Business News

जिम में लग जाए चोट या बिजली का झटका, सबकुछ कवर करेगा ये बीमा

Image credits: Getty

पर्सनल एक्सीडेंट इंश्योरेंस क्यों खास

पर्सनल एक्सीडेंट इंश्योरेंस, रेगुलर हेल्थ इंश्योरेंस से अलग है। इसमें एक्सीडेंट बाद की चीजें कवर होती हैं। जैसे- विकलांगता या मौत कि स्थिति। जो रेगुलर हेल्थ पॉलिसी में नहीं होता है

Image credits: Freepik

पर्सनल एक्सीडेंट इंश्योरेंस क्या होता है

पर्सनल एक्सीडेंट इंश्योरेंस में रोड एक्सीडेंट ही नहीं कई दुर्घटनाएं कवर होती हैं। जिम में चोट, करंट लगने, गैस सिलेंडर ब्लास्ट, पानी में डूबने या आग लगने जैसे हादसे कवर होते हैं

Image credits: Freepik

पर्सनल एक्सीडेंट इंश्योरेंस कवरेज

इलाज का खर्च, मौत होने पर फैमिली को एकमुश्त भुगतान, अस्थायी पूर्ण विकलांगता, स्थायी पूर्ण विकलांगता, आंशिक विकलांगता, इनकम का नुकसान, बच्चों की पढ़ाई जैसे खर्च कवर होते हैं।

Image credits: Freepik

इंश्योरेंस से पहले क्या करें

पर्सनल एक्सीडेंट इंश्योरेंस पॉलिसी लेने से पहले चेक कर लें कि आप जो काम करते हैं, उससे होने वाले हादसे इसमें वकर हो रही है या नहीं। आपका काम रिस्की है तो पॉलिसी में कवर होना चाहिए।

Image credits: Freepik

इंटरनेशनल कवरेज है या नहीं

पर्सनल एक्सीडेंट इंश्योरेंस पॉलिसी लेने से पहले यह भी चेक करें कि अगर आप रेगुलर तौर पर विदेश जाते हैं तो उसमें इंटरनेशनल कवरेज मिल रहा है या नहीं।

Image credits: Freepik

कवरेज की रकम पर ध्यान दें

अपनी इनकम और हेल्थ को देखते हुए बीमा पॉलिसी लेना चाहिए। कवरेज की रकम पर्याप्त होनी चाहिए ताकि पॉलिसी होल्डर्स के साथ कुछ अनहोनी पर खुद या फैमिली के लिए पर्याप्त राशि मिल सके।

Image credits: Freepik

फ्रॉड से बचें

इंश्योरेंस पॉलिसी लेते समय किसी लुभावने ऑफर्स के चक्कर में न आएं। पॉलिसी की शर्तों, डिस्क्लेमर्स पढ़े बिना उसे न लें, क्योंकि ऐसा करने में अपना ही नुकसान है, सही कवरेज नहीं मिलेगी।

Image credits: Freepik