Asianet News Hindi

असम में बोले गडकरी- यहां 4000 करोड़ की अगरबत्ती इंडस्ट्री है, सारा माल चीन से आता था, हमने बैन कर दिया

पांच राज्यों तमिलनाडु, पश्चिम बंगाल, केरल, पुडुचेरी और असम में होने जा रहे विधानसभा चुनाव भाजपा और विपक्षी दलों के लिए एक बड़ी चुनौती हैं। ये चुनाव देश की राजनीति का भविष्य तय कर देंगे। केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी शुक्रवार को असम में धुंआधार रैलियां करने पहुंचे। इस दौरान उन्होंने विपक्षी पार्टियों पर जमकर प्रहार किए।

Assam Assembly elections, nitin gadkari rallies on 26 March in Assam kpa
Author
Guwahati, First Published Mar 26, 2021, 9:58 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

गुवाहाटी, असम.  असम की 126 विधानसभा सीटों के लिए तीन चरणों-27 मार्च, 1 और 6 अप्रैल को चुनाव होगा। मतगणना 2 मई को होगी। पहले चरण में 47 सीटों पर 267 उम्मीदवार खड़े हुए हैं। यहां चुनाव प्रचार थम चुका है। अब बाकी बची सीटों पर युद्धस्तर पर चुनाव प्रचार शुरू हो गया है। शुक्रवार को केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी यहां कई रैलियां करने पहुंचे। उन्होंने धरमपुर और गोलकगंज में रैली की। गडकरी पार्टी के कार्यकर्ताओं से भी मिले।

असम में होने जा रहे विधानसभा चुनाव में इस बार राजनीतिक समीकरण अलग नजर आ रहा है। भाजपा का सत्ता से बेदखल करने मानों पूरा विपक्ष एकजुट हो गया है। यहां कांग्रेस ने लेफ्ट और एआईयूडीएफ के साथ मिलकर चुनावी बिगुल फूंका है। भाजपा एजेपी के साथ चुनाव में हैं। लेकिन इस बार बोडोलैंड पीपुल्स फ्रंट ने भाजपा का साथ छोड़कर कांग्रेस का दामन थामा है। 

गडकरी ने कहा

  • ये असम का भविष्य तय करने वाला चुनाव है। जब से असम राज्य का निर्माण हुआ, जितने रोड, ब्रिज और जनता के काम नहीं हुए, उससे ज्यादा काम...जो 50 साल में नहीं हुए वो मोदीजी की सरकार में 5 साल में हुए।
  • असम में 4000 करोड़ की अगरबत्ती की इंडस्ट्री है, इसका पूरा सामान चीन से आता था। हमने चीन का पूरा माल बैन कर दिया है।
  • अगर असम में दूसरी बार भाजपा सत्ता में आई, तो पूर्वोत्तर राज्य में दो लाख करोड़ रुपए की सड़क परियोजनाएं पूरी की जाएंगी। असम को देश के शीर्ष राज्यों में से एक बनाया जाएगा।
    सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री ने कहा कि उनके कार्यकाल में असम में 30,000 करोड़ रुपये की सड़कें बनाई गई हैं। सड़कों के लिए 50,000 करोड़ रुपए और जारी किए गए हैं। अभी 35,000 करोड़ रुपए की सड़क परियोजनाओं पर काम चल रहा है। 
    असम को तभी विकसित कहा जा सकता है, जब राज्य से गरीबी खत्म होगी। इसके लिए सरकार ने 1,300 करोड़ रुपए के बांस अभियान को मंजूरी दी है।
    गडकरी ने मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल और मंत्री चंद्र मोहन पटवारी की तारीफ करते हुए कहा कि असम के लिए पिछले पांच साल में  इन्होंने जो किया है, वह महज एक ट्रेलर है। असली फिल्म अभी बाकी है।
     

 

Public Meeting in Golakganj, Assam https://t.co/UKyZWFrofX

 

 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios