Education

NEET क्वेश्चन पेपर से छेड़छाड़ का वीडियो फर्जी, NTA ने SC को दिये सबूत

Image credits: social media

NEET UG 2024 परीक्षा पर सुप्रीम कोर्ट में फैसला आज

NEET UG 2024 परीक्षा से संबंधित याचिकाओं पर सुप्रीम कोर्ट में फैसला आज होना है। मुख्य न्यायाधीश डी वाई चंद्रचूड़ की अगुवाई वाली पीठ 11 जुलाई को सुनवाई के लिए तैयार है।

Image credits: social media

दोबारा नीट परीक्षा कराने की मांग वाली याचिकाओं पर सुनवाई

आज जिन याचिकाओं पर फैसला होना है उसमें 5 मई की परीक्षा के दौरान अनियमितताओं और कदाचार का आरोप लगाने वाली और नए सिरे से परीक्षा कराने की मांग वाली याचिकाएं शामिल हैं। 

Image credits: social media

नीट धोखाधड़ी मामले में बड़ी संख्या में छात्रों को अनुचित लाभ नहीं

केंद्र ने बुधवार को सुप्रीम कोर्ट को सूचित किया कि NEET-UG 2024 में व्यापक धोखाधड़ी या असामान्य स्कोर से उम्मीदवारों के बड़ी संख्या में अनुचित लाभ मिलने का कोई सबूत नहीं है।

Image credits: social media

आईआईटी मद्रास ने किया डेटा विश्लेषण

IIT मद्रास ने NEET रिजल्ट डेटा विश्लेषण किया। विशेषज्ञों ने पाया छात्रों के अंकों में समग्र वृद्धि हुई है, विशेष रूप से 550 से 720 के बीच। अंक वितरण में अनियमितता नहीं है।

Image credits: social media

केंद्र ने बताया कब शुरू होगी नीट काउंसलिंग

केंद्र ने अपने हलफनामे में यह भी कहा कि शैक्षणिक वर्ष 2024-25 के लिए स्नातक सीटों के लिए काउंसलिंग प्रक्रिया जुलाई के तीसरे सप्ताह से चार राउंड में शुरू होगी।

Image credits: social media

नीट पेपर लीक का वायरल वीडियो फर्जी

एनटीए ने कहा है टेलीग्राम पर लीक हुए नीट यूजी पेपर की तस्वीरें दिखाने वाले वायरल वीडियो फर्जी थे। लीक होने का भ्रम बनाने के लिए टाइमस्टैम्प में हेरफेर किया गया।

Image credits: social media

जानबूझकर बदली गई थी वीडियो में तारीख

एक एडिट फोटो में 5 मई शाम 17:40 बजे का Timestamp है। जानबूझकर तारीख बदली गई थी ताकि लगे कि 4 मई को पेपर लीक हुआ। टेलीग्राम ग्रुप में हुई चर्चा से भी पता चलता है कि वीडयो फर्जी था।

Image credits: social media

फर्जीवाड़े के स्क्रीनशॉट्स पेश किये

कोर्ट में अपने दावे के सबूत के तौर पर एनटीए ने वीडियो के साथ फर्जीवाड़े के स्क्रीनशॉट्स पेश किये हैं।

Image credits: social media

वीडियो दिखाया जिसमें बताया गया है कैसे कर सकते हैं छेड़छाड़

साथ ही एक थर्ड पार्टी द्वारा बनाया गया वीडियो शेयर किया है जिसमें ये समझाया गया है कि कैसे वीडियो के साथ छेड़छाड़ की जा सकती है और उसमें तारीख बदली जा सकती है।

Image credits: social media