Asianet News Hindi

क्योंकि शो मस्ट गो ऑन...ऑक्सीजन सपोर्ट पर भी देश को जागरूक करते रहे डाॅ.केके अग्रवाल

पद्मश्री डाॅ.केके अग्रवाल कोरोना काल में काफी सक्रिय थे। 62 वर्षीय डाॅ.अग्रवाल देश के जाने माने काॅर्डियोलाॅजिस्ट थे। वह वर्तमान में हार्ट केयर फाउंडेशना आॅफ इंडिया के अध्यक्ष थे। इंडियन मेडिकल एसोसिएशन के अध्यक्ष भी रह चुके हैं। साल 2010 में उनको पद्मश्री से सम्मानित किया गया था। 

the untold story of famous cardiologist Dr.K K Aggrawal whose Covid awareness benefits crores DHA
Author
New Delhi, First Published May 18, 2021, 5:55 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली। देश के प्रख्यात काॅर्डियोलाॅजिस्ट पद्मश्री डाॅ.केके अग्रवाल जीवन की सांस तक कोविड के खिलाफ मजबूत अभियान चलाते रहे। 17 मई को उन्होंने अंतिम सांस ली। लेकिन महामारी के दौरान अपने वीडियोज से उन्होंने करोड़ों लोगों को जागरूक किया। वैक्सीनेशन के बाद भी जब खुद कोविड के चपेट में आए तो ऑक्सीजन सपोर्ट पर रहते हुए कोरोना पर लोगों को जागरूक करते रहे। 

वैक्सीन की दोनों डोज लगाने के बाद हो गए थे संक्रमित

पद्मश्री डाॅ.केके अग्रवाल कोरोना काल में काफी सक्रिय थे। 62 वर्षीय डाॅ.अग्रवाल देश के जाने माने काॅर्डियोलाॅजिस्ट थे। वह वर्तमान में हार्ट केयर फाउंडेशना आॅफ इंडिया के अध्यक्ष थे। इंडियन मेडिकल एसोसिएशन के अध्यक्ष भी रह चुके हैं। साल 2010 में उनको पद्मश्री से सम्मानित किया गया था। 

ऑनलाइन लोगों की मदद कर रहे थे

कोरोना की दूसरी लहर में जब पूरे देश में महामारी अपने पीक पर थी तो डाॅ.केके अग्रवाल लोगों को वीडियोज और ऑनलाइन माध्यमों पर जागरूक करने में जुटे थे। कोविड से संबंधित जानकारियां देते हुए कई एजुकेशनल कार्यक्रम भी उन्होंने चलाया। यह क्रम उनके कोविड संक्रमित होने और ऑक्सीजन सपोर्ट पर रहने के दौरान भी जारी रहा।

क्योंकि.....शो मस्ट गो ऑन...

डाॅ.अग्रवाल ने वैक्सीन की दोनों डोज ले ली थी। इसके बावजूद उनको कोविड संक्रमण हो गया। संक्रमित होने पर उनका लोगों के साथ ऑनलाइन क्लास जारी रहा। वीडियो शेयर करते हुए डाॅ.अग्रवाल ने कहा-‘मैं संक्रमण से गुजर रहा हूं। मुझे कोविड निमोनिया हो गया है। यह बढ़ रहा है। वह दी ग्रेट शो मैन राजकपूर के शब्दों को दोहराते हुए कहते हैं कि ‘द शो मस्ट गो ऑन...पिक्चर अभी बाकी है।’ 
डाॅ.अग्रवाल ने कहा कि लोग राजकपूर को शो मैन मानते हैं लेकिन मैं उनको धरती का सबसे प्रैक्टिकल इंसान मानता हूं। शो मस्ट गो ऑन। मेरे जैसे लोग ऑक्सीजन पर भी क्लासेस लेंगे और लोगों की जान बचाने की कोशिश करेंगे। 

लोगों को वैक्सीनेशन के लिए करते रहे प्रेरित, निकालते रहे डर

डाॅ.केके अग्रवाल कोविड महामारी में अफरातफरी से भी लोगों को बचाते रहे। वह लगातार लोगों को कोविड में क्या करना चाहिए, क्या नहीं। कब क्या कदम उठाएं...यह सब बातें वीडियोज के माध्यम से लोगों तक पहुंचाते रहे। यही नहीं जब खुद कोविड की चपेट में आए तो उन्होंने अपने अनुभव साझा करते हुए कहा कि मैं वैक्सीन की दोनों डोज ले चुका हूं। कोरोना अगर वैक्सीनेशन के बाद हुआ है तो वह गंभीर रूप धारण नहीं कर सकेगा। वैक्सीनेशन से डरिए मत, यह कोरोना से बचाता है। 
 

Asianet News का विनम्र अनुरोधः आईए साथ मिलकर कोरोना को हराएं, जिंदगी को जिताएं... जब भी घर से बाहर निकलें माॅस्क जरूर पहनें, हाथों को सैनिटाइज करते रहें, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें। वैक्सीन लगवाएं। हमसब मिलकर कोरोना के खिलाफ जंग जीतेंगे और कोविड चेन को तोडेंगे। #ANCares #IndiaFightsCorona

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios