लंदन, ब्रिटेन. भारत में कोरोना की तीसरी लहर ने जनजीवन को बुरी तरह प्रभावित किया है। इसका अंतरराष्ट्रीय स्तर पर असर पड़ा है। भारत में कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए ब्रिटेन ने एक कड़ा फैसला लिया है। उसने भारत को रेड लिस्ट में डाल दिया है। यानी अब भारतीय अगले आदेश से भारतीय ब्रिटेन नहीं जा पाएंगे। स्वास्थ्य मंत्री मैट हैनकॉक ने 'हाउस ऑफ कॉमन्स' में इस बात की पुष्टि की है। स्वास्थ्य मंत्री ने सांसदों को बताया कि नए नियमों को हल्के में नहीं लिया जा सकता है। यह फैसला शुक्रवार से लागू हो जाएगा।

रेड लिस्ट का मतलब...
भारत को रेड लिस्ट में डालने के बाद अब कोई भी भारतीय अगले आदेश तक ब्रिटेन नहीं जा पाएगा। भारत के अलावा आइरिश नागरिकों को भी ब्रिटेन आने पर रोक लगा दी गई है। यही नहीं, विदेश से ब्रिटेन लौटने वाले स्वदेशी नागरिकों को भी 10 दिनों तक होटल में क्वारंटीन रहना होगा। स्वास्थ्य मंत्री मैट हैनकॉक के मुताबिक, ब्रिटेन में भारतीय कोरोना स्टेन के 103 मामले सामने आए हैं। इनमें से ज्यादातर विदेश से लौटे लोगों में मिले। ब्रिटेन यह पता लगाने की कोशिश कर रहा है कि यह नया स्वरूप कहीं चिंताजनक तो नहीं हैं। यह बड़े पैमाने पर तो नहीं फैलेगा या टीकाकरण में कोई दिक्कत पैदा हो।

ये भी पढ़ें-कोरोना का असर: हॉन्गकॉन्ग ने भारत को जोखिमवाले देशों की लिस्ट में रखा, 3 मई तक रोक दीं सभी उड़ानें

अमेरिका और पाकिस्तान ने भी उठाया कदम
पाकिस्तान सरकार ने अगले दो हफ्ते के लिए भारत से आने वाले यात्रियों पर रोक लगा दी है। वहां, अमेरिका ने भी अपने नागरिकों को भारत की यात्रा न करने की सलाह दी है। पाकिस्तान के नेशनल कमांड एंड ऑपरेशन सेंटर(NCOC) की बैठक में यह फैसला किया गया। पाकिस्तान ने भारत को कैटेगरी सी के देशों की लिस्ट में डाल दिया है। इसमें भारत सहित 23 देश हैं-दक्षिण अफ्रीका, बोत्सवाना, घाना, केन्या, कोमोरोस, मोजम्बिक, जाम्बिया, तंजानिया, रवांडा, ब्राजील, पेरू, कोलंबिया, चिली, एस्वातीनी, जिम्बाब्वे, लेसोथो,  मलावी, सेशेल्स, सोमालिया, सूरीनाम, उरुग्वे और वेनुजुएला। उधर, अमेरिका के सेंटर फॉर डिसीज कंट्रोल ने एक एडवाइजरी जारी करके कहा कि भारत में कोरोना के बढ़ते केस देखते हुए वहां की यात्रा से बचना चाहिए। अगर जाना जरूरी है, तो वैक्सीन लगवाकर जाएं।

भारत में एक्टिव केस 20 लाख से अधिक
बता दें कि भारत में कोरोना महामारी का असर व्यापक स्तर पर पड़ा है। पिछले 24 घंटे में भारत में 2.56 लाख नए केस आए हैं। अब तक 15 करोड़ से अधिक लोग इसकी चपेट में आ चुके हैं। भारत में पिछले 24 घंटे में 1,757 लोगों की मौत हो चुकी है। इस समय एक्टिव केस 20 लाख से अधिक हैं। ब्रिटेन के स्वास्थ्य मंत्री मैट हैनकॉक ने मीडिया को बताया कि आंकड़े देखते हुए भारत को रेड लिस्ट में डालने का कड़ा फैसला लेना पड़ा। उल्लेखनीय है कि कोरोना के मद्देनजर ही अगले सप्ताह होने वाली ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन की भारत यात्रा भी रद्द करनी पड़ी थी।

ये भी पढ़ें- केजरीवाल की अपील बेअसर, हजारों मजदूर दिल्ली से रवाना, आनंद विहार पहुंचे हजारों मजदूर, बस पकड़ने को अफरातफरी