नई दिल्ली। कोरोना की बेकाबू होती दूसरी लहर को नियंत्रित करने के लिए पीएम मोदी का पूरा दिन बैठकों और रणनीति बनाने में ही बीता। नौ दिन नवरात्रि रहने के बावजूद पीएम मोदी का मैराथन बैठकों का दौर जारी रहा। इसी दौरान उन्होंने बीजेपी की कोर टीम की भी बैठक की और महामारी में विश्व की सबसे बड़ी पार्टी के वर्कर्स से सहयोग का प्लान बनाया। 

वैक्सीनेशन की समीक्षा से शुरूआत
पीएम मोदी ने सबसे पहले देश में चल रहे वैक्सीनेशन कार्यक्रम की समीक्षा की। देश में तेजी से बढ़ रहे संक्रमण को देखते हुए वैक्सीनेशन में तेजी लाने के लिए आवश्यक कदम उठाने पर जोर दिया गया।

फिर राज्यों के मुख्यमंत्रियों से बातचीत की

वैक्सीनेशन कार्यक्रम की समीक्षा के बाद पीएम मोदी ने राज्यों के मुख्यमंत्रियों से बातचीत की। राज्य में कोरोना संक्रमण और उसके रोकथाम में आ रही परेशानियों से अवगत होने के साथ साथ राज्यों की मांगों संबंधित जानकारियां ली। आवश्यक उपाय सुझाए।

पश्चिम बंगाल में रैलियों का आकार छोटा करने का निर्णय
मुख्यमंत्रियों की बैठक के बाद पीएम मोदी ने भारतीय जनता पार्टी के कोर कमेटी की बैठक की। बैठक में कोरोना महामारी को देखते हुए पश्चिम बंगाला चुनावों में रैलियों का आकार छोटा किए जाने का सुझाव दिया। उन्होंने कहा कि बीजेपी रैली में 500 से अधिक लोग न बुलाएं जाए और सोशल डिस्टेंसिंग का पूर्णरूप से पालन कराया जाए।

संगठन की बैठक के बाद डाॅक्टर्स से की बातचीत

पीएम मोदी ने शाम को देशभर के डाॅक्टर्स से बातचीत की। डाॅक्टर्स व पैरामेडिकल स्टाॅफ से वीडियो कांफ्रेंसिंग कर उनके कार्याें की तारीफ की और अनुभवों को साझा किया। पीएम मोदी ने डाॅक्टर्स से कहा कि उनके बल पर पिछली बार महामारी से देश जीता था, इस बार भी उनके सहयोग से हम कोरोना को हराएंगे। 

फार्मा कंपनियों से बातचीत कर मेडिसिन्स प्रोडक्शन बढ़ाने पर चर्चा

पीएम मोदी ने देर शाम को फार्मा कंपनियों के प्रतिनिधियों से वार्ता की। उनसे दवाइयों, आवश्यक इंजेक्शन व अन्य जरूरी मेडिकल एड की त्वरित आपूर्ति की जानकारी ली। हर तरह से प्रोडक्शन बढ़ाने में सहयोग का आश्वासन दिया। 

इंफ्रास्ट्रक्चर्स की समीक्षा की
फार्मा कंपनियों से वार्ता के बाद उन्होंने कोविड महामारी से बचाव के लिए राज्यों में उपलब्ध इंफ्रास्ट्रक्चर्स की समीक्षा की। उन्होंने आक्सीजन सप्लाई, मेडिसिन्स, इंजेक्शन की उपलब्धता के बारे में जानकारी हासिल की। 

राज्यों में आईसीयू और बेड्स की क्षमता बढ़ाने पर विचार
इसके बाद पीएम मोदी ने एक और बैठक की। बैठक में उन्होंने कोविड महामारी को देखते हुए आईसीयू व बेड्स की क्षमता बढ़ाने पर विचार-विमर्श किया। उन्होंने बिना देर किए आईसीयू व बेड्स की क्षमता बढ़ाए जाने संबंधी निर्देश भी दिए। 

बीजेपी कार्यकर्ताओं को सेवा में लगने की अपील
पीएम मोदी ने बीजेपी कार्यकर्ताओं को इस महामारी में बूथस्तर पर सेवाभाव से लगने की अपील की। उन्होंने कहा कि बीजेपी कैडर इस महामारी में जनसेवा में आगे आए।