दिल्ली आबकारी केस में सीबीआई करेगी तेलंगाना सीएम की बेटी कविता से पूछताछ, कई दिग्गज राजनीतिज्ञ हैं आरोपी

| Dec 06 2022, 07:50 PM IST

दिल्ली आबकारी केस में सीबीआई करेगी तेलंगाना सीएम की बेटी कविता से पूछताछ, कई दिग्गज राजनीतिज्ञ हैं आरोपी

सार

कविता, तेलंगाना की मुख्यमंत्री के.चंद्रशेखर राव की बेटी हैं। पूर्व में सीबीआई की नोटिस पर कविता ने आरोपों की कॉपी और अन्य डॉक्यूमेंट्स की मांग की थी।

CBI to interrogate K.Kavitha: दिल्ली आबकारी नीति केस में सीबीआई, टीआरएस एमएलसी के.कविता से पूछताछ करेगी। के.कविता से 11 दिसंबर को उनके हैदराबाद आवास पर पूछताछ किया जाएगा। कविता, तेलंगाना की मुख्यमंत्री के.चंद्रशेखर राव की बेटी हैं। पूर्व में सीबीआई की नोटिस पर कविता ने आरोपों की कॉपी और अन्य डॉक्यूमेंट्स की मांग की थी।

पहले छह दिसंबर को पूछताछ के लिए जारी की थी नोटिस

Subscribe to get breaking news alerts

टीआरएस एमएलसी व तेलंगाना की मुख्यमंत्री केसीआर की बेटी के.कविता को पहले सीबीआई ने छह दिसंबर को पूछताछ के लिए पेश होने की नोटिस जारी की थी। इस पर कविता ने सीबीआई को पत्र लिखकर कई सवाल किए थे। सीबीआई की नोटिस का जवाब देते हुए तेलंगाना के मुख्यमंत्री की बेटी कविता ने कहा कि केंद्रीय एजेंसी उन पर लगे आरोपों के संबंध में डॉक्यूमेंट्स व डिटेल उपलब्ध कराए ताकि वह जवाब दे सकें और निर्धारित समय के भीतर यह तय कर सकें कि सीबीआई के सामने कब पेश होना है। सीबीआई के अधिकारी को लिखे पत्र में उन्होंने कहा कि डॉक्यूमेंट्स मिलने के बाद एजेंसी के साथ उनकी मुलाकात की तारीख हैदराबाद में तय की जा सकती है। 

रिमांड रिपोर्ट में नाम आने के बाद सीबीआई हुई सक्रिय

आबकारी नीति केस में कथित रिश्वत पर ईडी ने दिल्ली की एक अदालत में रिमांड रिपोर्ट दायर किया है। ईडी की रिमांड रिपोर्ट में के.कविता का नाम भी है। सीबीआई ने बीते 25 नवम्बर को सात आरोपियों के खिलाफ पहला आरोप पत्र दायर किया था। आरोप के अनुसार विजय नायर ने आप नेताओं के लिए साउथ ग्रुप से कम से कम 100 करोड़ रुपये की रिश्वत ली थी। साउथ ग्रुप सरथ रेड्डी, के.कविता और मगुन्ता श्रीनिवासुलु रेड्डी द्वारा नियंत्रित किया जाता है।

क्या है आबकारी नीति करप्शन केस?

दिल्ली सरकार ने बीते साल नई आबकारी नीति लाई थी। दिल्ली आबकारी नीति के लागू होने के बाद आप सरकार पर भ्रष्टाचार के आरोप लगे थे। आरोप है कि इस नीति से डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने करीबियों को लाभ पहुंचाया है। इसके एवज में उनके खास लोगों के माध्यम से करोड़ों रुपयों का ट्रांसफर किया गया है। बीते दिनों दिल्ली के एलजी वीके सक्सेना ने इस मामले की सीबीआई जांच की सिफारिश की थी। गुरुवार को सीबीआई ने मनीष सिसोदिया समेत 15 लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया था। सीबीआई के एफआईआर में आरव गोपी कृष्णा, पूर्व उप आबकारी आयुक्त आनंद तिवारी और सहायक आबकारी आयुक्त पंकज भटनागर के अलावा नौ व्यवसायी और दो कंपनियों को नामजद किया गया है। सीबीआई ने एफआईआर में कुल नौ निजी व्यक्तियों को आरोपी बनाया है। मनोरंजन और इवेंट मैनेजमेंट कंपनी ओनली मच लाउडर के पूर्व सीईओ विजय नायर, ब्रिंडको स्पिरिट्स के मालिक अमनदीप ढाल, इंडोस्पिरिट के एमडी समीर महेंद्रू, महादेव लिकर्स के सन्नी मारवाह और हैदराबाद के अरुण रामचंद्र पिल्लई के अलावा अमित अरोड़ा, दिनेश अरोड़ा, अर्जुन पांडेय, पर्नोड रिकार्ड के पूर्व वाइस प्रेसिडेंट मनोज राय को नामजद किया गया है।

यह भी पढ़ें:

महाराष्ट्र-कर्नाटक सीमा विवाद: बेलगावी में प्रदर्शनकारियों ने महाराष्ट्र के नंबर वाले ट्रकों में की तोड़फोड़

पंचतीर्थ को विकसित कराने में अहम भूमिका रही थी पीएम मोदी की, डॉ.अंबेडकर से लगाव इन फोटोज से जानिए

महिलाओं के कपड़ों पर निगाह रखती थी ईरान की मॉरल पुलिस, टाइट या छोटे कपड़े पहनने, सिर न ढकने पर ढाती थी जुल्म

 

Related Stories