Asianet News Hindi

बाबा का ढाबा पर पहुंचा आयुष्मान खुराना का भाई, कहा- 'अब तक का सबसे शानदार पनीर खाया'

बीते दिनों अनलॉक की प्रक्रिया के बाद कोरोना के कारण बाबा का ढाबा एक वीडियो वायरल हुआ था, जिसमें दो बुजुर्ग ने रोते हुए अपना दर्द बयां किया था कि कोरोना के डर से लोग उनकी दुकान पर खाना खाने नहीं आते हैं। ऐसे में वो अपना पेट कैसे पालेंगे।

AparShakti khurrana at baba ka Dhaba video going viral With gaurav And mukul KPY
Author
Mumbai, First Published Oct 21, 2020, 8:25 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

मुंबई. बीते दिनों अनलॉक की प्रक्रिया के बाद कोरोना के कारण बाबा का ढाबा एक वीडियो वायरल हुआ था, जिसमें दो बुजुर्ग ने रोते हुए अपना दर्द बयां किया था कि कोरोना के डर से लोग उनकी दुकान पर खाना खाने नहीं आते हैं। ऐसे में वो अपना पेट कैसे पालेंगे। सोशल मीडिया पर वीडियो आने के बाद उनकी दुकान पर लोगों की भीड़ लग गई। अब बाबा ढाबा लोगों के बीच काफी लोकप्रिय हो चुका है। कई मल्टीनेशनल कंपनियों से लेकर बॉलीवुड सेलेब्रिटीज तक ने वहां पर दस्तक देना शुरू कर दिया है। इसी फेहरिस्त में एक्टर आयुष्मान खुराना के भाई अपार शक्ति खुराना भी वहां पर पहुंचे।

अपारशक्ति खुराना ने इंस्टाग्राम पर शेयर किया वीडियो

अपारशक्ति ने अपने इंस्टाग्राम अकाउंट पर कुछ वीडियो और फोटोज शेयर की हैं। इनमें वो बाबा के ढाबा के सामने खड़े नजर आ रहे हैं। तस्वीर के बैकग्राउंड में बाबा का ढाबा चलाने वाले बुजुर्ग हंसते नजर आ रहे हैं और इसे शेयर करते हुए अपारशक्ति ने कैप्शन लिखा, 'गौरव वासन से वादा किया था कि जब दिल्ली आउंगा तो बाबा का ढाबा पर कुछ खाउंगा, और फाइनली हमने ये कर लिया।'

 

अब तक का सबसे शानदार पनीर खाया: अपारशक्ति

अपारशक्ति ने अपने वीडियो में बताया कि उन्होंने अब तक का सबसे शानदार पनीर खाया है। गौरव आप पर गौरव हैं हम सबको उसके लिए जो आपने बाबा के लिए किया है। वोकल फॉर लोकल कैसे होते हैं ये आपसे सीखना चाहिए।' बता दें कि गौरव वही शख्स हैं, जिन्होंने बाबा का ढाबा का वीडियो सबसे पहले सोशल मीडिया पर शेयर करके इसे वायरल कर दिया था।

मेरे जैसे लोग यहां सेल्फी लेने आ जाते हैं: अपारशक्ति

आयुष्मान के भाई अपारशक्ति ने अपने वीडियो में आगे कहा, 'जानते हो दोस्तों, मेरे जैसे लोग तो यहां पर सेल्फी खिंचवाने के लिए आ जाते हैं, लेकिन मुकुल और तुशांत ऐसे लड़के हैं, जो रोज सुबह 6 बजे यहां पर आ जाते हैं और बाबा का ढाबा में काम करने वाले बाबा और उनकी वाइफ की मदद करते हैं। आयुष्मान ने लिखा कि 'इस तरह के कई ढाबे मौजूद हैं, जिनकी हमें मदद करनी चाहिए।'

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios