Asianet News HindiAsianet News Hindi

मुबंई पुलिस ने IPS विनय तिवारी को क्वारंटाइन से छोड़ा, बिहार के DGP ने उठाया था ये सख्त कदम

बिहार डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय ने एक दिन पहले ही सख्त होते हुए कहा था कि 'हम लोग तो छोटे से छोटे अदालत का आदेश मानते हैं। सुप्रीम कोर्ट का आदेश नहीं मानने की हमारी औकात नहीं है। एक सीजेएम के आदेश को भी मानते हैं। न्यायालय की एक गरीमा है। अगर वो गरीमा समाप्त हो जाएगी तो लोकतंत्र बचेगा नहीं। सर्वोच्च न्यायालय में पूरे देश की आस्था है और आप उसकी बात को नहीं मानते हैं।'

Sushant Suicide Case: Mumbai Police released Bihar IPS Vinay Tiwari from Quarantine asa
Author
Bihar, First Published Aug 7, 2020, 10:22 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

पटना (Bihar) । बिहार डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय के सख्त होते ही मुंबई पुलिस नरम पड़ गई। मुंबई पुलिस ने आईपीएस विनय तिवारी को क्वारंटाइन से छोड़ दिया। एक दिन पहले डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय ने लेटर भेजते हुए दो टूक कहा था कि मुंबई पुलिस सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद भी पुलिस नहीं छोड़ रही है। वह लिखित रूप से बता दें कि आईपीएस विनय तिवारी को छोड़गे कि नहीं।  बता दें कि बिहार पुलिस ने आरोप लगाया था कि एक्टर सुशांत सिंह राजपूत मामले की जांच करने पहुंचे पटना के सिटी एसपी को जबरन क्वारंटाइन किया गया था। मुंबई पुलिस के इस कदम की काफी आलोचना भी की गई थी। 

देश चाहता है सुशांत मामले का सच आए सामने
डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय ने एक दिन पहले सवाल करते हुए कहा था कि आखिर क्यों मुंबई पुलिस असयोग कर रही है, जबकि आज पूरा देश चाहता है कि सुशांत सिंह राजपूत मामले में सच सामने आए। मुंबई पुलिस ने हमारे अफसर को तीन से कैदी बनाकर रखा है। डीजीपी ने कहा था कि आज हमने फिर पत्र लिख कर सुप्रीम कोर्ट में हुई सुनवाई का हवाला दिया है। हमने पत्र में लिखा है कि सुप्रीम कोर्ट ने ये आदेश दिया है। लेकिन वे लोग सुप्रीम कोर्ट के ऑब्जर्वेशन को ठेंगा दिखा रहे हैं।'

डीजीपी ने किया इस तरह के शब्दों का प्रयोग
बिहार डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय ने कहा था कि 'हम लोग तो छोटे से छोटे अदालत का आदेश मानते हैं। सुप्रीम कोर्ट का आदेश नहीं मानने की हमारी औकात नहीं है। एक सीजेएम के आदेश को भी मानते हैं। न्यायालय की एक गरीमा है। अगर वो गरीमा समाप्त हो जाएगी तो लोकतंत्र बचेगा नहीं। सर्वोच्च न्यायालय में पूरे देश की आस्था है और आप उसकी बात को नहीं मानते हैं।'

ये मजाक पूरा देश देख रहा
डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय ने कहा था कि 'सर्वोच्च न्यायालय के ऑब्जर्वेशन के बाद हमारे आईजी ने फोन किया कि अब तो छोड़ दो। लेकिन, इसके बाद उन्होंने नहीं छोड़ा है। अब हमने लिखित रूप में चिट्ठी लिखवाया है कि ये बता दो, अब छोड़ोगे कि नहीं, या तो लिख कर दे दो कि हम सुप्रीम कोर्ट के ऑब्जर्वेशन को कुछ नहीं समझते, या आप लिखकर दे दो कि गिरफ्तार कर लिया है। ये क्या मजाक है पूरा देश देख रहा है।'

14 जून को सुशांत अपने घर में मिले थे मृत
34 वर्षीय एक्टर सुशांत सिंह राजपूत 14 जून को अपने मुंबई के बांद्रा स्थित आवास पर मृत मिले थे। उनके मौत के मामले की जांच मुंबई पुलिस के साथ परिवार द्वारा पटना में शिकायत दर्ज कराने के बाद बिहार पुलिस भी कर रही है।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios