Asianet News HindiAsianet News Hindi

राष्ट्रीय शिक्षा नीति: 29 जुलाई को एजुकेशन कम्युनिटी को संबोधित करेंगे पीएम मोदी, कई योजनाओं को करेंगे लांच

प्रधानमंत्री एकेडमिक बैंक ऑफ क्रेडिट को लांच करेंगे। यह हायर एजुकेशन में छात्रों के लिए कई एंट्री और एक्जिट का ऑप्शन देगा। 

PM Modi to launch multiple key initiatives to mark the first anniversary of National Education Policy 2020 pwa
Author
New Delhi, First Published Jul 28, 2021, 1:41 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली. राष्ट्रीय शिक्षा नीति (National Education Policy) लागू होने का एक साल पूरा होने पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 29 जुलाई 2021 को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से देश भर में शिक्षा और कौशल विकास के क्षेत्र में नीति निर्माताओं, छात्रों और शिक्षकों को संबोधित करेंगे। वह शिक्षा के क्षेत्र में कई नई पहल भी शुरू करेंगे।  इस मौके पर केंद्रीय शिक्षा मंत्री भी मौजूद रहेंगे।

इसे भी पढ़ें- GOOD NEWS: अगले साल मार्च तक लॉन्च होगा चंद्रयान-3; लोकसभा में मंत्री जितेंद्र सिंह ने दी जानकारी


प्रधानमंत्री एकेडमिक बैंक ऑफ क्रेडिट को लांच करेंगे। यह हायर एजुकेशन में छात्रों के लिए कई एंट्री और एक्जिट का ऑप्शन देगा। क्षेत्रीय भाषाओं में इंजीनियरिंग कार्यक्रम के फर्स्ट ईयर और हायर एजुकेशन के लिए अंतर्राष्ट्रीयकरण के लिए गाइडलाइन होगी।  

पीएमओ ने बताया कि लांच किए जाने वाली इनिशिएटिव  में विद्या प्रवेश, ग्रेड 1 के छात्रों के लिए तीन महीने का नाटक आधारित स्कूल तैयारी मॉड्यूल भी शामिल है। माध्यमिक स्तर पर एक विषय के रूप में भारतीय सांकेतिक भाषा NISHTHA 2.0, NCERT द्वारा डिज़ाइन किया गया शिक्षक प्रशिक्षण का एक एकीकृत कार्यक्रम। सफल (सीखने के स्तर के विश्लेषण के लिए संरचित मूल्यांकन), सीबीएसई स्कूलों में ग्रेड 3, 5 और 8 के लिए एक योग्यता आधारित मूल्यांकन ढांचा और आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस को समर्पित एक वेबसाइट है।

इसके अलावा नेशनल डिजिटल शिक्षा वास्तुकला (National Digital Education Architecture) और राष्ट्रीय शिक्षा प्रौद्योगिकी मंच (National Education Technology Forum) भी शामिल हैं। ये पहल राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 के लक्ष्यों की प्राप्ति की दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम होगी और शिक्षा क्षेत्र को अधिक जीवंत और सुलभ बनाएगी।

इसे भी पढ़ें- UPSC Interview: कौन सा ऐसा फल है जो बाजार में नहीं मिलता, माइंड को घुमा देने वाले सवाल का जान लीजिए जवाब


राष्ट्रीय शिक्षा नीति-2020 एक आत्मानिर्भर भारत के लिए मजबूत नींव साबित होगी। यह 21वीं सदी की पहली शिक्षा नीति है और 34 साल पुरानी राष्ट्रीय शिक्षा नीति (एनपीई), 1986 की जगह लाई गई है। यह नीति सतत विकास के लिए 2030 एजेंडा और इसका उद्देश्य भारत को एक जीवंत ज्ञान समाज और वैश्विक ज्ञान महाशक्ति में बदलना है, जो स्कूल और कॉलेज शिक्षा दोनों को अधिक समग्र, लचीला, बहु-विषयक, 21वीं सदी की जरूरतों के अनुकूल और प्रत्येक छात्र की अद्वितीय क्षमताओं को सामने लाने के उद्देश्य से बना रहा है।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios