Spiritual

प्रेमानंद महाराज से जानें ‘क्यों किसी की बुराई नहीं करनी चाहिए?’

Image credits: facebook

अनजाने में हो जाती है लोगों की निंदा

प्रेमानंद महाराज का एक वीडियो इन दिनों वायरल हो रहा है, जिसमें एक व्यक्ति उनसे कह रहा है कि ‘बात-चीत के दौरान मुझसे अनजाने में लोगों की बुराई हो जाती है, मैं क्या करूं?’

Image credits: facebook

इसलिए न करें किसी की बुराई

प्रेमानंद महाराज ने कहा कि ‘दूसरों की निंदा या बुराई करने से आप ही की हानि होती है। जिसकी निंदा आप करते हैं, उसका पाप आपके माथे पर आ जाता है। ऐसा शास्त्रों में लिखा है।’

Image credits: facebook

जाना पड़ता है नरक

प्रेमानंद महाराज ने कहा कि ‘जिसकी बुराई आपने की, उसके पाप कर्म आपके हिस्से में आ गए और आपको उसके पाप कर्मों के फलस्वरूप नरक जाना पड़ता है तो हम ऐसा क्यों करें?’

Image credits: facebook

पुण्य कर्म हो जाते हैं नष्ट

प्रेमानंद महाराज ने कहा कि ‘एक तो पुण्य कर्म करना वैसे ही कठिन है और बुराई करके हम जो थोड़ा बहुत पुण्य है, उसे भी नष्ट कर देते हैं। इस तरह की गलती भूलकर भी न करें।’

Image credits: facebook

दूसरों की बुराई करने से बचें

प्रेमानंद महाराज ने कहा कि ‘भक्तनि निंदा अति बुरी, भूलि करौ जिन कोई। किए सुकृत सब जन्म के, छिन में डारत कोई।। यानी बहुजन्म के पुण्य नष्ट जाते हैं, दूसरों की बुराई करने से।

Image credits: facebook