Asianet News Hindi

'यास' का सामना करने ओडिशा और बंगाल में हाईअलर्ट, 160 किमी/घंटा की स्पीड से चल सकती हैं तूफानी हवाएं

अंडमान के उत्तरी भाग और पूर्वी-मध्य बंगाल की खाड़ी में बना कम दबाव का क्षेत्र आज चक्रवाती तूफान 'यास' में बदल सकता है। इसे लेकर ओडिशा और पश्चिम बंगाल में हाईअर्ट जारी किया गया है। इसका असर 28 या 29 मई तक देखने को मिल सकता है। तूफान का सामना करने ओडिशा और पश्चिम बंगाल के अलावा इन राज्यों से सटे अन्य इलाकों को भी अलर्ट जारी किया गया है। कई ट्रेनें रद्द कर दी गई है। वहीं, NDRF के 950 से अधिक जांबाज और 26 हेलिकॉप्टर को स्टैंडबाय पर रखा गया है।

High alert continues in Odisha and West Bengal due to cyclonic storm Yaas kpa
Author
New Delhi, First Published May 24, 2021, 9:37 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली. अंडमान के उत्तरी भाग और पूर्वी-मध्य बंगाल की खाड़ी में एक नए चक्रवाती तूफान यास की आहट हो चुकी है। IMD के वैज्ञानिक राजेंद्र कुमार जेनामनी के मुताबिक, यह तूफान 25 या 26 मई को पश्चिम बंगाल और ओडिशा के तटों से टकराएगा। इसका असर इन दो राज्यों के अलावा झारखंड और बिहार में भी दिखाई देगा। कुछ राज्यों यूपी, दिल्ली,हरियाणा, मध्य प्रदेश, चंडीगढ़ और राजस्थान आदि में मौसम बदलेगा। इन राज्यों में हवाओं की गति 25 से 30 किमी/घंटा रहने की आशंका है। यास उत्तर और उत्तर-पश्चिम की ओर बढ़ रहा है। अगले 24 घंटे में यह भयंकर चक्रवाती तूफान में बदल सकता है। भारत मौसम विज्ञान विभाग की प्रमुख सुनीता देवी के अनुसार इसके असर से उत्तर और दक्षिण गोवा में भी हल्की बारिश हो सकती है। स्काईमेट वेदर की मानें तो यास का असर 48 घंटे तक रहेगा।

160 की स्पीड से चलेंगी हवाएं
IMD भुवनेश्वर के वरिष्ठ वैज्ञानिक उमाशंकर दास ने बताया-25 मई तक यह बहुत तीव्र चक्रवाती तूफान में बदल सकता है। इसके पाराद्वीप और सागर द्वीप के बीच तट को छूने की संभावना है। खासकर पाराद्वीप और धामरा के लिए चेतावनी जारी की गई है। लैंडफॉल प्रक्रिया के दौरान जगतसिंहपुर, केंद्रपाड़ा, भद्रक और बालेस्वर में हवा की गति 150-160 किलोमीटर प्रति घंटा रहेगी। इनके लिए चेतावनी जारी की गई है। पुरी, कटक, जासपुर और मयूरभंज में हवा की गति 120-130 किलोमीटर प्रति घंटा रहेगी।

तूफान से निपटने की तैयारियां...

  • यास से निपटने कोलकाता में 74 पंपिंग स्टेशनों की जांच की गई है। ओडिशा के 8 जिलों में रेड अलर्ट जारी किया गया है। तूफान से निपटने NDRF के अलावा एयरफोर्स भी तैयार है। नौसेना ने भी मोर्चा संभाल रखा है। इस बीच दक्षिण रेलवे के बाद पूर्वी रेलवे ने भी कई ट्रेनों को रद्द कर दिया है। 
  • इसका असर 28 या 29 मई तक देखने को मिल सकता है। तूफान का सामना करने ओडिशा और पश्चिम बंगाल के अलावा इन राज्यों से सटे अन्य इलाकों को भी अलर्ट जारी किया गया है। कई ट्रेनें रद्द कर दी गई है। वहीं, NDRF के 950 से अधिक जांबाज और 26 हेलिकॉप्टर को स्टैंडबाय पर रखा गया है। इससे पहले रविवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने तूफान के मद्देनजर एक समीक्षा बैठक की थी। 
  • पश्चिम बंगाल के गवर्नर जगदीप धनखड़ ने तूफान से निपटने की तैयारियों के बीच नेवी के अफसरों के साथ मीटिंग की।

  • गृह मंत्री अमित शाह ने वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए ओडिशा, आंध्र प्रदेश, पश्चिम बंगाल के मुख्यमंत्रियों और अंडमान और निकोबार द्वीप समूह के उपराज्यपाल के साथ बैठक करके चक्रवात यास को लेकर तैयारियों की समीक्षा की। 

  • बांग्लादेश में सरकार ने 75,000 से ज्यादा स्वयंसेवकों को तैयार किया है। बांग्लादेश की रेड क्रिसेंट सोसाइटी के चक्रवात तैयारी कार्यक्रम (सीपीपी) के स्वयंसेवक तटीय क्षेत्रों के 13 जिलों के 41 उपनगरों में स्टैंडबाय पर हैं, ताकि एक कॉल पर उन्हें बुलाया जा सके।

यह भी पढ़ें 

पीएम मोदी ने साइक्लोन ‘यास’ से निपटने की तैयारियों का किया रिव्यू, बोले-लोगों को सबसे पहले सुरक्षित निकाला जाए
Yaas Cyclone: डेढ़ सौ किमी प्रतिघंटा से भी अधिक स्पीड से गुजरेगा तूफान, सेना हाई अलर्ट पर
चक्रवाती तूफान 'यास' के चलते कई ट्रेनें रद्द, देखें लिस्ट, ओडिशा और बंगाल में हाईअलर्ट

 

CycloneYaas pic.twitter.com/LVm3nHofTh

 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios