Asianet News Hindi

असम: स्मृति ईरानी ने कांग्रेस को बताया 'मोस्ट करप्ट', कहा- जब उनकी सरकार थी तो राज्य को एक पैसा नहीं दिया

विधानसभा चुनाव में मतदान से पहले केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने प्रदेश में चुनाव प्रचार की शुरुआत की। उन्होंने असम के जोरहाट में प्रचार किया। रैली को संबोधित करते हुए स्मृति ईरानी ने असम के लोगों को धन्यवाद दिया और 2014 के आम चुनावों में भाजपा की जीत को याद किया। 

Smriti Irani calls Congress the most corrupt party in Assam kpn
Author
Assam, First Published Mar 13, 2021, 7:12 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

असम. विधानसभा चुनाव में मतदान से पहले केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने प्रदेश में चुनाव प्रचार की शुरुआत की। उन्होंने असम के जोरहाट में प्रचार किया। रैली को संबोधित करते हुए स्मृति ईरानी ने असम के लोगों को धन्यवाद दिया और 2014 के आम चुनावों में भाजपा की जीत को याद किया। 

स्मृति ईरानी ने कांग्रेस पर निशाना साधा। उन्होंने कहा, कांग्रेस की सरकार में असम को कोई पैसा नहीं भेजा गया। केंद्र में प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व वाली सरकार ने असम को 17,000 करोड़ रुपए भेजे।

महागठबंधन के सहयोगियों को घेरा
कांग्रेस पार्टी और उसके सहयोगियों पर निशाना साधते हुए स्मृति ईरानी ने कहा कि कोई अन्य पार्टी कांग्रेस की तरह भ्रष्ट नहीं है। असम चुनाव के लिए महागठबंधन पर निशाना साधते हुए ईरानी ने कहा कि वे राज्य की संस्कृति पर हमला करना चाहते हैं।

पीएम मोदी ने असम के लिए 17000 करोड़ रुपए भेजे। इससे असम के लिए उनका प्यार जाहिर होता है। विपक्षी महागठबंधन गठबंधन स्पष्ट रूप से दिखाता है कि वे असम की संस्कृति पर हमला करना चाहते हैं।

स्मृति ईरानी ने असम के लोगों का धन्यवाद करते हुए कहा कि चाय श्रमिकों को 12000 रुपए दिए जाते हैं। ईरानी ने असम में चाय श्रमिकों से भाजपा के पक्ष में मतदान करने का आग्रह किया है।  

"हमने असम में महिला स्वयं सहायता समूह को 24,000 लाख रुपए आवंटित किए हैं। अगर किसी ने असम में काम किया है, तो वह भाजपा है। आयुष्मान भारत योजना के बारे में स्मृति ईरानी ने बताया कि 10 करोड़ परिवारों को 5 लाख रुपए तक की मुफ्त चिकित्सा सहायता प्रदान की गई।"

असम में 3 चरणों में है चुनाव
असम में तीन चरणों में विधानसभा चुनाव है। 27 मार्च से 6 अप्रैल तक। परिणाम 2 मई को घोषित किए जाएंगे। आगामी विधानसभा चुनाव में भाजपा की सहयोगी बोडोलैंड पीपुल्स फ्रंट (बीपीएफ) ने कांग्रेस के नेतृत्व वाले गठबंधन में शामिल होने का फैसला किया है। 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios