Asianet News Hindi

अटल टनल के उद्घाटन के 72 घंटे के भीतर 3 एक्सीडेंट हुए, लापरवाही बन रही बड़ी समस्या

हिमाचल के रोहतांग में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 10000 फीट पर दुनिया की सबसे लंबी सुरंग अटल टनल का 3 अक्टूबर को उद्घाटन किया था। उद्घाटन के 72 घंटे के भीतर टनल में तीन एक्सीडेंट हुए हैं। यात्रियों की लापरवाही प्रशासन के लिए बड़ी चुनौती बन रही है।

Newly opened Atal Tunnel witnesses three accidents in 72 hours KPP
Author
New Delhi, First Published Oct 6, 2020, 9:14 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

हिमाचल. हिमाचल के रोहतांग में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 10000 फीट पर दुनिया की सबसे लंबी सुरंग अटल टनल का 3 अक्टूबर को उद्घाटन किया था। उद्घाटन के 72 घंटे के भीतर टनल में तीन एक्सीडेंट हुए हैं। यात्रियों की लापरवाही प्रशासन के लिए बड़ी चुनौती बन रही है। 

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, कुछ वाहन चालक 80 किमी प्रति घंटे की अधिकतम स्पीड लिमिट का ध्यान नहीं रख रहे हैं, तो कुछ बीच रास्ते में सेल्फी खींचने के लिए रुक जाते हैं। 

बीआरओ के चीफ इंजीनियर ब्रिगेडियर केपी पुरुषोत्तम ने मीडिया को बताया कि पीएम मोदी द्वारा 3 अक्टूबर को उद्घाटन के 72 घंटे के भीतर टनल में तीन एक्सीडेंट हुए। उन्होंने कहा, एक्सीडेंट की सीसीटीवी फुटेज देखने से पता चलता है कि यात्रियों और वाहन चालकों द्वारा नियमों का उल्लंघन करने से ऐसा हुआ। 

पुलिस को तैनात करने की मांग 
बीआरओ ने टनल में पुलिस तैनात करने की मांग की है। कुल्लू के एसपी गौरव सिंह ने बताया कि पुलिस ने डॉपलर रडार लगाया है, जो सुरंग में ओवर स्पीडिंग बताएगा। इसके अलावा बीआरओ ने अगले दो महीनों तक सुरंग के अंदर डीजल, पेट्रोल, रसोई गैस और केरोसिन जैसी ज्वलनशील वस्तुओं को ले जाने वाले वाहनों पर प्रतिबंध लगा दिया है।

मनाली से लेह की दूरी घटी
यह टनल मनाली लेह से जोड़ती है। इसके बनने के बाद दोनों जगहों की दूरी 46 किमी कम हो गई है। टनल के इस्तेमाल से चार घंटे का सफर कम हो गया है। इस टनल में हर 60 मीटर पर सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं। टनल में हर 500 मीटर पर इमरजेंसी एग्जिट गेट हैं। इसके अलावा टनल के अंदर पाइप लाइन भी है। अगर टनल में आग लगने जैसी कोई घटना हो जाती है, तो इसपर तुरंत काबू पाया जा सकता है। 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios