Asianet News Hindi

मॉर्डना ने कहा- उनकी कोरोना वैक्सीन 12-17 साल के बच्चों पर प्रभावी, फाइजर को पहले ही मिल चुकी मंजूरी

अमेरिका की वैक्सीन निर्माता कंपनी मॉडर्ना ने दावा किया है कि उनका टीका 12-17 साल के बच्चों पर अत्यधिक प्रभावी है। साथ ही कंपनी ने कहा कि वे अमेरिका और अन्य देशों में जून की शुरुआत में वैक्सीन के अप्रूवल के लिए मांग करेगी। 

Moderna says its Covid-19 vaccine highly effective in adolescents aged 12-17 KPP
Author
New Delhi, First Published May 25, 2021, 6:42 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

वॉशिंगटन. अमेरिका की वैक्सीन निर्माता कंपनी मॉडर्ना ने दावा किया है कि उनका टीका 12-17 साल के बच्चों पर अत्यधिक प्रभावी है। साथ ही कंपनी ने कहा कि वे अमेरिका और अन्य देशों में जून की शुरुआत में वैक्सीन के अप्रूवल के लिए मांग करेगी। मॉडर्ना फाइजर के बाद बच्चों पर प्रभावी वैक्सीन का दावा करने वाली दूसरी वैक्सीन बन गई है।
 

 

फाइजर को मिल चुकी अनुमति
इससे पहले वैक्सीन निर्माता फाइजर-बायोएनटेक ने दावा किया था कि उनका टीका 12 से 15 साल के बच्चों पर भी असरदार है। इतना ही नहीं कंपनी ने कहा था कि उनकी वैक्सीन का बच्चों पर कोई साइड इफेक्ट भी नहीं है। कंपनी ने कहा था कि अमेरिका में वैक्सीन के तीसरे चरण के ट्रायल में 2,250 बच्चों को टीका लगाया गया था। कंपनी का दावा है कि बच्चों को वैक्सीन दिए जाने के बाद यह 100% असरदार रही। वैक्सीन के ट्रायल अक्टूबर 2020 में शुरू किए गए थे।

अमेरिका और कनाडा में मिल चुकी मंजूरी
इससे पहले अमेरिका और कनाडा बच्चों को वैक्सीन के इस्तेमाल की मंजूरी दे चुका है। दोनों देशों ने फाइजर की वैक्सीन 12 से 15 साल के बच्चों पर इमरजेंसी इस्तेमाल की मंजूरी दी है। फाइजर 16 साल से अधिक उम्र को पहले ही वैक्सीन लगा रही थी।

भारत में भी मिली क्लीनिकल ट्रायल को मंजूरी
इससे पहले भारत में भी ड्रग्स कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया (DCGI) ने 2-18 आयु वर्ग में COVAXIN के दूसरे और तीसरे चरण के क्लीनिकल ट्रायल को मंजूरी दी थी। भारत बायोटेक 525 वालंटियर पर ट्रायल करेगी। 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios