Education

जानिए 4 इंजीनियरों ने कैसे लीक किये यूपी RO, ARO एग्जाम क्वेश्चन पेपर

Image credits: social media

यूपी समीक्षा अधिकारी, सहायक समीक्षा अधिकारी परीक्षा पेपर लीक

यूपी समीक्षा अधिकारी, सहायक समीक्षा अधिकारी पद के लिए 11 फरवरी को आयोजित परीक्षा पेपर लीक प्रिंटग प्रेस, प्रयागराज के बिशप जॉनसन गर्ल्स हाई स्कूल और कॉलेज में हुआ था।

Image credits: social media

प्रिंटिंग प्रेस से पहली पेपर लीक, चारों साजिशकर्ता इंजीनियर

पहला लीक भोपाल की प्रिंटिंग प्रेस में हुआ।जहां राजीव नयन मिश्रा ने प्रिंटिंग प्रेस कर्मचारी, सुनील रघुवंशी, विशाल दुबे, सुभाष प्रकाश के साथ मिलकर साजिश रची थी। चारों  इंजीनियर हैं।

Image credits: social media

दूसरी लीक परीक्षा से कुछ घंटे पहले स्कूल में

स्कूल में दूसरी लीक परीक्षा से कुछ घंटे पहले हुई। देखरेख कर रहे अर्पित विनीत यशवंत ने प्रश्न पत्र की तस्वीरें लीं। इस मामले में अर्पित समेत पांच को गिरफ्तार किया गया है।

Image credits: social media

कैसे मिले चारों आरोपी

विशाल दुबे के माध्यम से राजीव नयन मिश्रा की मुलाकात सुनील रघुवंशी से हुई। सुनील प्रिंटिंग प्रेस में काम करता था, विशाल और सुभाष इंजीनियरिंग कॉलेजों में एडमिशन की व्यवस्था करते थे।

Image credits: social media

सुनील रघुवंशी को दी रिश्वत

जब विशाल को पता चला कि उसका क्लासमेट प्रिंटिंग वाली जगह पर काम करता है तो उसने राजीव मिश्रा को जानकारी दी। उन्होंने सुनील रघुवंशी को प्रश्नपत्र सौंपने के लिए रिश्वत दी।

Image credits: social media

10 लाख रुपये की मांग

जब आरओ, एआरओ का प्रश्नपत्र प्रिंटिंग प्रेस में आया तो सुनील ने अन्य लोगों को इसकी जानकारी दी। उन्होंने उन्हें पेपर तक पहुंच देने के लिए 10 लाख रुपये की मांग की।

Image credits: social media

रखी एक शर्त

लेकिन उनकी एक शर्त थी - उम्मीदवारों को उनके सामने पेपर पढ़ना होगा ताकि यह वायरल न हो। राजीव मिश्रा, सुनील रघुवंशी और एक अन्य साथी सुभाष प्रकाश ने शर्तों पर सहमति जताई।

Image credits: social media

प्रिंटिंग प्रेस पर मौजूद सुनील ने रची साजिश

3 फरवरी को सुनील मशीन मरम्मत के लिए प्रिंटिंग प्रेस पर मौजूद था। प्रेस में प्रश्नपत्र देखकर वह उसे ठीक करने का बहाना करते हुए मशीन के एक हिस्से के साथ ले गया। वह कागजात घर ले गया

Image credits: social media

प्रत्येक को 12 लाख में पेपर

अन्य लोगों को सूचित किया। ग्रुप ने निर्णय लिया कि 8 फरवरी को परीक्षा से तीन दिन पहले  उम्मीदवारों को एक होटल, कोमल में ले जाकर प्रत्येक को 12 लाख में पेपर दिखाया जाएगा।

Image credits: social media

प्रश्नपत्रों के दो सेटों की छह प्रतियां लेकर होटल पहुंचा

सुनील प्रश्नपत्रों के दो सेटों की छह प्रतियां लेकर होटल पहुंचा। सुभाष प्रकाश ने एक सहायक के साथ पेपर हल किया और छात्रों को उत्तर याद कराए गए।

Image credits: social media

विवेक उपाध्याय और अमरजीत शर्मा अभ्यर्थियों को होटल लेकर आए

विवेक उपाध्याय और अमरजीत शर्मा अभ्यर्थियों को होटल लेकर आए। विवेक उत्तर प्रदेश से हैं और अमरजीत बिहार से हैं, उन्होंने उम्मीदवारों की व्यवस्था करने वाले एजेंट के रूप में काम किया।

Image credits: social media

एक आरोपी आरओ/एआरओ परीक्षा का अभ्यर्थी भी

सुभाष प्रकाश स्वयं आरओ/एआरओ परीक्षा के अभ्यर्थी थे। पुलिस को उसके फोन से प्रश्नपत्र मिले और उनके सीरियल नंबर सोशल मीडिया पर वायरल प्रश्नपत्रों से मिलते-जुलते थे।

Image credits: social media

रवि अत्री के साथ प्रश्न पत्र की तस्वीरें शेयर की

अधिक पैसे के लालच में राजीव नयन मिश्रा ने यूपी पुलिस कांस्टेबल पेपर लीक के मास्टरमाइंड रवि अत्री के साथ प्रश्न पत्र की तस्वीरें शेयर की थीं। इसके बाद पेपर सोशल मीडिया पर वायरल हुआ।

Image credits: social media

राजीव मिश्रा की गर्लफ्रेंड शिवानी भी शामिल

ऑपरेशन सरगना राजीव मिश्रा पहले भी ऐसा कर चुका है। पुलिस अनुसार उसकी गर्लफ्रेंड शिवानी भी इसका हिस्सा थी। पैसे का लेन-देन देखती थी। 6 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। जांच जारी है।

Image credits: social media

यूपी पुलिस कांस्टेबल परीक्षा लीक

आरओ/एआरओ परीक्षा के कुछ दिनों बाद आयोजित यूपी पुलिस कांस्टेबल परीक्षा को लीक करने के लिए राजीव मिश्रा और रवि अत्री ने इसी तरह के ऑपरेशन की व्यवस्था की गई थी।

Image credits: social media