Health

मलेरिया को जड़ से उखाड़ फेकेंगे ये 6 हरे पत्ते, चौथे का स्वाद है कमाल

Image credits: Freepik

तेजी से बढ़ रहा मलेरिया का खतरा

बारिश में मलेरिया के मच्छर तेजी से पनपते हैं। जहां पर पानी इकट्ठा होता है या गंदगी होती है वहां पर मलेरिया के मच्छर होते हैं और लोगों को संक्रमित कर सकते हैं।

Image credits: Freepik

देसी पत्तों से करें मलेरिया का इलाज

मलेरिया के इलाज के लिए यूं तो एंटीबायोटिक दवाई दी जाती है, लेकिन घरेलू नुस्खे से मलेरिया का इलाज करना चाहते हैं, तो ये 6 पत्तों का सेवन करना शुरू कर दें।

Image credits: Freepik

आर्टेमिसिया एनुआ (किंग हाओ)

इसमें आर्टेमिसिनिन, एक शक्तिशाली मलेरिया-रोधी यौगिक होता है। मलेरिया के इलाज के लिए आप इसका सेवन कर सकते हैं।

Image credits: Wikipedia

नीम की पत्तियां

ये अपने मलेरियारोधी, एंटीवायरल और एंटी बैक्टीरियल गुणों के लिए जानी जाती हैं। मलेरिया के लक्षणों को कम करने में मदद के लिए नीम की पत्तियों का जूस पिएं।

Image credits: Freepik

पपीते की पत्तियां

पपीते की पत्तियों में ऐसे यौगिक होते हैं जो बुखार और मलेरिया से जुड़े अन्य लक्षणों को कम करने में मदद कर सकते हैं।

Image credits: Freepik

मोरिंगा की पत्तियां

पोषक तत्वों और एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर मोरिंगा की पत्तियों का इस्तेमाल इम्यून सिस्टम को बढ़ावा देने और मलेरिया से लड़ने के लिए किया जाता है।

Image credits: Wikipedia

अमरूद की पत्तियां

अपने औषधीय गुणों के लिए जानी जाने वाली अमरूद की पत्तियों का उपयोग मलेरिया सहित डायबिटीज और कई तरह की बीमारियों के इलाज के लिए किया जाता है।

Image credits: Wikipedia

तुलसी की पत्तियां

तुलसी की पत्तियों का इस्तेमाल आयुर्वेद में इसके सूजनरोधी, एंटीबैक्टीरियल और मलेरियारोधी गुणों के लिए किया जाता है। आप इसका सेवन रोजाना कर सकते हैं।

Image credits: Freepik