Asianet News Hindi

हसनपुर से चुनाव लड़ रहे तेज प्रताप यादव, 10 साल से विधायक राजकुमार से है दिलचस्प मुकाबला

साल 2015 के विधानसभा चुनाव में राजकुमार राय ने ही बीएलएसपी के उम्मीदवार को करीब 30 हजार वोटों से शिकस्त दी थी। देखा जाए तो उनके जीत का आंकड़ा करीब 10 गुना बढ़ा, जिससे उनका हौसला बुलंद हैं। हालांकि पिछले चुनाव में आरजेडी का भी समर्थन उनके साथ था, जबकि इस बार तेज प्रताप यादव ही आरजेडी से उनके सामने चुनाव लड़ रहे हैं।

Bihar Election: Tej Pratap Yadav is contesting from Hasanpur in Bihar, is an interesting match with MLA Rajkumar for 10 years asa
Author
Bihar, First Published Oct 29, 2020, 2:46 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

पटना (Bihar ) । बिहार के पूर्व स्वास्थ्य मंत्री और आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव (Lalu Prasad Yadav) के बड़े बेटे तेज प्रताप यादव (Tej Pratap Yadav) इस बार हसनपुर (Hasanpur) सीट से चुनाव लड़ रहे हैं। जहां उनका मुकाबला जेडीयू के विधायक राजकुमार राय (JDU MLA Rajkumar Rai) से हैं, जो पिछले 10 साल का इस सीट से विधायक हैं। इससे मुकाबला काफी दिलचस्प हो गया है। 

तेज प्रताप के सामने ये है चुनौती
साल 2014 में राजनीति में आए और 2015 में महुआ से विधायक बने तेज प्रताप के सामने भी चुनौती है। इस बार वह अपने पिता लालू प्रसाद यादव की गैर मौजूदगी में जहां चुनाव लड़ रहे हैं, वहीं अपनी जीती हुई सीट महुआ को छोड़कर हसनपुर से चुनाव लड़ रहे हैं। वहीं, साल 2010 के विधानसभा चुनाव में जेडीयू के राज कुमार राय ने आरजेडी के प्रत्याशी सुनील कुमार पुष्पम को तीन हजार से अधिक वोटों से चुनाव में हराया था। इसके बाद साल 2015 के विधानसभा चुनाव में राजकुमार राय ने ही बीएलएसपी के उम्मीदवार को करीब 30 हजार वोटों से शिकस्त दी थी। देखा जाए तो उनके जीत का आंकड़ा करीब 10 गुना बढ़ा, जिससे उनका हौसला बुलंद हैं। हालांकि पिछले चुनाव में आरजेडी का भी समर्थन उनके साथ था, जबकि इस बार तेज प्रताप यादव ही आरजेडी से उनके सामने चुनाव लड़ रहे हैं।

राजकुमार के सामने ये दो बड़ी चुनौती
जेडीयू प्रत्याशी राजकुमार राय की चुनावी जीत की राह में सिर्फ एक ही रोड़ा नहीं है, बल्कि तेज प्रताप यादव के साथ-साथ लोजपा प्रत्याशी का मैदान में होना भी चुनौती है। वजह लोजपा प्रमुख चिराग पासवान अपनी चुनावी सभाओं में लगातार जेडीयू के खिलाफ वोट देने की अपील करते आ रहे हैं। लोजपा ने यह ऐलान भी कर रखा है कि जहां-जहां जेडीयू के प्रत्याशी चुनाव मैदान में हैं, वहां पर चिराग पासवान की पार्टी के उम्मीदवार पूरे दम-खम के साथ चुनाव लड़ेंगे। ऐसे में उनके लिए जीत इतनी आसान नहीं है।

तेज प्रताप के पास है इतनी दौलत
साल 2015 में महुआ से पहली बार विधायक बने तेज प्रताप यादव के पास उस समय 2 करोड़ रुपए 97 हजार 699 रुपए की संपत्ति थी, जो इस बार बढ़कर 2 करोड़ 83 लाख रुपए हो गई है। मतलब उनकी संपत्ति 5 साल में 82 लाख 2 हजार 301 रुपए ही बढ़ी है। उनके पास दो गाड़ियां हैं। एक है सीबीआर 1000आरआर बाइक, जो 15.46 लाख रुपए की है। दूसरी है 29.43 लाख रुपए की बीएमडब्ल्यू। हालांकि उनके ऊपर 33 लाख रुपए का ऋण भी है। 
 
पत्नी से चल रहा तलाक का मामला
बताते चले कि तेज प्रताप यादव की शादी 12 मई 2018 को चंद्रिका राय की बेटी ऐश्वर्या से हुई थी। ऐश्वर्या बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री दारोगा प्रसाद राय की पोती हैं। चंद्रिका राय सारण जिले की परसा सीट से 8 बार के विधायक रहे हैं। लेकिन, इस समय दोनों के बीत तलाक का मामला कोर्ट में लंबित है। तेज प्रताप पर पिछले चुनाव के समय सिर्फ एक ही मामला दर्ज था। लेकिन, इस बार उन्होंने अपने ऊपर 5 मामले दर्ज बताए हैं। इनमें से पहला मामला डिजास्टर मैनेजमेंट एक्ट और दूसरा मामला एपिडेमिक डिसीज के वॉयलेशन का है। एक मामला आर्म्स एक्ट का चल रहा है। बाकी बचे दो मामलों में से एक तो उनका तलाक का है। इसमें एक मामला डोमेस्टिक वॉयलेंस यानी घरेलू हिंसा का भी है। 

यह भी पढ़े

-बिहार के राघोपुर सीट से चुनाव लड़ रहे हैं तेजस्वी यादव,आज तक जीत नहीं सकी है बीजेपी, इस बार है अच्छा मौका

-बांकीपुर बनी हाई प्रोफाइल सीट, शत्रुघ्न सिन्हा के बेटे लव के सामने हैं CM फेस पुष्पम प्रिया चौधरी

-सहरसा से लड़ रही हैं बाहुबली आनंद मोहन की पत्नी लवली, बीजेपी के बागी नेता ने रोचक बना दिया चुनाव

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios