Asianet News Hindi

ट्यूशन टीचर से था भतीजी का अवैध संबंध, विरोध करने पर लड़की ने चाचा को खेत में बुलाया, और फिर...

परिवार की बदनामी दूर करने की कोशिश में एक युवक को अपनी जान गंवानी पड़ी। बेगूसराय में 26 अप्रैल को 22 वर्षीय एक युवक का शव पुलिस ने खेत से बरामद किया था। हत्याकांड का खुलासा हो गया है।

Begusarai police revels mitihlesh kumar murder case for illegal relations pra
Author
Begusarai, First Published Apr 30, 2020, 12:31 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

बेगूसराय। जिले के बखरी थाना क्षेत्र के करेयटांर गांव निवासी 22 वर्षीय मिथिलेश कुमार की हत्या के मामले का खुलासा पुलिस ने कर दिया है। मिथिलेश की हत्या उसकी भतीजी ने अपने प्रेमी और उसके साथियों के साथ मिलकर करवाई। डीएसपी कुंदन कुमार सिंह ने बताया कि मिथिलेश की हत्या अवैध संबंध का विरोध करने के कारण की गई। मामले में पुलिस ने मृतक की भतीजी, उसके प्रेमी और ट्यूशन टीचर अमृत कुमार, और अमृत के दो साथी धर्मवीर कुमार और नीतीश को गिरफ्तार कर लिया है। मिथिलेश का शव 26 अप्रैल को एक खेत से मिला था। 

भतीजी ने ही चाचा को फोन कर बुलाया था एकांत में
मिली जानकारी के अनुसार हत्या के दिन लड़की ने ही अपने चाचा मिथिलेश को फोन कर सुल्तानी बहियार स्थित मकई के खेत में बुलाया था। जहां पहले से घात लगाए लड़की के साथ मौजूद अमृत और उसके दो साथी धर्मवीर और नीतीश पासवान ने मृतक के गले में गमछा डालकर उसे खींचते हुए मकई के खेत में ले गए। चारों ने मिलकर युवक की गला दबाकर बेरहमी से हत्या कर दी। मामले की जांच के लिए एसडीपीओ ओमप्रकाश के नेतृत्व में गठित दल में इंस्पेक्टर सह थानाध्यक्ष मुकेश कुमार पासवान, परिहारा ओपी अध्यक्ष राजेश कुमार ठाकुर, एसआई दुर्गेश कुमार, राजेश कुमार व सशस्त्र बल शामिल थे। 

मृतक के मोबाइल कॉल ने खोला हत्या का राज
युवक मिथिलेश के मोबाइल पर की गई अंतिम काल के जरिए पुलिस उसकी भतीजी तक पहुंची। जिसने कड़ाई से पूछताछ के बाद सारे राज उगल दिए। फिर पुलिस ने उसके प्रेमी अमृत और उसके साथियों को उठा लिया। हत्यारे की निशानदेही पर मृतक मिथिलेश का मोबाइल और गमछा बांसबाड़ी में मिट्टी के नीचे दबा मिला। पुलिस पकड़ में नहीं आने के उद्देश्य से हत्यारों द्वारा मृतक के मोबाइल और सिम कार्ड को तोड़ दिया गया था। जिसे पुलिस द्वारा वहां से बरामद कर लिया गया है। 

ट्यूशन के दौरान हुआ प्रेम, फिर अवैध संबंध
थानाध्यक्ष ने बताया कि चारों हत्यारों ने अपने बयान में बताया कि मृतक की नाबालिग भतीजी को गांव के ही लालो महतो का पुत्र अमृत कुमार ट्यूशन पढ़ाने आया करता था। इसी दौरान दोनों के बीच प्रेम प्रसंग परवान चढ़ने लगा। जो धीरे-धीरे अवैध संबंध में बदल गया। जिसकी जानकारी दोनों पक्ष के घरवालों को भी थी। इधर मिथिलेश जब हरियाणा से घर आया तो इस अवैध संबंध की जानकारी उसे मिली। बदनामी बढ़ता देख मिथिलेश ने मामले में हस्तक्षेप कर प्राइवेट शिक्षक अमृत को ट्यूशन पढ़वाना छुड़वा दिया। यही बात प्रेमी युगल को नागवार गुजरी। दोनों ने मिलकर अपने सहयोगियों के साथ मिथिलेश के हत्या की साजिश रच डाली। 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios