Asianet News HindiAsianet News Hindi

सेक्स टॉयज का करते है इस्तेमाल? तो हो जाए सावधान! इससे बढ़ सकती ये गंभीर समस्या

शारीरिक संबंध को और ज्यादा मजेदार और रोमांचक बनाने के लिए कई कपल्स सेक्सटॉयज का इस्तेमाल करते हैं। लेकिन क्या आप जानते हैं कि यह सेक्सटॉयज आपकी सेहत के लिए बेहद नुकसानदायक हो सकते हैं।

What are the sex toys, how it can effect internal body part dva
Author
First Published Nov 4, 2022, 10:15 PM IST

रिलेशनशिप डेस्क : आपने टीवी पर या एडल्ट फिल्मों में कई ऐसी अजीबोगरीब चीजें देखी होंगी जो ज्यादातर शारीरिक संबंध बनाने के दौरान इस्तेमाल की जाती है, इसे सेक्सटॉयज कहा जाता है। खासकर सिंगल महिलाएं और पुरुष का सबसे ज्यादा इस्तेमाल करते हैं। हालांकि, शादीशुदा लोग भी अपनी सेक्स लाइफ को और एंटरटेनिंग और रोमांचक बनाने के लिए इन सेक्सटॉयज का उपयोग करते हैं। भारत में तो भारतीय दंड संहिता की धारा 292 के तहत इस तरह के सेक्स टॉयज खरीदने या बेचने पर पाबंदी है। लेकिन फिर भी कई जगह इसका इस्तेमाल किया जाता है और विदेशों में सेक्स टॉयज का उपयोग बहुत ज्यादा ही होता है। लेकिन क्या आप जानते हैं इन सेक्सटॉयज का उपयोग करने से आपकी सेहत पर बुरा असर पड़ सकता है और आपके इंटिमेट एरिया में इंफेक्शन से लेकर कई गंभीर समस्या भी हो सकती है। तो चलिए आज हम आपको बताते हैं इन सेक्स टॉयज इस्तेमाल करने के नुकसान...

क्या होते हैं सेक्स टॉयज 
सेक्स टॉयज में अलग-अलग प्रकार की चीजें शामिल होती है। जिसमें डिल्डो, वाइब्रेटर, बट्ट प्लग, हथकड़ी, रोलप्ले कॉस्टयूम, व्हिप्स आदि कुछ शामिल होता है। शारीरिक संबंध बनाने के दौरान इन चीजों का इस्तेमाल किया जाता है, जो आपके मूड को और ज्यादा बढ़ाता है। खासकर जो लोग सिंगल होते हैं और जिनके पास कोई पार्टनर नहीं होता है वह इस तरह की सेक्स टॉयज का बहुत ज्यादा उपयोग करते हैं।

सेक्सटॉयज से होने वाले नुकसान 
संक्रमण का खतरा 

यदि कोई व्यक्ति नियमित रूप से सेक्सटॉयज का इस्तेमाल करता है और इसकी सफाई पर ध्यान नहीं देता है, तो इससे संक्रमण का खतरा बढ़ जाता है, क्योंकि शरीर से निकलने वाला तरल पदार्थ अगर सही तरीके से साफ ना हो तो इससे यौन संक्रमण हो सकता है।

एचआईवी का खतरा 
एक-दूसरे के साथ सेक्सटॉयज शेयर करने से एचआईवी, एड्स जैसी यौन जनित बीमारियों का खतरा बहुत ज्यादा बढ़ जाता है। ऐसे में कभी भी अपने सेक्स टॉयज किसी और के साथ शेयर नहीं करनी चाहिए और अगर आप भी इसका इस्तेमाल करते हैं तो इसे अच्छी तरह से साफ करके ही करें।

जलन और सूजन 
चूंकि, सेक्स टॉयज अलग-अलग मटेरियल से बने होते हैं और प्राइवेट पार्ट में इनका इस्तेमाल करने से आपको एलर्जी हो सकती है। इससे इंटिमेट एरिया में जलन, सूजन या रेडनेस हो सकती है, इसलिए आपको सेक्सटॉयज का इस्तेमाल करने से बचना चाहिए।

कैंसर के खतरे को बढ़ावा 
जी हां, जो लोग नियमित रूप से सेक्सटॉयज का इस्तेमाल करते हैं उन लोगों में कैंसर होने की संभावनाएं भी ज्यादा बढ़ जाती हैं। एक अध्ययन से पता चला है कि सेक्स टॉयज बनाने में इस्तेमाल की गई कुछ चीजों में कैंसर कारक गुण पाए जाते हैं, जो लोग बहुत ज्यादा सेक्स टॉयज का इस्तेमाल करते हैं उन्हें कैंसर जैसी गंभीर बीमारी हो सकती है।

घाव बनाएं 
सेक्सटॉयज जैसे बट्ट प्लग और डिल्डो कई बार शरीर के अंदर ही फस जाते हैं जिन्हें निकालने के लिए डॉक्टर की मदद लेनी पड़ती है। इससे आपके इंटिमेट एरिया में घाव बन सकते हैं।

यौन संवेदनाएं कम करें 
एक रिसर्च में इस बात का खुलासा हुआ है कि सेक्स वाइब्रेटर जैसे सेक्स टॉय का इस्तेमाल करने से इंटिमेट एरिया में सुन्नता आ जाती है, जिससे यौन संवेदनाएं कम हो जाती है। खासकर अगर महिलाएं इस तरह के सेक्स टॉयज का उपयोग करती है तो उन्हें शारीरिक संबंध बनाने के दौरान ज्यादा संवेदनाएं नहीं होती है।

और पढ़ें: यहां दूसरे की पत्नी को चुराकर पुरुष बनाते हैं संबंध, तो इस जगह पर बुढ़ी महिलाएं नौजवान के साथ करती हैं SEX

सर्दी में सबसे ज्यादा परेशान करती हैं फटी एड़िया,बस रोज रात में लगाए इन 5 चीजों में से एक, फिर देखें कमाल

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios