बेगूसराय। अक्टूबर-नवंबर में बिहार में विधानसभा चुनाव होना है। चुनाव की तैयारियां तेज है। लेकिन इसी बीच अपराध का  ग्राफ तेजी से बढ़ रहा है। रंगदारी मांगने और नहीं देने पर गोली मारने की घटना काफी तेजी से बढ़ी है। बीते दिनों पटना में स्वर्ण कारोबारी की दुकान में घूसकर गोली मारकर रंगदारी के लिए ही हत्या कर दी गई थी। इस घटना के बाद रविवार की रात बेगूसराय में भी रंगदारी के लिए गोली मारने की एक ऐसी ही घटना सामने आई। मिली जानकारी के अनुसार जिले के फुलवरिया थाना क्षेत्र के बरौनी पत्रकार अजीत गुप्ता मार्ग में स्थित शेखर वस्त्रालय एवं राजू वस्त्रालय में पहुंचकर बाइक सवार तीन अपराधियों ने दुकानदार पिता-पुत्र को गोली मार दी। 

घटना के विरोध में कारोबारियों ने किया जाम
इसमें चंद्रभूषण साह के 22 वर्षीय पुत्र सौरभ साह की मौत हो गई, जबकि गंभीर रूप से घायल 55 वर्षीय चंद्रभूषण साह की बेगूसराय के एक निजी नर्सिंग होम में इलाज चल रहा है। जहां उसकी स्थिति गंभीर बताई जा रही है। घटना से आक्रोशित व्यवसायियों ने सौरभ के शव को सिंधिया चौक स्थित सड़क पर रखकर बरौनी-तेघड़ा, बरौनी-निपनिया एवं बरौनी-फुलवरिया रोड को जाम कर दिया। जो देर रात तक भी नहीं खुला। घटना की जानकारी मिलते ही तेघड़ा एसडीएम डॉ निशांत, तेघड़ा डीएसपी आशीष रंजन के अलावे फुलवड़िया थाना, तेघड़ा थाना, बछवाड़ा थाना समेत अन्य कई थाने की पुलिस मौके पर पहुंचकर लोगों को शांत करवाने की कोशिश की।

पिता-पुत्र को गोली मार बाइक से भागे अपराधी
घटना के संबंध में बताया जाता है कि रविवार की शाम तकरीबन 5.00 बजे के बाद शेखर ड्रेसेज के प्रोपराइटर चंद्रभूषण साह अपनी दुकान में बैठे थे। उसी समय लोगों से खचाखच भरी बाजार में बाइक सवार हथियार से लैस तीन अपराधी मौके पर पहुंचकर उनकी दुकान के अंदर लूटपाट का प्रयास करने लगे। पिता के दुकान में हंगामा होता देख रोड के उसपार अपनी दुकान में बैठा सौरभ आया। अभी वो रोड पर ही था अपराधियों ने उसके सीने में गोलियां दाग दी। फिर लोगों से खुद को घिरता देख चंद्रभूषण साह को भी गोली मारकर भाग निकले। आनन-फानन में जख्मी पिता-पुत्र को अस्पताल पहुंचाया गया। जहां बेटे की मौत हो गई जबकि पिता जिंदगी और मौत से जंग लड़ रहे हैं।