Asianet News HindiAsianet News Hindi

ओमीक्रोन की दहशत के बीच न्यूयॉर्क में लग सकता है लॉकडाउन, भारतीय विशेषज्ञ बोले- फ्रंटलाइनर्स को बूस्टर डोज दें

कोरोना का दक्षिण अफ्रीकी वैरिएंट (Sourth African) खतरनाक होता जा रहा है। इसे देखते हुए वैज्ञानिकों ने चेतावनी दी है कि यह महामारी (Pandemic) के एक और चरण में तबाही ला सकता है। उधर, हार्ट और कार्डियोथोरेसिक सर्जन डॉ. नरेश त्रेहन (Dr. Naresh Trahan) का कहना है कि फ्रंटलाइन वर्कर्स को अब बूस्टर डोज देने का समय आ गया है। 

Omicron new york governor Lockdown emergency expert warns another pandemic Booster dose
Author
New York, First Published Nov 28, 2021, 9:47 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली। कोरोना के खतरनाक स्वरूप ओमीक्रोन (Omicron) की दहशत दुनियाभर में है। न्यूयॉर्क में इसे लेकर आपालकाल (emergency) की घोषणा कर दी गई। अमेरिका (America) के मिशिगन में पहले से मामले बढ़ रहे हैं। इस बीच इटली और जर्मनी में भी ओमीक्रोन वैरिएंट (Omicron Variant) के मामले मिले हैं। विशेषज्ञों का कहना है कि यह वैरिएंट बेहद चिंताजनक है और 'महामारी 2.0' लाने के साथ तबाही मचा सकता है। भारत में मेदांता के चेयरमैन डॉ. नरेश त्रेहन (Dr. Naresh Trehan) का कहना है कि अब फ्रंटलाइन वर्कर्स को बूस्टर डोज देने का सही समय है, क्योंकि उन्हें दोनों डोज लगे हुए करीब 9 महीने हो गए हैं। उन्होंने लोगों से कहा कि उन्हें पहले ही तरह सावधानी बरतनी शुरू कर देनी चाहिए, न कि इम्युनटी के भरोसे रहना चाहिए। उन्होंने कहा कि आशंका है कि कहीं यह नया वैरिएंट वैक्सीन (Vaccine) से मिली रोग प्रतिरोधक क्षमता (Immunity) पर हावी न हो जाए। उन्होंने अंतरराष्ट्रीय उड़ानों पर पाबंदी लगाने की बात कही है।

अमेरिका में सख्ती शुरू
उधर, डेलीमेल की खबर के मुताबिक विशेषज्ञों ने अमेरिका से यात्रा प्रतिबंध (Travel Ban) करने की बात कही है। अमेरिका ने म्यूटेंट स्ट्रेन ओमीक्रोन को आने से रोकने के लिए आठ दक्षिणी अफ्रीकी देशों की उड़ानों पर प्रतिबंध लगा दिया है, जो सोमवार से लागू होगा। शुक्रवार रात दक्षिण अफ्रीका से एक फ्लाइट नीदरलैंड्स में उतरी, जिसमें दर्जनों लोग ओमीक्रोन से संक्रमित थे। सभी यात्रियों को क्वारंटीन कर दिया गया है और उनका टेस्ट किया जा रहा है।

3 दिसंबर से लग सकता आंशिक लॉकडाउन!
एम्पायर स्टेट की गवर्नर कैथी होचुल होचुल बताती हैं कि ओमीक्रोन वैरिएंट का यहां कोई मामला नहीं है, लेकिन बावजूद इसके एहतियात जरूरी है। सीडीसी भी ऐसे मामलों का पता लगा रही है।। यदि मामले बढ़े तो 3 दिसंबर से सभी गैर-जरूरी कार्यक्रम स्थगित किए जा सकतेहैं। अगर किसी अस्पताल के पास 10 फीसदी से कम स्टाफ बेड क्षमता है तो उसे गैर-जरूरी या वैकल्पिक सुविधाओं को रद्द करने की अनुमति दी जाएगी। 

इटली और जर्मनी में मिले कोविड के नए वैरिएंट 
इटली और जर्मनी में कोरोना वायरस संक्रमण के नए स्वरूप ओमीक्रोन के मामलों की पुष्टि हुई है। इटली की समाचार एजेंसी ला प्रेसे ने बताया कि अफ्रीकी देश मोजाम्बिक से लौटा व्यक्ति ओमीक्रोन वैरिएंट से संक्रमित पाया गया है। वह एक कारोबारी है और 11 नवंबर को नेपल्स के निकट स्थित अपने घर लौटा था। उसके परिवार के 5 सदस्य भी वायरस के नए स्वरूप से संक्रमित पाए गए हैं जिनमें दो स्कूली बच्चे में भी शामिल हैं।  सभी में संक्रमण के हल्के लक्षण हैं। इसके अलावा मिलान के सैको अस्पताल और इटली के राष्ट्रीय स्वास्थ्य संस्थान ने भी व्यक्ति के ओमीक्रोन स्वरूप से संक्रमित होने की पुष्टि की है और कहा कि उसे टीके की दोनों डोज लग चुकी थी। 
जर्मनी में म्यूनिख के मैक्स वोन पेट्टेनकोफर इंस्टीट्यूट ने भी 24 नवंबर को दक्षिण अफ्रीका से लौटे दो यात्रियों के ओमीक्रोन स्वरूप से संक्रमित होने की पुष्टि की है। जर्मनी की समाचार एजेंसी ने संस्थान के प्रमुख ओलिवर केपलर के हवाले से बताया कि संक्रमितों के नमूनों का आनुवंशिकी अनुक्रमण कराया जाना बाकी है लेकिन यह निसंदेह साबित हो चुका है कि वे वायरस के इसी स्वरूप से संक्रमित हैं। जर्मनी ने यह भी कहा कि उसे तीन लोगों के इस स्वरूप से संक्रमित होने का संदेह है जबकि इटली, दक्षिण अफ्रीका से आए और संक्रमण के शिकार हुए मामलों की जांच कर रहा है। 

 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios