Asianet News HindiAsianet News Hindi

अलीगढ़: हिंदी न पढ़ाने के सवाल पर स्कूल प्रशासन ने उठाया ऐसा कदम, DM ने दिए जांच के आदेश

अलीगढ़ के एक स्कूल में हिंदी न पढ़ाने के सवाल को लेकर नर्सरी क्लास की छात्रा को स्कूल से बाहर निकाल दिया है। जिसके बाद छात्रा के पिता ने मामले की शिकायत डीएम से कर दी है। डीएम ने मामले की जांच कर कार्रवाई के आदेश दिए हैं।

Aligarh school administration took such a step on question of not teaching Hindi DM ordered an inquiry
Author
First Published Aug 29, 2022, 5:43 PM IST

अलीगढ़: उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ जिले में सवाल पूछने पर एक बच्ची को स्कूल से निकाल दिया गया। दरअसल, यह मामला किला रोड स्थित इस्लामिक मिशन स्कूल का है। जहां पर मोहम्मद आमिर नामक व्यक्ति ने अपनी बेटी का एडमिशन इस्लामिक मिशन स्कूल में करवाया था। छात्रा के पिता ने स्कूल प्रशासन से सवाल किया कि स्कूल में बच्ची को हिंदी क्यों नहीं पढ़ाई जा रही है। इस पर स्कूल प्रशासन ने उन्हें कोई जवाब नहीं दिया। बल्कि नर्सरी क्लास में पढ़ रही बच्ची को स्कूल से निकाल दिया। जिसके बाद छात्रा के परिजनों ने डीएम कार्यालय पर मामले की शिकायत दी है।

पिता के सवाल पूछने पर बेटी को स्कूल से निकाला
छात्रा के पिता मोहम्मद आमिर के अनुसार, करीब 6 महीने पहले उन्होंने अपनी बेटी का इस्लामिक मिशन स्कूल में नर्सरी में दाखिला करवाया था। उसके बाद बच्ची को हिंदी न पढ़ाने पर वह स्कूल पहुंच गए और स्कूल प्रशासन से सवाल किया कि आखिर बच्चे को हिंदी क्यों नहीं पढ़ाई जा रही है और छात्रा का होमवर्क क्यों नहीं चेक किया जा रहा था। स्कूल में बच्ची का कैसा परफॉर्मेंस है। इन सब सवालों के बदले में उन्हें स्कूल प्रशासन की ओर से कोई भी जवाब नहीं दिया गया।

साल में दो बार होता है राष्ट्रगान
मोहम्मद आमिर ने आरोप लगाते हुए कहा कि सवाल पूछने पर स्कूल संचालक ने उनसे कहा कि स्कूल में आपसे पूछकर नहीं पढ़ाया जाएगा। इस बात का विरोध करने पर वह उन पर बदसलूकी करने का आरोप लगाने लगा और हिंदी न पढ़ाने की बात को लेकर उनकी बेटी को स्कूल से निकाल दिया। छात्रा के पिता ने बताया कि स्कूल में न तो राष्ट्रगान होता है और न ही बच्चों को हिंदी पढ़ाई जाती है। स्कूल के इस रवैये को लेकर छात्रा के पिता ने डीएम को लिखित शिकायत पत्र सौंपते हुए कहा कि स्लामिक मिशन स्कूल में साल में दो बार 26 जनवरी और 15 अगस्त को राष्ट्रगान करवाया जाता है। 

पिता ने डीएम से की मामले की शिकायत
मामले की जानकारी मिलते ही डीएम ने अधिकारियों को जांच के आदेश दिए हैं। जिसके बाद छात्रा के पिता ने आरोप लगाते हुए कहा कि जब डीएम से शिकायत करने पर जब स्कूल में जांच शुरू हो गई तो स्कूल संचालक ने उनसे कहा कि आप फीस के पैसे वापस ले लो और अपनी बेटी का दाखिला किसी दूसरे स्कूल में करवा लो जाकर। जिला अधिकारी इंद्र विक्रम सिंह ने मामले पर संज्ञान लेते हुए फौरन बेसिक शिक्षा अधिकारी को जांच कर कार्रवाई के आदेश दिए हैं।

अलीगढ़ में दबंगों ने बुजुर्ग पति-पत्नी और बेटे को बेरहमी से पीटा, ग्रामीणों ने पुलिस पर लगाया गंभीर आरोप
 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios