Asianet News Hindi

जम्मू कश्मीर के लोगों को भी मिलेगा 5 लाख तक का हेल्थ कवर, पीएम मोदी लॉन्च करेंगे PMJAY-SEHAT योजना

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शनिवार को यानी 26 दिसंबर को आयुष्मान भारत के पीएमजय सेहत योजना की शुरुआत करेंगे। इस योजना के तहत जम्मू कश्मीर के लोगों को भी 5 लाख रुपए तक हेल्थ कवर मिल पाएगा। पीएम मोदी का यह कार्यक्रम वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए होगा।

PM Modi to launch Ayushman Bharat PM JAY SEHAT to extend coverage to all residents of J&K on 26 December KPP
Author
New Delhi, First Published Dec 24, 2020, 7:57 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

श्रीनगर. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शनिवार को यानी 26 दिसंबर को आयुष्मान भारत के पीएमजय सेहत योजना की शुरुआत करेंगे। इस योजना के तहत जम्मू कश्मीर के लोगों को भी 5 लाख रुपए तक हेल्थ कवर मिल पाएगा। पीएम मोदी का यह कार्यक्रम वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए होगा। इस योजना के तहत जम्मू कश्मीर में सभी व्यक्तियों और समुदायों को गुणवत्ता और सस्ती आवश्यक स्वास्थ्य सेवाएं मिल पाएंगी। इस कार्यक्रम में जम्मू कश्मीर के राज्यपाल मनोज सिन्हा भी मौजूद रहेंगे। 

इस योजना के तहत जम्मू-कश्मीर के सभी निवासियों को फ्री में बीमा कवर मिलेगा। इससे केंद्र शासित राज्य जम्मू कश्मीर में सभी नागरिकों को परिवार के इलाज के लिए 5 लाख रुपए तक का बीमा कवर मिलेगा। परिचालन विस्तार के लिए अतिरिक्त परिवारों के लिए लगभग 15 लाख अधिक मिलेंगे। 

जम्मू-कश्मीर के लिए ऐतिहासिक क्षण
जम्मू कश्मीर के सूचना और जनसंपर्क विभाग के मुताबिक, SEHAT योजना का मतलब है सोशल एंडेवर फॉर हेल्थ एंड टेलीमेडिसिन। यह केंद्रशासित राज्यों के लिए स्वास्थ्य बीमा योजना है। जनसंपर्क विभाग ने इसे ऐतिहासिक क्षण बताया। 
 
इस बीमा योजना का लाभ जम्मू कश्मीर के लोग पूरे देश में ले सकेंगे। PM-JAY योजना के तहत सूचीबद्ध अस्पताल इस योजना के तहत भी सेवाएं प्रदान करेंगे।

क्या है आयुष्मान भारत योजना ?
2018 में मोदी सरकार ने इस योजना की शुरुआत की थी। इसके तहत गरीब लोगों को सालाना 5 लाख रुपए का स्वास्थ्य बीमा उपलब्ध करवाया जाता है। आयुष्मान योजना से जुड़े लाभार्थी प्राइवेट अस्पतालों में भी 5 लाख तक का मुफ्त इलाज करवा सकते हैं। इस योजना के लिए किसी को एक भी पैसा नहीं देना होता। आयुष्मान भारत दुनिया की सबसे बड़ी स्वास्थ्य आश्वासन योजना है। इसका उद्देश्य 50 करोड़ लाभार्थियों को स्वास्थ्य सेवाएं मुहैया कराना है, जो भारतीय आबादी का 40% हैं। 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios