Asianet News HindiAsianet News Hindi

Navmi Ke Upay: 4 अक्टूबर को महा नवमी पर करें ये 9 उपाय, हर संकट होगा दूर और चमकेगी किस्मत

Sharadiya Navratri 2022: 4 अक्टूबर, मंगलवार को शारदीय नवरात्रि का अंतिम दिन है। इस दिन देवी सिद्धिदात्री की पूजा की जाती है। धर्म ग्रंथों में इस तिथि का विशेष महत्व बताया गया है। इसलिए इसे महा नवमी भी कहा जाता है।
 

Sharadiya Navratri 2022 Navami Remedies When is Navami 2022 Navami Remedies MMA
Author
First Published Oct 4, 2022, 6:15 AM IST

उज्जैन. शारदीय नवरात्रि (Sharadiya Navratri 2022) का पर्व ज्योतिषिय दृष्टिकोण से भी काफी महत्वपूर्ण होता है। इन 9 दिनों में किए गए उपाय व तंत्र-मंत्र जल्दी सिद्ध हो जाते हैं। यही कारण है इन 9 दिनों में देवी के मंदिरों में भक्तों की भीड़ उमड़ती है। नवरात्रि की अंतिम तिथि यानी नवमी को बहुत ही खास माना जाता है। मान्यता है कि इस दिन किए गए उपाय हर कामना पूरी कर सकते हैं क्योंकि इस तिथि पर देवी सिद्धिदात्री की पूजा की जाती है जो हर इच्छा पूरी करने वाली हैं। इस बार 4 अक्टूबर, मंगलवार को शारदीय नवरात्रि की अंतिम तिथि है। आगे जानिए इस दिन आप कौन-कौन से उपाय कर सकते हैं…

1. नवरात्रि की नवमी तिथि पर 9 कन्याओं को घर बुलाकर भोजन करवाएं और अपनी इच्छा अनुसार उन्हें कुछ उपहार देकर विदा करें। इससे देवी की कृपा आप पर हमेशा बनी रहेगी।
2. नवमी तिथि पर देवी को सुहाग की सामग्री भेंट करें। जिसमें लाल चुनरी, चूड़ियां, मेहंदी, बिछिया आदि चीजें होना चाहिए। इससे आपका सुहाग अखंड बना रहेगा।
3. किसी गरीब और जरूरतमंद महिला को नए वस्त्र उपहार में दें। साथ ही कच्ची भोजन सामग्री जैसे गेहूं, चावल, दाल आदि भी दान करें। इस उपाय से आपकी हर परेशानी दूर हो सकती है।
4. अगर आप कन्या भोज करवाने में सक्षम नहीं है तो मिठाई या चॉकलेट भी बच्चों को बांट सकते हैं।
5. किसी देवी मंदिर में लाल झण्डा दान करें। इससे मंगल ग्रह से संबंधित दोष दूर होंगे।
6. आस-पास स्थित किसी देवी मंदिर में जाकर या तो स्वयं चोला चढ़ाएं या पुजारी को चोले का सामान, जिसमें सिंदूर, तेल, चांदी का वर्क आदि चीजें हों, देकर आएं।
7. वृद्धाश्रम में रहने वाले निराश्रित बुजुर्गों के लिए भोजन की व्यवस्था करें या कच्चा अनाज दान करें। देवी को प्रसन्न करने का ये अचूक उपाय है।
8. किसी ब्राह्मण स्त्री को घर बुलाकर भोजन करवाएं और सुहाग की सामग्री भेंट करें।
9. देवी को यथाशक्ति यानी जितना हो सके लाल फल जैसे सेव का भोग लगाएं। बाद में इसे गरीबों को बांट दें। इससे आप पर देवी की कृपा बनी रहेगी। 

 

ये भी पढ़ें-

navratri kanya pujan vidhi: कितनी उम्र की लड़कियों को बुलाएं कन्या पूजा में? जानें इससे जुड़ी हर बात और नियम

Dussehra 2022: 5 अक्टूबर को दशहरे पर 6 शुभ योगों का दुर्लभ संयोग, 3 ग्रह रहेंगे एक ही राशि में

Dussehra 2022: ब्राह्मण पुत्र होकर भी रावण कैसे बना राक्षसों का राजा, जानें कौन थे रावण के माता-पिता?
 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios