नई दिल्ली. भारत में कोरोना संक्रमितों की संख्या में लगातार वृद्धि हो रही है। इस बीच एक डायग्नोस्टिक फर्म के हेड ने कहा कि पहली की तुलना में कोरोना की दूसरी लहर युवाओं के लिए ज्यादा खतरनाक है। जेनस्ट्रिंग्स डायग्नोस्टिक की फाउंडर डॉक्टर गौरी अग्रवाल गौरी अग्रवाल ने कहा कि कोरोना संक्रमित लोगों में लक्षण, पहली लहर की तुलना में अलग हैं।

बिना बुखार भी मिल रहें कोरोना संक्रमित

उन्होंने बताया कि मुंह का सूखना, गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल इश्यू, उल्टी, आंख लाल होना और सिरदर्द शामिल है। गौरी अग्रवाल ने कहा कि इस बार बहुत से युवा कोरोना पॉजिटिव हो रहे हैं। कई को मुंह सूखने, आंख लाल होने और सिरदर्द की शिकायत है। इनमें से कईयों को बुखार की समस्या नहीं आई। उन्होंने कहा, कोरोना टेस्टिंग बढ़ गई है। होम आइसोलेशन के मामले भी बढ़े हैं।

24 घंटे में करीब 3 लाख केस सामने आए हैं

भारत में पिछले 24 घंटे में COVID-19 के 2,73,810 नए मामले आने के बाद कुल पॉजिटिव मामलों की संख्या 1,50,61,919 हुई। 1,619 नई मौतों के बाद कुल मौतों की संख्या 1,78,769 हो गई है। देश में सक्रिय मामलों की कुल संख्या 19,29,329 है और डिस्चार्ज हुए मामलों की कुल संख्या 1,29,53,821  है। भारत में कल तक कोरोना वायरस के लिए कुल 26,78,94,549 सैंपल टेस्ट किए जा चुके हैं, जिनमें से 13,56,133 सैंपल कल टेस्ट किए गए। देश में कुल 12,38,52,566 लोगों को कोरोना वायरस की वैक्सीन लगाई गई है।