता है, ऐसे समाचार आ रहे हैं। इसलिए सावधानी आवश्यक है। - प्रमुख रूप से हमारे दो शहरों में भोपाल एवं इंदौर से ही कुछ पॉजिटिव प्रकरण आ रहे हैं। इनकी संख्या भी ऐसी नहीं है कि हमारे मन में डर पैदा करे, लेकिन सावधानी जरूरी है।
  • मेरा सभी प्रदेशवासियों से आग्रह है कि जागरुक रहें, मास्क लगायें और यथासंभव दूरी बनाये रखें, हाथ पहले की तरह साफ करते रहें। जरा भी लक्षण दिखे, तो तुरंत टेस्ट करवायें। #COVID19 #MPFightsCorona
  • मैं क्राइसिस मैनेजमेंट कमेटियों से 1 दिसंबर को चर्चा करूंगा। सबको हम तैयार रखेंगे कि तीसरी लहर आये, तो उससे पूरी क्षमता से लड़ सकें। बिना समाज के सहयोग के यह लड़ाई जीतना कठिन है। पिछली बार भी हम सबके सहयोग से जीते हैं।
  • मैं कल कलेक्टर्स, एसपी के साथ #COVID19 के संबंध में वीसी के माध्यम से बैठक एवं समीक्षा कर संबंधित सभी अधिकारियों एवं कर्मचारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दूंगा। प्रदेश पूरी तरह से अलर्ट पर रहेगा।  
  • कोरोना के नए वेरिएंट के विदेश में फैलने की सूचना है। अभी भारत में इसके मामले नहीं मिले हैं, लेकिन हमने मध्य प्रदेश में सतर्कता के लिए कुछ निर्णय लिए हैं। केंद्र सरकार की गाइडलाइन के साथ ही कुछ अतिरिक्त सावधानियां बरती जाएंगी।
  • अभिभावक यदि बच्चों को स्कूल न भेजना चाहें, तो उनके पास ऑनलाइन क्लास का विकल्प होना चाहिए। बच्चों को स्कूल भेजने के लिए अभिभावक की सहमति ही जरूरी होगी। यदि वह सहमत हैं, तो ही बच्चे स्कूल जाएंगे।
  • मध्य प्रदेश में 62.5% लोगों को #COVID19 संक्रमण से बचाव के टीके लगाये जा चुके हैं। प्रतिदिन टीका लगाया जा रहा है, लेकिन 1 दिसंबर को टीकाकरण का महाअभियान है। मैं सभी से आग्रह करता हूं कि जो सेकेंड डोज के लिए शेष बचे हैं, वे अपना टीकाकरण अवश्य करवा लें। 

 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios