National

राहुल गांधी को मिलने वाली है बड़ी पावर? इतनी बढ़ जाएगी ताकत

Image credits: Pinterest

इस बार संसद में कांग्रेस की ताकत

इस बार कांग्रेस के 99 सांसद जीतकर संसद पहुंचे हैं, जो सदन में कुल सांसदों की संख्या का 18 परसेंट है। यही कारण है कि 10 साल बाद नेता प्रतिपक्ष का पद कांग्रेस के पास जा रहा है।

Image credits: Pinterest

क्या राहुल बनेंगे लीडर ऑफ अपोजिशन

कांग्रेस वर्किंग कमेटी की तरफ से लोकसभा में नेता प्रतिपक्ष के लिए राहुल गांधी के नाम का प्रस्ताव पारित हुआ है। हालांकि, अभी फाइनल फैसला राहुल गांधी को ही करना है।

Image credits: Pinterest

नेता प्रतिपक्ष बनने पर राहुल गांधी की ताकत

नेता प्रतिपक्ष का काम सरकार की निगरानी करना होता है। वह सरकार के कामों का रिव्यू कर सलाह देता है। उसे कैबिनेट मंत्री जैसी सुविधाएं मिलती हैं।

Image credits: Our own

राहुल गांधी नेता प्रतिपक्ष बने तो क्या सुविधाएं मिलेंगी

दिल्ली में हाई क्लास फर्निश्ड बंगला, देश में सरकारी कामकाज के लिए फ्री रेल-हवाई यात्रा, अधिकारिक काम के लिए सरकारी कार-ड्राइवर, सरकारी अस्पताल में मुफ्त इलाज, हाई लेवल सिक्योरिटी।

Image credits: Facebook

नेता प्रतिपक्ष बने राहुल गांधी तो कितनी होगी सैलरी

लोकसभा के नेता प्रतिपक्ष को 50,000 रुपए मंथली सैलरी, 45,000 महीने का निर्वाचन भत्ता, 2,000 रुपए सत्कार भत्ता, सरकारी सचिवालय में ऑफिस स्टॉफ और कई जरूरी स्टॉफ

Image credits: Facebook

नेता प्रतिपक्ष बनकर बढ़ेगी राहुल गांधी की पावर

लोकसभा का नेता प्रतिपक्ष लोक लेखा समिति का चेयरमैन होता है। यही कमेटी सरकार के फाइनेंशियल अकाउंट्स चेक करती है। हिसाब-खिताब की जांच करती है। कई अन्य कमेटियों का सदस्य होते हैं।

Image credits: Our own

नेता प्रतिपक्ष इन कमेटियों का सदस्य

नेता प्रतिपक्ष केंद्रीय सतर्कता आयुक्त, मुख्य सूचना आयुक्त और राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग जैसी कमेटियों को भी सदस्य होता है। इसमें उसकी ताकत महत्वपूर्ण होती है।

Image credits: Freepik

नेता प्रतिपक्ष की परमिशन बिना नियुक्तियां नहीं

अगर सरकार सिलेक्शन कमीशन में नेता प्रतिपक्ष को न रखे तो ED, CBI प्रमुख की नियुक्ति ही नहीं हो सकती है। चुनाव आयुक्त की नियुक्ति वाली कमेटी में भी नेता प्रतिपक्ष होता है।

Image credits: Freepik