मुंबई/जोधपुर। सलमान खान (Salman Khan) को काला हिरण शिकार (Blackbuck Case) मामले में राजस्थान की जोधपुर कोर्ट से हाजिरी माफी मिल गई है। सलमान को 16 जनवरी को कोर्ट में पेश होना था। जिला एवं सत्र न्यायाधीश की अदालत में सलमान खान 16 बार हाजिरी माफी ले चुके हैं। वहीं कोरोना को देखते हुए उन्हें सातवीं बार हाजिरी माफी मिली। इस बार भी सलमान कोर्ट में उपस्थित नहीं हुए और कोर्ट की ओर से उन्हें फिर से राहत दे दी गई। अब मामले की अगली सुनवाई 6 फरवरी को होगी।

Huge relief for Salman Khan in Valmiki case as SC stays proceeding against  him

सलमान खान की ओर से उनके वकील हस्तीमल सारस्वत, निशांत बोड़ा और विजय चौधरी ने कोर्ट में उनका पक्ष रखा। इसमें कहा गया कि कोरोना और शूटिंग में व्यस्त होने के कारण वह कोर्ट में हाजिर नहीं हो सके हैं। हालांकि कोर्ट ने सलमान को अगली पेशी पर सख्ती से उपस्थित रहने के आदेश दिए हैं।

Conviction a 'surprise', will move sessions court for relief: Salman's  lawyer

9 महीने में 7 बार मिली पेशी से छूट : 
बता दें कि कोरोना के दौरान सलमान की पहली पेशी 18 अप्रैल, दूसरी पेशी 4 जून, तीसरी पेशी 16 जुलाई, चौथी पेशी 14 सितंबर, पांचवीं पेशी 28 सितंबर, छठी पेशी 1 दिसंबर को थी। सलमान ने इस दौरान कोरोना का हवाला देते हुए हाजिरी माफी मांगी थी, जिसे कोर्ट ने स्वीकार कर लिया था। 

Salman Khan Blackbuck Poaching Case Updates - Filmibeat

ये है पूरा मामला : 
1998 में काला हिरण शिकार मामले में सलमान खान और अन्य के खिलाफ शिकार के कुल तीन केस दर्ज हैं। इसके अलावा आर्म्स एक्ट का भी एक केस दर्ज किया गया था। सलमान के खिलाफ हिरण शिकार का मामला विश्नोई समुदाय की तरफ से दर्ज कराया गया था। इसके बाद सलमान खान को हिरण शिकार और आर्म्स एक्ट में 12 अक्टूबर 1998 में गिरफ्तार किया गया था। इसके पांच दिन बाद वे जमानत पर रिहा हुए थे। वहीं भवाद में हिरण शिकार के एक मामले में 17 फरवरी 2006 को सलमान दोषी करार दिए गए थे। घोड़ा फार्म हाउस क्षेत्र में शिकार मामले में 10 अप्रैल 2006 को कोर्ट ने सलमान को दोषी मानते हुए पांच साल की सजा और 25 हजार का जुर्माना लगाया था। इन दोनों मामलों में सलमान को हाईकोर्ट से राहत मिल गई। राज्य सरकार ने इस फैसले को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी है। 

Salman Khan Appears Before The Jodhpur High Court In Connection With The  Arms Act Case. - Filmibeat